--Advertisement--

शिवराज-सिंधिया में चुनावी जंग, एक ही जगह पर सभा, भीड़ के दावे अलग-अलग

शासकीय आयोजन था, लेकिन भाजपाई भी दावा कर रहे हैं कि सिंधिया की सभा से ज्यादा लोग इसमें थे।

Danik Bhaskar | Dec 27, 2017, 05:44 AM IST

भोपाल . मुंगावली और कोलारस विधानसभा सीट के उपचुनाव का कार्यक्रम भले ही जारी न हुआ हो, लेकिन इन दोनों सीटों को लेकर मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चौहान और पूर्व केंद्रीय ज्योतिरादित्य सिंधिया के बीच चुनावी जंग छिड़ गई है। मुंगावली (अशोक नगर) के जिस पिपरई में सिंधिया ने कुछ दिन पहले 17 दिसंबर को सभा की थी और जिसके लिए यह दावा भी किया गया था कि अब तक की सर्वाधिक भीड़ है। ठीक उसी जगह पर मंगलवार को मुख्यमंत्री चौहान ने किसान सम्मेलन किया। वैसे तो यह शासकीय आयोजन था, लेकिन भाजपाई भी दावा कर रहे हैं कि सिंधिया की सभा से ज्यादा लोग इसमें थे। इस चुनावी दावों के बीच अधिकारियों ने भीड़ को लेकर चुप्पी साध ली है।

- बहरहाल, मुख्यमंत्री चौहान ने सम्मेलन में सिंधिया पर हमला बोलते हुए कहा कि उन्होंने इस अंचल के विकास के लिए उनसे कभी कोई बात नहीं की। विकास इसलिए नहीं हुआ, क्योंकि यहां से सांसद और विधायक दोनों कांग्रेस के हैं।

- सिंधिया अक्सर कहते हैं कि मेरी लड़ाई शिवराज से है। कांग्रेस ने कभी किया धरा कुछ नहीं, बस शिवराज को गाली दो। मैं कभी किसी कांग्रेसी नेता का नाम तक नहीं लेता। मुख्यमंत्री ने यह भी कहा कि मैं सिर्फ कहकर नहीं जाता, इस बार विकास योजनाओं के आदेश लेकर आया हूं। बताया जा रहा है कि संभवत: पहली बार मुख्यमंत्री ने मंच से घोषणाओं के पूरा होने का आदेश भी दिखाया।
- यहां बता दें कि कोलारस और मुंगावली सिंधिया के गढ़ कहे जाते हैं। चूंकि यह चुनावी साल भी है, इसलिए भाजपा नहीं चाहती कि कोई कसर रहे। यदि उपचुनावों के परिणाम कांग्रेस के पक्ष में रहते हैं तो इसका असर आगामी चुनावों पर पड़ सकता है।

सरकारी मशीनरी से जुटाई भीड़ : कांग्रेस

- कांग्रेस ने मुंगावली विधानसभा के पिपरई में हुई मुख्यमंत्री की सभा को असफल बताया है। अशोकनगर जिला प्रशासन ने मुख्यमंत्री की सभा में भीड़ जुटाने के लिए पूरी मशीनरी झोंक दी।

- प्रदेश भर से बसों का अधिग्रहण किया गया। बावजूद इसके मुख्यमंत्री की सभा में सांसद सिंधिया की बीते दिनों हुई सभा के बराबर भी भीड़ नहीं आई। कांग्रेस प्रवक्ता पंकज चतुर्वेदी ने दावा किया कि सिंधिया की रैली में 50 हजार लोग थे, जबकि मुख्यमंत्री की सभा में इससे काफी कम भीड़ थी।

- उन्होंने कहा कि सीएम के आज हुए कार्यक्रम के लिए विदिशा, गुना, दतिया, सागर, भोपाल, रायसेन, शिवपुरी, ग्वालियर, मुरैना, भिंड श्योपुर से बसों का अधिग्रहण करने का आदेश आरटीओ द्वारा निकाला गया। चतुर्वेदी ने कहा कि भाजपा को सांसद सिंधिया की रैली का रिकाॅर्ड तोड़ने के लिए अब प्रदेश के बाहर से भीड़ लाने का प्रबंध करना पड़ेगा।