--Advertisement--

बच्चे की मौत की सूचना दी तो बोले- इतनी बात नहीं सुन पाएंगे फोन रखो

डॉग स्क्वाॅयड प्रभारी राजीव सक्सेना को फोन पर इसकी सूचना दी तो सक्सेना ने संवेदनहीनता की हदें पार कर दीं।

Dainik Bhaskar

Feb 03, 2018, 05:36 AM IST
keep the phone will not hear so much

भोपाल . गौतम नगर निवासी जिस मासूम रजा की कुत्तों ने जान ले ली थी, जब उसके परिजनों ने नगर निगम के डॉग स्क्वाॅयड प्रभारी राजीव सक्सेना को फोन पर इसकी सूचना दी तो सक्सेना ने संवेदनहीनता की हदें पार कर दीं। सक्सेना ने उनकी बात सुनने के बजाय उल्टा उन्हें झिड़कते हुए कहा कि कहानी मत सुनाओ। जल्दी बताओ क्या हुआ? जब बताया कि कुत्तों के हमले से बच्चा मर गया है तो सक्सेना ने यह कहते हुए फोन काट दिया कि गाड़ी भेज दी है, आपकी इतनी बात थोड़े ही सुनेंगे।

...तो नहीं जाती मासूम रजा की जान

- पीजीबीटी कॉलेज इलाके में कुत्तों की भरमार है। यहां 200 से अधिक कुत्ते नाले के आस-पास मौजूद रहते हैं। इन्हें पकड़ने क्षेत्रीय पार्षद सीमा मालवीय लगातार राजीव सक्सेना को कह रही थीं।

- पिछले एक हफ्ते में भी पार्षद की सक्सेना से कई बार बात हुई। सक्सेना ने हर बार आश्वासन दिया, लेकिन काेई कार्रवाई नहीं की। हद ताे यह है कि गुरुवार को हादसे के बाद भी निगम का अमला सक्रिय नहीं हुआ।

लापरवाही ने ली जान-

- पार्षद सीमा मालवीय ने कहा कि नगर निगम कर्मचारी सक्सेना की लापरवाही से रजा की जान गई। हमने मेयर, निगम कमिश्नर आैर सक्सेना के खिलाफ कसे दर्ज करने गौतम नगर थाने में आवेदन दिया है। केस दर्ज नहीं हुआ तो रविवार काे थाने का घेराव करेंगे।

परिषद की बैठक में पूछेंगे सवाल : संजीव गुप्ता
- भाजपा पार्षद संजीव गुप्ता 6 फरवरी को निगम परिषद बैठक में यह मामला उठाएंगे। गुप्ता ने इस संबंध में प्रश्न पूछा है। गुप्ता ने कहा कि कुत्ते पकड़ने के लिए लोग कॉल सेंटर पर शिकायत करते हैं, लेकिन कार्रवाई नहीं होती है। प्रभारी राजीव सक्सेना को फोन लगाओ तो वे फोन उठाते नहीं हैं। जब उनसे इस संबंध में बात की तो उनका जवाब था कि क्या हम सारे दिन कुत्ते ही पकड़ते रहेंगे?

संवेदनहीनता की हद...काहे का बच्चा, कहां पर... गाड़ी भेज दी है वहां

परिजन- राजीव सक्सेना जी बोल रहे हैं?
सक्सेना - हां बोल रहा हूं।
परिजन - अफसोस की बात है कि कुत्ते के हमले में बच्चे की मौत हो गई, 8 दिन से शिकायत कर रहे थे।
सक्सेना - कहानी मत बताओ क्या हुआ है बताओ।
परिजन - कहानी यह है कि बच्चा मर गया है, कुत्ते के हमले से।
सक्सेना - काहे का बच्चा, कहां पर?
परिजन - पीजीबीटी कॉलेज वार्ड 13 के अंदर।
सक्सेना - गाड़ी गई है वहां पर।
परिजन - बच्चा मर गया, अब गाड़ी जाने से क्या होगा?
सक्सेना - अरे हो गई ना। अब हम आपकी इतनी बात थोड़े ही न सुन पाएंगे।

X
keep the phone will not hear so much
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..