भोपाल

--Advertisement--

प्रॉपर्टी की रजिस्ट्री के लिए मार्च जैसी भीड़ सर्वर धीमा है और 9 घंटे में 658 रजिस्ट्री

शनिवार सुबह 10 बजे... आईएसबीटी और परी बाजार स्थित पंजीयन दफ्तर में रजिस्ट्री कराने वालों की खासी भीड़ है। वजह है- एक जनव

Dainik Bhaskar

Dec 31, 2017, 04:52 AM IST
For the registry of the property, March-like crowded server is slow

भोपाल . शनिवार सुबह 10 बजे... आईएसबीटी और परी बाजार स्थित पंजीयन दफ्तर में रजिस्ट्री कराने वालों की खासी भीड़ है। वजह है- एक जनवरी से नगर निगम सीमा में रजिस्ट्री पर लगने वाली ड्यूटी का 1 फीसदी बढ़ने की खबर। इससे रजिस्ट्री कराने में ज्यादा शुल्क देना होगा। प्रॉपर्टी के खरीदार पंजीयन दफ्तर के बाहर लाइन लगाकर खड़े हैं। शुक्रवार को लोगों का विरोध देखकर घबराए पंजीयन विभाग के अफसरों ने शनिवार को रजिस्ट्री के स्लॉट की संख्या को प्रति सब-रजिस्ट्रार 32 से बढ़ाकर 70 कर दिया। कुल 840 स्लॉट खोले गए थे। देर शाम 7 बजे तक करीब 658 ई रजिस्ट्री भोपाल में हुईं। दोनों पंजीयन दफ्तर में शाम सात बजे तक करीब 1500 लोग पहुंचे। इसमें रजिस्ट्री कराने वाले व्यक्ति के साथ-साथ विक्रेता और गवाह भी शामिल हैं।

बीडीए... लीज रिन्युवल कराने वालों ने ज्यादातर स्लॉट बुक किए
- पंजीयन विभाग के अफसरों का कहना है कि लोगों की रजिस्ट्री के लिए स्लॉट ओपन किए गए थे। लेकिन इसमें ज्यादातर बीडीए की लीज रिन्युवल कराने के लिए सब रजिस्ट्रारों ने बुक कर लिए थे। अफसरों ने इस बात आपत्ति भी ली। बीडीए के अफसरों को समझाया गया कि यह रजिस्ट्री बाद में भी हो सकती है।

इंतजार... 12 बजे स्लॉट बुक किया रजिस्ट्री हो पाई 2 बजे
- अशोका गार्डन निवासी अबरार खान ने बताया कि प्लॉट की रजिस्ट्री के लिए 12 बजे का स्लॉट लिया था। दो बजे तक उनकी रजिस्ट्री नहीं हो पाई। इसकी वजह शनिवार को लोड बढ़ने के कारण बार-बार सर्वर डाउन होना थी। प्रॉपर्टी के खरीदारों को रजिस्ट्री कराने के लिए आधा घंटे से लेकर दो घंटे तक इंतजार भी करना पड़ा।

सर्वर प्रॉब्लम... सहूलियत के लिए बढ़ाए स्लॉट
- सर्वर में स्वान कनेक्टिविटी में दिक्कत थी। इसे दुरुस्त कर लिया गया। दिसंबर में पहली बार इतनी भीड़ देखी है। लोगों की सहूलियत के लिए ही स्लॉट की संख्या बढ़ाई गई है।
मुकेश श्रीवास्तव, जिला पंजीयक आईएसबीटी3

रजिस्ट्री का शुल्क बढ़ेगा, लेकिन अभी तारीख तय नहीं
- जनवरी 2018 से शहरी क्षेत्र में रजिस्ट्री कराना 1% महंगा पड़ेगा। सरकार रजिस्ट्री का शुल्क 9.3% से बढ़ाकर 10.3% करने जा रही है। यह बढ़ोतरी शहरी प्रभार के रूप में की गई है। इससे सरकार को सालाना करीब 200 करोड़ रु. की अतिरिक्त आय होगी।

- इसका उपयोग अफोर्डेबल हाउस मेट्रो रेल प्रोजेक्ट के लिए लोन लेने में करने की योजना है। रजिस्ट्री शुल्क में वृद्धि अध्यादेश के माध्यम से लागू होगी। इसके लिए सीनियर अफसरों टीम को जिम्मेदारी सौपी गई है। अभी यह कब से लागू होगी। इसकी तारीख घोषित नहीं की गई है। उम्मीद है कि इस महीने के भीतर यह लागू कर दिया जाएगा।
जयंत मलैया, मंत्री वित्त विभाग

X
For the registry of the property, March-like crowded server is slow
Click to listen..