--Advertisement--

संविदा शिक्षक ही जांच कमेटी के सामने पेश, इनमें से 10 के दस्तावेज में गड़बड़ी

संविदा शाला शिक्षक भर्ती में हुए फर्जीवाड़े में शक के दायरे में आए शिक्षक जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं।

Dainik Bhaskar

Dec 29, 2017, 07:40 AM IST
Contractual teachers present in front of the inquiry committee

भिंड (ग्वालियर) . संविदा शाला शिक्षक भर्ती में हुए फर्जीवाड़े में शक के दायरे में आए शिक्षक जांच में सहयोग नहीं कर रहे हैं। चौथी बार भी अवसर दिए जाने के बाद 43 में से 22 शिक्षकों ने अपने दस्तावेज जांच के लिए कमेटी को नहीं दिए हैं, जिससे इन शिक्षकों पर एकतरफा कार्रवाई हो सकती है। वर्ष 2006, 2009 और 2011 में हुई संविदा शाला शिक्षक भर्ती में गड़बड़ियों को लेकर ग्वालियर हाईकोर्ट में जनहित याचिका दायर है। इसका जवाब देने के लिए इन तीन वर्षों के 73 शिक्षकों का रिकार्ड जनपद पंचायतों में नहीं मिला। ऐसे में जिला प्रशासन इन शिक्षकों से उनके मूल दस्तावेज मांगे हैं।

- तीन बार अवसर दिए जाने के बाद सिर्फ 30 शिक्षकों ने ही अपने मूल दस्तावेज जांच के लिए जांच कमेटी को दिए थे। ऐसे में गुरूवार को शेष बचे 43 शिक्षकों के दस्तावेज जमा करने के लिए अंतिम अवसर दिया गया था। लेकिन अंतिम अवसर पर भी 43 में से सिर्फ 21 शिक्षकों ने अपने मूल दस्तावेज जमा किए हैं। साथ ही 22 शिक्षक इस प्रक्रिया से पूरी तरह से दूर रहे हैं। ऐसे में इन शिक्षकों पर एक तरफा कार्रवाई की जा सकती है। हालांकि इस संबंध में डीईओ एसएन तिवारी का कहना है कि यह मौका तो अंतिम था। लेकिन अब इन पर कार्रवाई क्या करना है यह जिला पंचायत सीईओ तय करेंगी।

यह शिक्षक नियुक्ति स्थल से हैं गायब
- यहां बता दें कि गुरुवार को अपने दस्तावेज जमा न कराने वाले भिंड ब्लॉक के 12 शिक्षक पिछले कई दिनों से नियुक्ति स्थल से ही गायब हो गए हैं। इनमें प्राथमिक स्कूल मोतीपुरा के वर्ग तीन शिक्षक रमेश सिंह, प्राथमिक स्कूल सांकरी के शिक्षक वर्ग तीन शिवचरण, प्राथमिक स्कूल कालपुरा की वर्ग तीन शिक्षक प्रीती मिश्रा, प्राथमिक स्कूल बेहड़ की जमेह के वर्ग तीन शिक्षक सुधीर सिंह, प्राथमिक स्कूल फुले के पवन गुप्ता, नयागांव के शिक्षक शैलेंद्र सिंह, प्राथमिक स्कूल टोला के वर्ग तीन शिक्षक मधु चौहान, प्राथमिक स्कूल उदयपुरा के शिक्षक महेंद्रप्रताप सिंह, प्राथमिक स्कूल बैजनाथ का पुरा के शिक्षक दिलीप सिंह, प्राथमिक स्कूल बघपुरा के शिक्षक शिवसिंह, प्राथमिक स्कूल ज्ञानपुरा की शिक्षक किरण शामिल हैं।

आठ से दस शिक्षकों के दस्तावेज में गड़बड़ी
- यहां बता दें कि गुरुवार को जिन 21 शिक्षकों द्वारा अपने मूल दस्तावेज जमा कराए गए हैं, उनमें से आठ से 10 शिक्षकों के दस्तावेज संदिग्ध मिले हैं। बताया जा रहा है कि व्यापमं सहित बीएड की अंकसूचियों में गड़बड़ी है।

- हालांकि इन दस्तावेजों को परीक्षण के लिए जांच कमेटी के समक्ष रखा जाएगा। साथ ही अभी तक जो व्यापमं अंकसूचियों का सत्यापन कराया गया है, उनमें किसी अन्य के अनुक्रमांक पर किसी अन्य नाम के अंक चढ़े हुए निकले हैं।

यह शिक्षक नहीं हुए उपस्थित
- गोहद ब्लॉक में शासकीय माध्यमिक विद्यालय खैरोली में पदस्थ संविदा शाला शिक्षक वर्ग दो प्रभा गौतम, माध्यमिक विद्यालय खेरपुर के शिक्षक वर्ग दो दिलीप सिंह, प्राथमिक स्कूल के शिक्षक वर्ग तीन बंगाली सिंह, प्राथमिक स्कूल डिरमन के शिक्षक वर्ग तीन फूल सिंह, प्राथमिक स्कूल जलपुरा के शिक्षक वर्ग तीन शशीकांत, मेहगांव ब्लॉक के माध्यमिक स्कूल जिठासों के शिक्षक वर्ग दो आशुतोष मिश्रा सहित भिंड ब्लॉक के 12 शिक्षक शामिल हैं, जिन्होंने अपने दस्तावेज जमा नहीं कराए हैं।

दस्तावेज जमा करने कब-कब दिए अवसर
प्रथम अवसर 9 सितंबर 2017
द्वितीय अवसर 3 अक्टूबर 2017
तृतीय अवसर 13 दिसंबर 2017
चौथा अवसर 23 दिसंबर 2017
अंकसूची में रोल नंबर किसी का अंक किसी और के
बताया जा रहा है कि गुरूवार को जिन संविदा शाला शिक्षकों ने अपने मूल दस्तावेज जमा कराएंगे हैं। उन्हें सत्यापन के लिए संबंधित बोर्ड को भेजा जाएगा। साथ ही इनकी व्यापमं की अंकसूचियों का सत्यापन भी कराया जाएगा। देखने में ऐसा आया है कि व्यापमं की अंकसूची में किसी अन्य के रोल नंबर पर किसी अन्य आवेदक के प्राप्तांक मिले हैं एेसे में आवेदक की मार्कशीट में गड़बड़ी होने की पूरी-पूरी संभावना है।
X
Contractual teachers present in front of the inquiry committee
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..