--Advertisement--

अघोषित कालाधन छिपाने का शक, ऑटाेमोबाइल डीलर के 18 ठिकानों पर आयकर छापे

इन्वेस्टिगेशन विंग ने राजधानी के मशहूर कार डीलर सौरभ गर्ग के दो राज्यों के चार शहरों में 18 ठिकानों पर छापे मारे।

Dainik Bhaskar

Feb 08, 2018, 06:28 AM IST
Income tax raids at 18 locations of Automobile dealer

भोपाल. आयकर विभाग की इन्वेस्टिगेशन विंग ने राजधानी के मशहूर कार डीलर सौरभ गर्ग के दो राज्यों के चार शहरों में 18 ठिकानों पर छापे मारे। विभाग को छापों में बड़े पैमाने पर अघोषित काला धन सामने आने का अनुमान है। गर्ग राजधानी में मारुति कार के सबसे बड़े डीलर हैं। उनके शहर में चार बड़े शो रूम हैं।

- इंवेस्टिगेशन विंग के महानिदेशक राकेश मोहन गर्ग की अगुवाई में शुरू की गई इस कार्रवाई में 50 अधिकारी और टैक्स वैल्यूएर शामिल हैं। गर्ग मुख्य रूप से कार डीलरशिप के ही कारोबार में थे। बाद में कमर्शियल व्हीकल की डीलरशिप के साथ रियल एस्टेट तक उन्होेंने अपना कारोबार फैलाया।

- बुधवार को जिन ठिकानों पर कार्रवाई हुई उनमें 12 भोपाल शहर में हैं। 2 इंदौर में और 1-1 जबलपुर और कानपुर में बताए जा रहे हैं। विभाग को आशंका है कि नोटबंदी के दौरान भी गर्ग के खातों में सामान्य से ज्यादा धन जमा हुआ था। उनसे इस धन का स्रोत बताने को कहा गया है।


सेंको ज्वैलर्स से कनेक्शन:
- नोटबंदी के दौरान कागजों पर करोड़ों रुपए की ज्वैलरी बेचने वाले सेंको ज्वैलर्स के संचालक मनीष अरोड़ा सौरभ गर्ग के कारोबारी साझीदार हैं। विभाग ने इन्हें भी जांच के दायरे में लिया है।

- नोटबंदी के दौरान विभाग की पहली बड़ी कार्रवाई सेंको ज्वैलर्स पर ही हुई थी। उन पर आरोप था कि उन्होंने रात में शो-रूम खोलकर करीब 7 करोड़ रुपए की ज्वैलरी पुराने नोट लेकर बेची थी। बाद में पाया गया कि उन्होंने जितनी ज्वैलरी की बिक्री के रिकॉर्ड पेश किए उतना तो उनके पास स्टाक ही नहीं था। इसके चलते यह आंशका जताई जा रही है कि इस कार्रवाई का नोटबंदी के दौरान जमा धन से भी कोई संबंध है।

नहीं चली माय कैब:
- सौरभ गर्ग ने नगर निगम के साथ मिलकर टैक्सी ऑन काल सर्विस शुरू की थी। इसमें करीब 50 मारुति डिजायर लगाई गईं थी। लेकिन बाद एप बेस्ड टैक्सी सर्विस के आ जाने से उनकी यह टैक्सी सेवा नहीं चल पाई।

वर्जन
- हमने कार डीलर सौरभ गर्ग और उनके सहयोगियों के यहां जांच शुरू की है। इसमें दो राज्यों के चार शहरों में 18 प्रतिष्ठान हैं।
राकेश पालीवाल, प्रींसिपल डॉयरेक्टर, इनकम टैक्स,भोपाल

X
Income tax raids at 18 locations of Automobile dealer
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..