--Advertisement--

​डंपर का टायर निकलकर पीछे आ रहे डंपर से टकराया, पलटने से ड्राइवर की मौत

नगर में एनएच-12 पर तेज रफ्तार एक डंपर वाहन का पहिया निकलने से हादसा हो गया।

Danik Bhaskar | Dec 21, 2017, 06:50 AM IST

मंडीदीप (भोपाल). नगर में एनएच-12 पर तेज रफ्तार एक डंपर वाहन का पहिया निकलने से हादसा हो गया। इस डंपर का पहिया निकलकर इसके पीछे से आ रहे दूसरे डंपर से तेजी के साथ टकराया। इससे पीछे आ रहा डंपर अनियंत्रित होकर पलट गया। इसमें दबकर चालक की घटना स्थल पर ही मौत हो गई। घटना मंगलवार-बुधवार की दरमियानी रात दो बजे की है। पुलिस ने मर्ग कायम कर विवेचना में ले लिया है।

- मंडीदीप पुलिस के अनुसार बाबई (होशंगाबाद) निवासी 23 वर्षीय सतीश पुत्र नवाब सिंह राजपूत डंपर लेकर भोपाल जा रहा था। तभी औद्योगिक क्षेत्र में जिलेटिन चौराहे के पास आगे चल रहे डंपर का अचानक पहिया निकल गया, जो सतीश के डंपर से टकराया। अचानक पहिया टकराने से सतीश को संभलने का मौका ही नहीं मिला और वह स्टेयरिंग पर अपना नियंत्रण खो बैठा। इस तरह डंपर अनियंत्रित होकर पलट गया।

- इसमें डंपर के नीचे दबने से सतीश की मौत हो गई। मृतक चालक सतीश अकेला ही था या उसके साथ सहायक क्लीनर भी था। फिलहाल पुलिस को इसकी जानकारी नहीं मिल सकी है। वहीं, इस हादसे को अंजाम देने वाला डंपर चालक सुरक्षित बच निकला। वह वाहन को छोड़कर भाग गया। पुलिस उसकी तलाश में है। इधर, पुलिस ने मृतक ड्राइवर का नगर के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में पोस्टमार्टम कराने के बाद शव परिजनों को सौंप दिया।

प्रशासन की लापरवाही का नतीजा, फिर अतिक्रमण की चपेट में हाइवे

- नगर को व्यवस्थित करने के लिए प्रशासन ने तीन साल पहले जो पहल की, वह अनदेखी से ही धराशाई हो गई। हाइवे 12 की थ्री लेन रोड सड़क एक बार फिर सिकुड़ गई। जगह-जगह ट्रक, बस एवं ऑटो सहित अन्य वाहनों ने डेरा जमा लिया। इससे यहां से गुजरने वाले अन्य वाहन चालक भी न केवल इनसे जाम में फंसते हैं, बल्कि ये उनके लिए जानलेवा साबित हो रहे हैं।

- तीन साल पहले एसडीएम राजेश श्रीवास्तव ने यहां अतिक्रमण के अलावा अवैध पार्किंग को हटवाया था। इससे नगर व राहगीरों को कुछ समय के लिए बड़ी राहत मिली थी। इससे ट्रैफिक जाम के साथ ही हादसों में भी कमी आई थी, लेकिन प्रशासन के नरम पड़ते ही दोबारा हाइवे को अवैध पार्किंग स्पॉट बना दिया। बीते 15 दिन में यहां 12 हादसे हो चुके हैं, जिनमें 8 की मौत हो चुकी है।

नपा और पुलिस का इस ओर नहीं है ध्यान
- प्रशासन ने अतिक्रमण हटाओ अभियान के बाद दोबारा अतिक्रमण न हो, इसकी जिम्मेदारी संबंधित थाने के साथ स्थानीय नपा प्रशासन को दी थी। लेकिन आज तक पुलिस ने यहां अवैध रुप से पार्किंग करने वालों पर कार्रवाई नहीं की। इस ओर से नपा भी उदासीन रवैया अपनाए हुए है। स्पष्ट है कि पुलिस की सहमति पर ही यहां अवैध पार्किंग का धंधा चल रहा है।

कार्रवाई के लिए कहा है
- अतिक्रमण दोबारा न हो, इसके लिए दोनों थाने के साथ नपा सीएमओ को टीम बनाकर कार्रवाई करने के लिए कहा गया है।'