Hindi News »Madhya Pradesh »Bhopal »News» Dogs Taken Innocent From Home By Dragging

मासूम को घसीटते हुए घर से ले गए कुत्ते, चश्मदीद ने बताई पूरी घटना

पीजीबीटी कॉलेज के पास धार वाली बस्ती में आवारा कुत्तों ने डेढ़ साल के मासूम की जान ले ली।

Bhaskar News | Last Modified - Feb 02, 2018, 01:14 AM IST

  • मासूम को घसीटते हुए घर से ले गए कुत्ते, चश्मदीद ने बताई पूरी घटना
    +4और स्लाइड देखें
    आवारा कुत्तों ने डेढ़ साल के मासूम की जान ले ली।

    भोपाल.पीजीबीटी कॉलेज के पास धार वाली बस्ती में आवारा कुत्तों ने डेढ़ साल के मासूम की जान ले ली। मासूम की गर्दन पकड़कर एक कुत्ता उसे कुछ दूर घसीट ले गया, यहां 4-5 कुत्तों ने मिलकर उसे नोंच दिया। गुरुवार सुबह हुई घटना के वक्त बच्चा दूध पीकर घर से बाहर खेलने निकला था। इस घटना के बाद परिवार गमगीन है तो रहवासियों में नगर निगम के खिलाफ गुस्सा है। खून से लथपथ था मासूम, पड़ोसी ने आकर दी जानकारी...

    - मासूम रजा के दादा शेख अब्बास के मुताबिक कुछ देर बाद एक पड़ोसी ने बताया कि रजा का खून से लथपथ शरीर घर के पीछे नाले के पास पड़ा है। हम दौड़कर पहुंचे तो देखा कि कुत्ते घर के इकलौते बेटे का शरीर नोच रहे थे।

    - उसके चेहरे, छाती, पैर, हाथ, सिर हर जगह कुत्तों के दांत के निशान नजर आ रहे थे। लगा कि उसमें अभी जान बची है, इसलिए लेकर अस्पताल दौड़े। लेकिन तब तक बच्चे की मौत हो चुकी थी।

    क्या है मामला...

    दरअसल, पीजीबीटी कॉलेज के पास धार वाली बस्ती में शेख इमरान पत्नी तनुजा, चार साल की बेटी सना और डेढ़ साल के बेटे रजा के साथ रहते हैं।

    - पेशे से मजदूर इमरान रोज की तरह गुरुवार सुबह भी अपने काम पर जाने की तैयारी में थे। करीब सवा सात बजे रजा को मां ने दूध पिलाया।

    - इसके बाद वह घर के बाहर खेलने लगा। पड़ोसी मोहम्मद शाहरुख ने बताया कि करीब 15 मिनट बाद एक आवारा कुत्ता आया और रजा की गर्दन पकड़कर उसे घसीट ले गया।

    - कुछ दूर पर दूसरे कुत्ते भी आ गए और मासूम को नोंचने लगे। वह चीखता रहा, बिलखता रहा, लेकिन उस वक्त उसकी मदद के लिए कोई नहीं पहुंच सका।

    - उसकी चीख सुनकर मोहल्ले के लोगों की नजर पड़ी तो उन्होंने कुत्तों को भगाया।

    - इलाके के रहनेवाले माे. इरशाद ने बताया कि इससे पहले भी आवारा कुत्तों ने कई राहगीरों और बच्चों पर हमले किए हैं।

    - निगम से इसकी कई मर्तबा शिकायत भी की गई, लेकिन कोई दिलचस्पी नहीं दिखाई।

    - गुरुवार को हुई घटना के बाद निगम का अमला इलाके में कुत्तों को पकड़ने की कार्रवाई करता रहा।

    निगम की लापरवाही...
    - पिछले दिनों में शहर के हर इलाके में आवार कुत्तों की संख्या बढ़ी है। आवारा कुत्ते की संख्या को काबू करने के लिए जहांगीराबाद स्थित पशु आसरा स्थल में इनकी नसबंदी की जाती है। लेकिन, पिछले एक महीने से आवारा कुत्तों की नसबंदी की रफ्तार थम गई है। इसकी वजह नगर निगम की ओर से समय पर दवाई की सप्लाई नहीं करना है। नगर निगम के पशु चिकित्सक डॉ. एसपी श्रीवास्तव का कहना है कि दवाइयों की खरीदी के लिए टेंडर हो चुका है। 15-20 दिन में दवाइयां पहुंच जाएंगी।

  • मासूम को घसीटते हुए घर से ले गए कुत्ते, चश्मदीद ने बताई पूरी घटना
    +4और स्लाइड देखें
    मासूम की गर्दन पकड़कर एक कुत्ता उसे कुछ दूर घसीट ले गया, यहां 4-5 कुत्तों ने मिलकर उसे नोंच दिया।
  • मासूम को घसीटते हुए घर से ले गए कुत्ते, चश्मदीद ने बताई पूरी घटना
    +4और स्लाइड देखें
    हादसों के लोगों ने सड़को पर प्रदर्शन किया।
  • मासूम को घसीटते हुए घर से ले गए कुत्ते, चश्मदीद ने बताई पूरी घटना
    +4और स्लाइड देखें
    हॉस्पिटल के बाहर मृतक मासूम के परिजन।
  • मासूम को घसीटते हुए घर से ले गए कुत्ते, चश्मदीद ने बताई पूरी घटना
    +4और स्लाइड देखें
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×