भोपाल

--Advertisement--

​30 हजार में देने थे 70 हजार के नकली नोट, दो अरेस्ट, कलर प्रिंटर से छापे थे नोट

कलर प्रिंटर की मदद से 500 रुपए के नकली नोट छापने वाले दो आरोपियों को क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार किया है।

Dainik Bhaskar

Dec 03, 2017, 05:46 AM IST
color printers were printed from the note

भोपाल. कलर प्रिंटर की मदद से 500 रुपए के नकली नोट छापने वाले दो आरोपियों को क्राइम ब्रांच ने गिरफ्तार किया है। आठवीं और 12वीं पास आरोपी इससे पहले भी नोट छाप चुके हैं, लेकिन फिनिशिंग ठीक न होने के कारण उन्हें बाजार में खपा नहीं पाए। पुलिस ने उनके कब्जे से कलर प्रिंटर, स्कैनर, पेपर कटर और 70 हजार के नकली नोट जब्त किए हैं।

एएसपी रश्मि मिश्रा के मुताबिक पिपलानी में दो संदिग्धों के पास नकली नोट रखे होने की सूचना मिली थी। टीम ने दोनों की तलाशी ली तो उनके पास से 500 के 140 नोट मिले। आरोपियों में रायसेन निवासी 25 वर्षीय सोनू राय और सोनू कुशवाहा शामिल हैं। इनमें सोनू राय 12वीं पास है, जबकि सोनू कुशवाहा ने आठवीं के बाद पढ़ाई छोड़ दी थी।

नकली नोट मिला तो छापने भी लगे
- सोनू राय इससे पहले आधार कार्ड बनाने का काम करता था। इस दौरान एक युवक ने उसे नकली नोट दे दिया। ये बात तब पता चली, जब उसने उक्त नोट दूसरे को दिया।

- इसके बाद उसने नकली नोट छापने का प्लान बनाया। इसके लिए उसने कागज, कलर, पेपर कटर, स्कैनर समेत दूसरे जरूरी उपकरण खरीद लिए।

- चाय का ठेला लगाने वाले अपने दोस्त सोनू कुशवाहा को साथ मिलाया और काम शुरू कर दिया।

पहले भी छापे नोट, पर नहीं हुए कामयाब
- आरोपियों ने बताया कि उनका भोपाल निवासी एक युवक से सौदा हुआ था। 70 हजार के बदले उन्हें असल 30 हजार रुपए मिलते।

- इसके पहले एक बार उन्होंने नकली नोट छापे थे, लेकिन सही फिनिशिंग न हो पाने के कारण कामयाब नहीं हो सके।

500 के सात नोटों से बनाए थे 70 हजार
- आरोपियों से जब्त हुए नकली नोट पांच सौ रुपए के सात असल नोट से स्कैन कर तैयार किए गए हैं।

- सोनू राय ने बताया कि उस पर डेढ़ लाख रुपए का कर्ज था। पैसा नहीं लौटा पाने के कारण उसने इस धंधे में हाथ आजमाने की बात पुलिस को बताई है।

X
color printers were printed from the note
Click to listen..