भोपाल

--Advertisement--

मरीज ने कहा- गर्भाशय का ऑपरेशन कराना है, गवर्नर बाेंली- होम्योपैथिक दवाएं ले लो

राज्यपाल के दौरे के पहले ही रेडक्रॉस हॉस्पिटल की व्यवस्थाएं चकाचक।

Danik Bhaskar

Mar 08, 2018, 02:44 AM IST
एक मरीज का हाल जानतीं राज्यपाल एक मरीज का हाल जानतीं राज्यपाल

भोपाल. रेडक्रॉस हॉस्पिटल में बुधवार को बदली हुई तस्वीर नजर आई। वार्ड में नई चादरें बिछाईं गई थी। परिसर में सुबह से चार बार पोंछा लगाया गया। पास से गुजरने वाले नाले में एक दिन पहले कचरा साफ करा दिया गया। क्योंकि यहां राज्यपाल आनंदी बेन आ रहीं थीं। राज्यपाल ने यहां पर आते ही सबसे पहले अस्पताल से गुजरने वाले नाले की सेहत को देखा। उन्होंने अफसरों से पूछा कि ऐसा लग रहा है कि उनके आने से पहले ही सफाई की गई है तो अफसरों ने जवाब दिया कि हमेशा ऐसे ही सफाई करते हैं। राज्यपाल दोपहर 3:30 बजे हॉस्पिटल पहुंची। डेढ़ घंटे तक उन्होंने यहां की व्यवस्थाएं देखीं और मरीजों से चर्चा की।

महिलाओं से मिलकर गवर्नर ने सुनीं समस्याएं

जनरल वार्ड में गर्भाशय का ऑपरेशन कराने के लिए भर्ती 58 वर्षीय सभ्या सिंह से राज्यपाल ने पूछा कि क्या तकलीफ है? इस पर सभ्या सिंह ने कहा कि गर्भाशय का ऑपरेशन कराने के लिए यहां पर भर्ती किया गया। इस पर राज्यपाल ने सलाह दी कि आॅपरेशन कराने से अच्छा है होम्योपैथी दवाएं लेना। उन्होंने खुद का उदाहरण देते हुए बताया कि उनको भी यह दिक्कत हुई थी। इसके बाद उन्होंने होम्योपैथिक दवाएं ली। उससे समस्या का समाधान हो गया।

व्यवस्थाएं नहीं, लिहाजा कम हो रहे यहां पर मरीज
कई दिनों से रेडक्रॉस अस्पताल विवादों में है। तीन साल से यहां अध्यक्ष पद पर कोई नहीं है। इसलिए सुविधाओं में कमी आ रही है। ज्यादातर स्टाफ आउटसोर्स है, महंगी जांच और मशीनें यहां नदारद हैं। इसलिए मरीजों की संख्या में भी लगातार गिरावट आ रही है। राज्यपाल के दौरे से पहले अधिकारियों ने यहां साफ-सफाई से लेकर वार्ड में स्टाफ की तैनाती और व्यवस्थाओं में सुधार कर दिया।

मरीज बोले- भगवान करे रोज आएं ऐसे वीआईपी

राज्यपाल के दौरे के लिए प्रबंधन ने हॉस्पिटल में सभी सुविधाएं बेहतर कर ली थीं। इसे देख यहां आने वाले मरीज भी हैरत में थे कि पहले तो ऐसा नहीं होता था। आईसीयू में भर्ती मरीज राम सिंह गुर्जर के पुत्र दीनानाथ गुर्जर ने बताया कि आज सब कुछ ठीक है, नहीं तो हम पिछले दस दिन से यहां हैं, कभी चिकित्सक नहीं मिलते तो कभी स्टाफ नर्स। भगवान करे राज्यपाल जैसे वीआई नी लोग रोज आया करें।

Click to listen..