--Advertisement--

क्रिकेट ग्राउंड में लटकी मिली थी लड़की की लाश, अब PM रिपोर्ट में हुआ ये खुलासा

रेलवे ग्राउंड की क्रिकेट पिच पर 15 फीट ऊंचे पोल पर लड़की के फांसी लगाने वाले मामले में नया खुलासा हुआ है।

Danik Bhaskar | Dec 27, 2017, 12:29 AM IST
क्रिकेट पिच पर 15 फीट ऊंचे पोल पर लड़की लटकी मिली थी। क्रिकेट पिच पर 15 फीट ऊंचे पोल पर लड़की लटकी मिली थी।

भोपाल. राजधानी के रेलवे ग्राउंड की क्रिकेट पिच पर 15 फीट ऊंचे पोल पर लड़की के फांसी लगाने वाले मामले में नया खुलासा हुआ है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट में लड़की का प्रेग्नेंट होने की बात सामने आई है। हालांकि जीआरपी भोपाल ने इस मामले से जुड़ी कोई भी जानकारी देने से मना कर दिया है। पुलिस ने उसकी उम्र 23 साल बताई जबकि माहेर के रिकॉर्ड के अनुसार वह माइनर थी। क्या है मामला...

- लड़की सिद्दीगंज, इच्छावर की बताई जा रही है। वो पुणे के माहेर संस्था से भागी थी।

- पुलिस दो दिन बाद भी न तो लड़की के परिवार वालों का पता लगा पाई है और न ही मौत के कारणों का खुलासा हुआ है।

- जीआरपी भोपाल को सोमवार सुबह साढ़े 6 बजे रेलवे ग्राउंड की क्रिकेट पिच के 15 फीट ऊंचे पोल पर फांसी पर एक लड़की लटकी मिली थी।

- मौके से बरामद टूटे मोबाइल फोन से जीआरपी भोपाल को पुणे महाराष्ट्र की माहेर संस्था का नंबर मिला है।

- वहां से लड़की की पहचान सिद्धीगंज इच्छावर के रूप में हुई। बताया गया है कि, अक्टूबर 2017 में माहेर संस्था से लापता हो गई थी। उसकी वहां के लोकल थाने में गुमशुदगी दर्ज थी।

- उसके बाद से उसका कुछ पता नहीं चला। पुलिस की एक टीम अब सिद्धीगंज में लड़की के परिवारो वालों का पता लगाने की कोशिश कर रही है। हालांकि परिवार के बारे में पुलिस को ज्यादा जानकारी नहीं मिल पाई थी।

नेहरू नगर बालिका गृह से भेज दिया था

- माहेर संस्था की अध्यक्ष हीराबेगम उल्ला ने दैनिक भास्कर को बताया कि मृतका 3 जून 2016 में संस्था में आई थी।

- उसे उमरखवाड़ी शासकीय बालिका गृह ने दिया था। बच्ची ने उम्र 16 साल बताई थी। उसने कहा था कि माता-पिता नहीं है।

- स्कूल जाने की इच्छा जताने के बाद उन्होंने स्कूल में एडमिशन दिला दिया। वह बहुत जिद्दी थी।

- 7 फरवरी 2017 में संस्था से स्कूल जाने का कहकर गायब हो गई थी। हमने उसकी गुमशुदगी दर्ज कराई थी।

- इसके बाद 7 जुलाई को भोपाल से बालिका गृह नेहरू नगर की टीम बच्ची को लेकर हमारे पास आई। उन्होंने उसका मेडिकल कराया था।

- बच्ची को मुंबई चाइल्ड लाइन में पेश करवाया गया। उसकी इच्छा हमारे साथ रहने की थी इसलिए हमने उसे वापस रख लिया।

मैंने अभी पूरी रिपोर्ट नहीं पढ़ी
- टीआई जीआरपी हेमंत श्रीवास्तव के मुताबिक शार्ट पीएम में मौत फांसी लगाने से हुई है। जिससे यह सुसाइड का मामला है, लेकिन उन्होंने लड़की के प्रेग्नेंट होने के सवाल को टालते हुए कहा कि उन्होंने पूरी रिपोर्ट नहीं देखी है। यह तो वे सिर्फ डॉक्टरों से बातचीत के आधार पर बता रहे हैं।

लड़की का प्रेग्नेंट होने की बात सामने आई है। लड़की का प्रेग्नेंट होने की बात सामने आई है।
लड़की सिद्दीगंज, इच्छावर की बताई जा रही है। वो पुणे के माहेर संस्था से भागी थी। लड़की सिद्दीगंज, इच्छावर की बताई जा रही है। वो पुणे के माहेर संस्था से भागी थी।
मौके से बरामद टूटे मोबाइल फोन से जीआरपी भोपाल को पुणे महाराष्ट्र की माहेर संस्था का नंबर मिला है। मौके से बरामद टूटे मोबाइल फोन से जीआरपी भोपाल को पुणे महाराष्ट्र की माहेर संस्था का नंबर मिला है।
अक्टूबर 2017 में माहेर संस्था से लापता हो गई थी। अक्टूबर 2017 में माहेर संस्था से लापता हो गई थी।
7 फरवरी 2017 में संस्था से स्कूल जाने का कहकर गायब हो गई थी। हमने उसकी गुमशुदगी दर्ज कराई थी। 7 फरवरी 2017 में संस्था से स्कूल जाने का कहकर गायब हो गई थी। हमने उसकी गुमशुदगी दर्ज कराई थी।