भोपाल

--Advertisement--

कोर्ट के सामने महिला और पुरुष की शादी, कहा- हमने एक-दूसरे को अपना लिया है

शादी करने वाली महिला के पति अौर पुरुष की पत्नी की हो चुकी है मौत।

Danik Bhaskar

Jan 23, 2018, 08:46 AM IST
महिला ने भी पति से वादा किया कि वह उसके बच्चों की परवरिश करेगी महिला ने भी पति से वादा किया कि वह उसके बच्चों की परवरिश करेगी

गुना(मध्यप्रदेश). कोर्ट परिसर में स्थित मंदिर में एक महिला और पुरुष ने बड़े ही सादगी भरे अंदाज में शादी की। हालांकि वे दोनों वकील के पास शादी का अनुबंध पत्र लिखवाने गए थे, लेकिन औपचारिकताओं को देखते हुए वे सीधे कोर्ट के सामने ही स्थित मंदिर में एक दूजे को हो गए। महिला और उसके पति ने कहा कि हमारी शादी के गवाह मंदिर और कोर्ट हैं। इससे बड़ा प्रमाण क्या हो सकता है कि हमने एक दूसरे का अपनाया है।

कहा- हमने एक दूसरे को अपना लिया है

- सोमवार दोपहर उज्जैन निवासी राजेंद्र सिंह और गुना निवासी राजकुमारी ने विवाह किया। इसके गवाह राजेंद्र के दो बच्चे और वहां मौजूद लोग बने। हालांकि, राजेंद्र और उनकी पत्नी का कहना था कि मंदिर और न्याय का दरवाजा एक दूसरे के सामने हैं। इससे बड़ा गवाह हमारे लिए कोई नहीं हो सकता है। हमने एक दूसरे को अपना लिया है।

- पुरुष ने सिंदूर से महिला की मांग भरी और दोनों ने एक दूसरे को माला पहना दी। कोर्ट परिसर में मौजूद पक्षकार एवं वकीलों ने भी इस सादगी भरी शादी को देखा। इसके बाद दोनों ऑटो में बैठकर चले गए।

महिला के पति, पुरुष की पत्नी की हो चुकी है मौत

राजेंद्र उज्जैन में बिजली विभाग में कार्यरत है। एक साल पहले गुना निवासी महिला के संपर्क में वह आए। दोनों ने परिवार को अपने रिश्ते के बारे में बताया। फिर क्या था कि दोनों राजी हो गए। राजेंद्र की पत्नी की 1 जून 2013 में पत्नी की मौत हो चुकी थी। वही महिला राजकुमार के पति का वर्ष 2005 में देहांत हो गया था। इस वजह से दोनों को एक साथी की जरूरत थी।

कागजों की औपचारिकता से बचने कोर्ट-मंदिर के सामने की शादी। कागजों की औपचारिकता से बचने कोर्ट-मंदिर के सामने की शादी।
Click to listen..