--Advertisement--

इलेक्ट्रिक कार : भोपाल-इंदौर-उज्जैन के बीच बनाए जाएंगे 100 चार्जिंग स्टेशन

राजधानी में जल्द ही बिजली से चलने वाली कारें दौड़ती नजर आएंगी।

Danik Bhaskar | Jan 16, 2018, 04:51 AM IST

भोपाल. राजधानी में जल्द ही बिजली से चलने वाली कारें दौड़ती नजर आएंगी। धुआं रहित बिजली से चलने वाली इस कार पर प्रति किलोमीटर सिर्फ 1 रुपए का खर्च आता है, जो पेट्रोल इंजन कार की तुलना में प्रति किमी 5 रुपए कम है। बिजली से चलने वाले वाहनों को बढ़ावा देने के लिए मप्र ऊर्जा विकास निगम भोपाल के साथ ही भोपाल-इंदौर-उज्जैन के बीच राष्ट्रीय ई-मोबेलिटी मिशन के तहत 100 चार्जिंग स्टेशन बनाने की योजना तैयार कर रहा है। प्रस्ताव को जल्द ही केंद्र सरकार को भेजा जाएगा।

- शहरवासियों को ई-कार से परिचित कराने के लिए ऊर्जा विकास निगम अगले दो माह में डेमोस्ट्रेशन के लिए 5 ई-कार खरीदने जा रहा है, इसके लिए केंद्र की एनर्जी एफिशिएंट सर्विस लिमिटेड (ईईएसएल) से सहमति बन गई है।

- ईईएसएल ने टाटा मोटर्स से बल्क में ई-कार खरीदने का करार किया है। गौरतलब है कि टाटा मोटर्स ने दो माह पूर्व अक्टूबर में टाइगर-ईवी नाम से 10 लाख 16 हजार रुपए में लग्जरी ई-कार लॉन्च की है।

- ईईएसएल अब तक ऐसी 500 कार खरीद चुका है, जिनका संचालन केंद्र के कुछ विभागों में सरकारी वाहन के तौर पर किया जा रहा है। निगम भोपाल को दूसरे शहरों के लिए डिमोस्ट्रेशन सेंटर के रूप में विकसित करने की योजना पर काम कर रहा है, साथ ही एक क्लस्टर डेवलप करने की भी योजना है, ताकि प्रदूषण रोकने के साथ ही पेट्रोलियम तेलों के आयात पर होने वाले खर्च को कम से कम किया जा सके।

ई-मोबेलिटी मिशन... ईईएसएल ने खरीदी 10 हजार ई-कारें, मप्र को मिलेंगी पांच

- केंद्र सरकार की एनर्जी एफिशिएंसी सर्विस लिमिटेड ने पिछले माह 10 हजार ई-कॉमर्शियल व्हीकल खरीदने के लिए टेंडर जारी किया है।

- यह ई-व्हीकल केंद्र सरकार के विभिन्न विभागों में इस्तेमाल किए जाएंगे। इसके अलावा इच्छुक राज्य सरकारों को डेमोस्ट्रेशन के लिए इसमें से कुछ वाहन दिए जाएंगे।

- मप्र ऊर्जा विकास निगम ने 5 वाहनों के लिए ईईएसएल को ऑर्डर दिया है। मार्च तक यह 5 कारें भोपाल आ जाएंगी।

- इनके आने के साथ ही लिंक रोड नंबर-2 स्थित ऊर्जा विकास निगम दफ्तर परिसर में प्रदेश का पहला ई-कार चार्जिंग स्टेशन भी स्थापित हो जाएगा।

सबसे पहले... नागपुर में बना चार्जिंग स्टेशन

- देश में सबसे पहला चार्जिंग स्टेशन 19 नवंबर 2017 को नागपुर में बनाया गया है।

80 हजार रुपए एक ई-चार्जिंग स्टेशन की लागत
- एक ई-चार्जिंग स्टेशन की लागत 80 हजार रुपए है। कारों में लिथिअम आयन बैटरी इस्तेमाल होती है, जो एसी करेंट (अल्टरनेटिव करेंट) से चार्ज होती है।

सबसे पहले डिमोस्ट्रेशन मॉडल बनाएंगे
- ई-मोबेलिटी मिशन के लिए प्रदेश में इलेक्ट्रिक व्हीकल के सचंरना के लिए बुनियादी इंफ्रास्ट्रक्चर तैयार किया जाना हैं। ई-मोबोलिटी को बढ़ावा देने के लिए हम सबसे पहले एक डिमोस्ट्रेशन मॉडल बनाने जा रहे हैं। ईईएसएल के जरिए 5 इलेक्ट्रिक कारें खरीद रहे हैं। इनकी चार्जिंग के लिए निगम मुख्यालय परिसर में एक चार्जिंग स्टेशन स्थापित किया जाएगा।
- मनु श्रीवास्तव, एमडी
ऊर्जा विकास निगम, मप्र