--Advertisement--

दिव्यांग 15 फीट दीवार फांद गया था स्विमिंग पूल में नहाने, फिर ऐसे हो गई मौत

हादसा या लापरवाही- कलेक्टर ने हॉस्टल वार्डन व रसोइए को किया सस्पेंड।

Dainik Bhaskar

Mar 04, 2018, 02:36 AM IST
इसी दीवार को फांदकर तरण पुष्कर में नहाने के लिए घुसे थे छात्र। इनसेट में मृतक का फाइल फोटो। इसी दीवार को फांदकर तरण पुष्कर में नहाने के लिए घुसे थे छात्र। इनसेट में मृतक का फाइल फोटो।

भोपाल. शाहजहांनाबाद स्थित संजय तरण पुष्कर में शुक्रवार को नहाते समय डूबने से एक मूक-बधिर स्टूडेंट की मौत हो गई। वह होली खेलने के बाद दोस्तों के साथ 15 फीट की दीवार फांदकर नहाने के लिए अंदर पहुंचा था। दोस्त उसे पानी से निकालकर हमीदिया लेकर पहुंचे, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। घटना के बाद सामाजिक न्याय विभाग की रिपोर्ट पर कलेक्टर ने वार्डन और रसोईया को सस्पेंड कर दिया है। ये था मामला...


- 18 वर्षीय सोहनलाल चढ़ार टीकमगढ़ का रहने वाला था। वह ईदगाह हिल्स स्थित मूक-बधिर स्कूल में सातवीं कक्षा में पढ़ता था।

- 2008 में उसका यहां एडमिशन हुआ था। पिता कमलेश कुमार का पहले ही निधन हो चुका है।

- पुलिस के मुताबिक शुक्रवार दोपहर 2 बजे सोहनलाल दोस्तों के साथ होली खेलने के बाद तरण पुष्कर की दीवार फांदकर नहाने के लिए पहुंचा था जिससे डूबने से उसकी मौत हो गई।

- संजय तरण पुष्कर के गेट का ताला तोड़कर सोहनलाल को बाहर निकालकर हमीदिया हॉस्पिटल ले जाया गया था।

15 फीट ऊंची दीवार फांदकर घुसते हैं लोग

- पुलिस के मुताबिक तरण पुष्कर के पीछे वाले हिस्से में 15 फीट की दीवार है।

- इस दीवार को एक कोने का सहारा लेकर अंदर आसानी से जा सकते हैं। इसी कारण मोहल्ले के कुछ अन्य बच्चे भी अंदर नहा रहे थे।

- मूक-बधिर स्टूडेंट भी दीवार फांदकर अंदर चले गए। जब वह डूबने लगा, तो नहा रहे अन्य बच्चों ने इसकी जानकारी हाॅस्टल में दी।

- चौकीदार ने इसकी सूचना वार्डन व पुलिस को दी।

होली के दिन गायब थे जिम्मेदार

- हाॅस्टल में 64 मूक-बधिर और दृष्टिबाधित स्टूडेंट रहते हैं। घटना के दिन यहां पर 40 स्टूडेंट मौजूद थे।

- बच्चों के देखरेख की जिम्मेदारी संभालने वाली हॉस्टल अधीक्षिका प्रभा सोमवंशी और वार्डन प्रमोद मिश्रा दोनों गायब थे, जबकि दोनों की ड्यूटी यहां पर 24 घंटे के लिए होती है।

- 40 बच्चों की जिम्मेदारी होली के दिन रसोइया किशनलाल रैकवार के भरोसे छोड़ रखी थी। चौकीदार का काम भी उसी के भरोसे था।

इस दीवार को कूदकर कई लोग नहाने गए थे। इस दीवार को कूदकर कई लोग नहाने गए थे।
इस हॉस्टल में था स्टूडेंट। इस हॉस्टल में था स्टूडेंट।
हादसे के बाद गेट पर ताला लगा दिया था। हादसे के बाद गेट पर ताला लगा दिया था।
X
इसी दीवार को फांदकर तरण पुष्कर में नहाने के लिए घुसे थे छात्र। इनसेट में मृतक का फाइल फोटो।इसी दीवार को फांदकर तरण पुष्कर में नहाने के लिए घुसे थे छात्र। इनसेट में मृतक का फाइल फोटो।
इस दीवार को कूदकर कई लोग नहाने गए थे।इस दीवार को कूदकर कई लोग नहाने गए थे।
इस हॉस्टल में था स्टूडेंट।इस हॉस्टल में था स्टूडेंट।
हादसे के बाद गेट पर ताला लगा दिया था।हादसे के बाद गेट पर ताला लगा दिया था।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..