Hindi News »Madhya Pradesh »Bhopal »News» Gunmen Have Reached The Premises Of The Mill Premises

​मिल परिसर में बने मकान तोड़ने पहुंचे बंदूकधारी बदमाश, मजदूरों ने खदेड़ा

डबरा शुगर मिल परिसर में बने मकानों को तोड़ने के लिए शनिवार को एक दर्जन हथियारबंद बदमाश पहुंचे।

Bhaskar News | Last Modified - Dec 31, 2017, 06:32 AM IST

  • ​मिल परिसर में बने मकान तोड़ने पहुंचे बंदूकधारी बदमाश, मजदूरों ने खदेड़ा

    ग्वालियर. डबरा शुगर मिल परिसर में बने मकानों को तोड़ने के लिए शनिवार को एक दर्जन हथियारबंद बदमाश पहुंचे। बदमाश कुछ कर पाते, इससे पहले ही मिल के कर्मचारी, उनके परिवार की महिलाएं और बच्चे लाठी डंडे लेकर पहुंचे और बदमाशों को खदेड़ दिया। बाद में मिल कर्मचारियांे ने एसडीएम को ज्ञापन सौंपा। कर्मचारियों को कहना है कि मिल प्रबंधन पर उनके करोड़ों रुपए बकाया हैं। प्रबंधन बिना भुगतान किए मकान खाली कराना चाहता है, इसलिए गुंडे भेज रहा है।

    - मिल परिसर में सुबह करीब 11 बजे दो कार में सवार होकर कप्तान शर्मा, उनका बेटा बसंत शर्मा, राघवेंद्र रावत और एक दर्जन से अधिक बदमाश पहुंचे। वे मिल कर्मचारी नरेंद्र शर्मा का मकान तोड़ने की कोशिश करने लगे। वे मकान तोड़ पाते, उससे पहले ही परिसर में रहने वाले सभी कर्मचारियों के परिवार इकट्‌ठे होकर पहुंच गए।

    - यहां मिल कर्मचारियों और बदमाशों में विवाद होने लगा। विवाद के दौरान बदमाशों ने मिल कर्मचारियों पर बंदूकें तान दीं। मिल कर्मचारी भी लाठी डंडे लेकर आ गए थे। वे बंदूकधारियों से भिड़ गए और बदमाशों को खदेड़ दिया।

    - इसके साथ ही पुलिस को भी सूचना दी। जैसे ही पुलिस पहुंची तो बदमाश वाहनों में बैठकर भाग खड़े हुए। हालांकि पुलिस ने कप्तान शर्मा को बंदूक सहित पकड़ लिया। बाद में लाइसेंस दिखाने पर छोड़ दिया लेकिन बंदूक जब्त कर ली।

    मजदूर बोले- एमडी हमारा बकाया नहीं दे रहे, क्वार्टर खाली कराने भेजे रहे गुंडे
    - घटना के बाद करीब 200 से अधिक मिल कर्मचारी, उनके परिवार की महिलाएं और बच्चे रैली निकालते हुए एसडीएम कार्यालय पहुंचे। यहां उन्हांेने मिल प्रबंधन के खिलाफ नारे लगाए और मिल प्रबंधन पर कार्रवाई और भुगतान कराने को लेकर एसडीएम शीतला पटले का ज्ञापन सौंपा। मिल कर्मचारियों का कहना था कि मिल प्रबंधन पर उनका करोड़ों रुपए वेतन और ग्रेज्युटी फंड का बकाया है।

    - मिल के एमडी विक्रम श्रीवास्तव के साथ जीतेंद्र कुशवाह मकान खाली कराने के लिए गुंडे भेजे जा रहे हैं। इसके बाद सभी कर्मचारी सिटी थाने पहुंच गए और बदमाशों पर कार्रवाई की मांग को लेकर हंगामा कर पुलिस के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। करीब 30 मिनट तक कर्मचारी हंगामा करते रहे। टीआई अमर सिंह सिकरवार ने उनसे आवेदन लेकर कार्रवाई का आश्वासन दिया, तब कर्मचारी माने। घेराव करने वालों में नरेंद्र शर्मा, एमडी शर्मा, रवि परिहार, बृजमोहन झा, शुभम शर्मा, मीरा झा सहित कई महिलाएं व बच्चे शामिल थेे।

    यह है मामला| चार साल से उत्पादन बंद बिना बकाया दिए जमीन बेच रहा प्रबंधन
    दि ग्वालियर शुगर कंपनी लिमिटेड (डबरा शुगर मिल) में पिछले चार साल से शक्कर का उत्पादन बंद है। मिल प्रबंधन पर कर्मचारियों और किसानों का करोड़ों रुपए बकाया है। मिल बंद होने के बाद मिल प्रबंधन मिल की जमीन को बेच रहा है। इसके चलते वह मिल में रहने वाले कर्मचारियों से क्वार्टर खाली करवाना चाहता है। वहीं कर्मचारियों का कहना है कि मिल प्रबंधन उनका भुगतान करेगा, तभी वे क्वार्टर खाली करेंगे। इसके चलते मिल प्रबंधन अब गुंडे भेज रहा है ताकि कर्मचारी डर जाएं और मकान खाली कर दें। हालांकि पूरे मामले की जानकारी प्रशासन व पुलिस को है लेकिन इसमें कुछ स्थानीय नेताओं की मिलीभगत भी है। इसलिए प्रबंधन के खिलाफ ठोस कार्रवाई नहीं की जा रही।

    मजदूर की हार्टअटैक से मौत, परिजन बोले- सुबह की घटना से चिंतित थे
    घटना के बाद शाम को मिल परिसर में रह रहे मजदूर राममिलन वर्मा को हार्ट अटैक आ गया। सिविल अस्पताल में डॉक्टर ने जांच के बाद उन्हें मृत घोषित कर दिया। उनके परिजन का कहना है कि सुबह की घटना के बाद से वे चिंतित थे। इसी के चलते उन्हें हार्ट अटैक आया।

    शुगर मिल परिसर में कर्मचारियों और कुछ बदमाशों के बीच विवाद हुआ था। मौके से हम कप्तान सिंह को बंदूक सहित थाने ले आए थे। मामले की जांच के बाद कार्रवाई करेंगे। - अमर सिंह सिकरवार, टीआई, सिटी थाना

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×