--Advertisement--

मां के कहने पर चूहों को बच्चों की तरह पाल रहा बेटा, प्लॉट पर बनाई समाधि

मां की लास्ट विश को पूरा करने के लिए अपने कामों अलावा मां की कही बातों का पालन कर रहे हैं।

Dainik Bhaskar

Dec 17, 2017, 11:17 PM IST
Keeping promise of a mother caring rate,  Trunk built on plot

अशोकनगर (भोपाल). आज के समय में भी कई ऐसे बेटे हैं जो अपने मां की लास्ट विश को पूरा करने के लिए अपने कामों अलावा मां की कही बातों का पालन कर रहे हैं। ऐसा ही एक मामला, शहर में एक छोटी सी दुकान चलाने वाले दुकानदार का है। जो अपनी मां की लास्ट विश को पूरा करने के लिए, तीन सफेेद चुहों की देखभाल बच्चों जैसे करते हैं। मां ने मरने से पहले कहा था ये...

- दरअसल, शहर के गुना चुंगी नाका पर एक छोटी सी दुकान चलाते हैं धर्मेंन्द्र कुमार जैन। वे तीन चुहों की देखभाल बिल्कुल बच्चों जैसी करते हैं।

- अपनी मां की विश पूरी करने के लिए वे हर दिन, 100 रूपए तक खर्च करते हैं।

- जब इन तीनों चूहों की देखभाल कर रहे धर्मेन्द्र जैन से इसकी वजह पूछी तो उसके पीछे एक रोचक कहानी सामने आई।

- धर्मेंद्र के मुताबिक, उनकी मां पंथा बाई का दो महीने पहले 98 साल में डेथ हो गई। दो साल पहले जब उनकी मां की तबीयत खराब थी तो एक रिश्तेदार का बालक सफेद चूहा लेकर आया।

- मां की विशपर उन्होेंने सफेद चूहा का जोड़ा दूसरे दिन लाकर दे दिया। सफेद चूहा आते ही मां की तबीयत में सुधार होने लगा। यह देखते हुए वे दो चूहे और ले अाए।

- इनकी देखरेख में उनकी मां फिर से स्वस्थ होने लगी। दो महीने पहले 17 दिसम्बर को पंथा बाई का डेथ हो गई।

- उन्होंने दम तोड़ने से पहले चूहों की देखभाल लेने की कसम धर्मेन्द्र को दी। वे हर दिन इन चूहों को ख्याल रखते हैं।

मां को ही अपना शिक्षक और पालक माना

- दो महीने पहले मां की डेथ होने के बाद धर्मेन्द्र ने अपनी मां की अस्थियों को पवित्र नदी में प्रवाहित न करते हुए उनकी अस्थियों को घर के प्लाट में विसर्जित कर उनका समाधि स्थल तैयार किया है।

- उन्होंने बताया कि उनके पिता का जब वे छोटे थे, तब निधन हो गया था । इसके बाद मां ही उनकी गुरू रहीं। इसलिए हर पल आज भी मां को याद करते हुए उनकी आंखें नम हो जाती हैं।

Keeping promise of a mother caring rate,  Trunk built on plot
Keeping promise of a mother caring rate,  Trunk built on plot
X
Keeping promise of a mother caring rate,  Trunk built on plot
Keeping promise of a mother caring rate,  Trunk built on plot
Keeping promise of a mother caring rate,  Trunk built on plot
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..