विज्ञापन

यहां बना प्रदेश की तीसरी सबसे ऊंची मंत्री, सीएम शिवराज करेंगे लोकार्पण

Dainik Bhaskar

Feb 13, 2018, 05:12 AM IST

प्रदेश की तीसरी सबसे ऊंची शिव प्रतिमा ♦(71 फीट) का लोकार्पण 14 फरवरी (महाशिवरात्रि) को सीएम शिवराज सिंह चौहान करेंगे।

CM Shivraj Maharaj, third highest minister made here
  • comment

सिवनी मालवा. प्रदेश की तीसरी सबसे ऊंची शिव प्रतिमा ♦(71 फीट) का लोकार्पण 14 फरवरी (महाशिवरात्रि) को सीएम शिवराज सिंह चौहान करेंगे। यह प्रतिमा जनसहयोग से (70 लाख रुपए) बनकर तैयार है। सिवनीमालवा के आंवली घाट पर निर्माण दो साल पहले शुरू हुआ था। प्रदेश की सबसे ऊंची शिव प्रतिमा ओंकारेश्वर (82 फीट) और दूसरी प्रतिमा (71 फीट) सागर के खुरई में है। देश की सबसे ऊंची शिव प्रतिमा कर्नाटक के भटकल तालुक के गुरुदेश्वर मंदिर में (123 फीट) की है। बुरहानपुर में ताप्ती के किनारे भगवार शंकर की 151 फीट की प्रतिमा निर्माणाधीन है।

हर की पौड़ी की तरह है आंवली घाट

- हरिद्वार के हर की पौड़ी की तरह आंवली घाट को विकसित किया गया है। यहां नर्मदा की गहराई करीब 80 से 100 फीट है। श्रद्धालु गहरे पानी में ना जाएं इसलिए नदी के बहाव को नहर के जरिये मोड़ा है।

- एक समय में करीब 40 हजार से ज्यादा श्रद्धालु स्नान कर सकते हैं। घाट के ऊपर 2 बड़े बगीचे बनाए हैं। सबसे ऊपर विश्रामगृह है। इसमें 12 सर्वसुविधायुक्त कमरे, मीटिंग हाल, डायनिंग हाल एवं किचन है।

आंवली घाट का पौराणिक महत्व
- नर्मदा तट स्थित आंवली घाट का पौराणिक महत्व है। किंवदंती है पांडव अज्ञातवास के दौरान यहां आए थे। भीम ने नर्मदा से विवाह की इच्छा जाहिर की थी। तब नर्मदा ने शर्त रखी थी एक रात में वह उनका प्रवाह रोक दें।

- भीम ने शर्त पूरी करने के लिए नर्मदा में पहाड़ों के टुकड़े बिछाए, लेकिन यह बिछाते-बिछाते सुबह हो गई और शर्त पूरी नहीं हुई। नर्मदा में बड़े-बड़े पत्थर हैं। आम तौर पर नर्मदा में पत्थर कम ही मिलते हैं। यहां नर्मदा पत्थरों के बीच से बहती हैं। बारिश में यहां सुंदर दृश्य दिखता है।

X
CM Shivraj Maharaj, third highest minister made here
COMMENT
Astrology

Recommended

Click to listen..
विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें