Hindi News »Madhya Pradesh »Bhopal »News» Election Year, Shivraj Opened The Treasure For The Farmers

चुनावी साल में शिवराज ने किसानों के लिए खोला खजाना, खरीदेंगे 2000रु. क्विंटल में गेहूं

चुनावी साल में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किसानों के लिए खजाना खोल दिया है।

Bhaskar News | Last Modified - Feb 13, 2018, 04:43 AM IST

चुनावी साल में शिवराज ने किसानों के लिए खोला खजाना, खरीदेंगे 2000रु. क्विंटल में  गेहूं

भोपाल.चुनावी साल में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने किसानों के लिए खजाना खोल दिया है। सोमवार को जम्बूरी मैदान में प्रदेश भर से आए किसानों को संबोधित करते हुए सीएम ने कहा कि प्रदेश का किसान कर्जमाफी या खैरात नहीं चाहता। उसे पसीने की कमाई चाहिए। इसलिए उपज का पूरा मूल्य मुख्यमंत्री कृषि उत्पादकता प्रोत्साहन योजना से दिया जाएगा।

- इस योजना के तहत गेहूं और धान पर समर्थन मूल्य के अतिरिक्त 200 रुपए प्रति क्विंटल प्रोत्साहन राशि दी जाएगी। गेहूं की खरीदी 2000 रुपए प्रतिक्विंटल से कम में नहीं होगी। भावांतर योजना जारी रहेगी। ओलावृष्टि से हुए नुकसान की भरपाई राहत और फसल बीमा राशि को मिलाकर की जाएगी।
- इस दौरान किसानों को भावांतर राशि के प्रमाण पत्र वितरित किए गए। 3 लाख 98 हजार किसानों को 620 करोड़ की राशि ऑनलाइन ट्रांसफर की गई। डिफॉल्टर किसानों का 2600 करोड़ ब्याज भी सरकार भरेगी।

बजट के पहले चुनावी घोषणाएं... किसानों पर 3620 करोड़ खर्च होंगे

घोषणा

- 2017 में खरीदे गेहूं, चावल पर 200 रु/क्विंटल प्रोत्साहन राशि दी जाएगी।

... अौर इसके मायने

- सरकार पर 1670 करोड़ रुपए का अतिरिक्त भार आएगा। गेहूं पर 1340 करोड़ रुपए और धान का 330 करोड़ रुपए का अतिरिक्त खर्च आएगा।

इस साल 2000 रुपए प्रति क्विंटल से कम में गेहूं की खरीदी नहीं की जाएगी।

- गेहूं का समर्थन मूल्य 1735 रु. है, इसमें बकाया 265 रु. की राशि सरकार मिलाएगी। यानी खाते में 265 रु. ज्यादा आएंगे। धान खरीदी में भी यही प्रक्रिया रहेगी।

डिफाल्टर किसानों को शून्य प्रतिशत ब्याज पर कर्ज मिलेगा।

- प्रदेश में 17. 50 लाख डिफाल्टर किसान हैं। इनके ब्याज की 2600 करोड़ की राशि प्रदेश सरकार भरेगी। किसानों को दो किस्त में मूलधन जमा करना होगा।

भावांतर योजना में चार महीने अधिकृत वेयरहाउस भंडारण की सुविधा।

- वेयरहाउस में रखी उपज के मूल्य की 25 प्रतिशत राशि किसान कर्ज ले सकेगा। उसे इसका ब्याज नहीं देना होगा। यह भुगतान सरकार करेगी।

3620 करोड़ का गणित...

पिछले साल...

- 67.25 लाख मी.टन गेहूं की खरीदी पर 200 रु. प्रोत्साहन राशि 1340 करोड़

- 16.59 लाख मी.टन धान की खरीदी पर 200 रु. प्रोत्साहन राशि 330 करोड़

इस साल...

- 80 लाख मी.टन गेहूं की खरीदी पर प्रोत्साहन राशि के 1600 करोड़ रु. और 17.50 लाख मी.टन धान पर 350 करोड़ राज्य सरकार के लगेंगे

कुल

1340 + 330 + 1600 +350
3620 करोड़

ऐसे समझें शिवराज के वादों को

- इस वर्ष 80 लाख मीट्रिक टन गेहूं खरीदी का अनुमान है, समर्थन मूल्य पर 13,880 करोड़ खर्च होंगे।

- समर्थन मूल्य की राशि केन्द्र सरकार देती है, लेकिन राज्य सरकार इस साल 265 रु. क्विंटल किसानों को अपनी तरफ से देगी इसके बाद कुल राशि 15480 करोड़ रु. हो जाएगी।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×