Hindi News »Madhya Pradesh »Bhopal »News» Minor Girl Assualt Case Accused Convicted

12 साल की बच्ची से रेप, एक अारोपी का DNA बच्ची के भ्रूण से मैच बाकी को पहचाना

काेर्ट का रेप के मामले में 6 दोषियों को अंतिम सांस तक जेल में रखने के आदेश।

Bhaskar News | Last Modified - Mar 13, 2018, 06:57 AM IST

12 साल की बच्ची से रेप, एक अारोपी का DNA बच्ची के भ्रूण से मैच बाकी को पहचाना

भोपाल. राजधनी के रेलवे स्टेशन पर 12 साल की नाबालिग लड़की से ज्यादती के मामले में अदालत ने छह युवकों को आजीवन कारावास (अंतिम सांस तक जेल में रखने) की सजा सुनाई है। इनमें से एक अर्जुन का डीएनए बच्ची के भ्रूण से मैच हुआ है। बाकी को बच्ची ने पहचाना था। सोमवार को न्यायधीश सविता दुबे ने यह फैसला सुनाया। अदालत ने आरोपियों पर 20-20 हजार का जुर्माना करते हुए जुर्माने की रकम में से 60 हजार रुपए बच्ची को देने के आदेश दिए।

क्या था मामला

पिछले साल 3 नवंबर को जीआरपी ने भोपाल रेलवे स्टेशन पर एक नाबालिग लड़की के संदिग्ध अवस्था में मिलने की सूचना रेलवे चाइल्ड लाइन को दी थी। रेलवे चाइल्ड लाइन ने लड़की की जांच कराई तो वह गर्भवती निकली।

इन्हें उम्र भर रहना होगा जेल में:

सलमान किडनी पुत्र मोहम्मद मेहबूब, राजेश टकला पुत्र संतोष साहू, मोहम्मद सलमान उर्फ भेंडा पुत्र अयूब, मनीष यादव पुत्र रवि यादव, मंगल ठाकुर पुत्र मुन्ना ठाकुर, अर्जुन पुत्र मोहर सिंह को अंतिम सांस तक सजा भुगतने के लिए जेल में रखे जाने के आदेश दिए हैं। इन आरोपियों में चार की उम्र 19 साल, एक 20 साल और एक 24 साल का है।

परिजनों ने किया अदालत में हंगामा

आजीवन कारावास की सजा सुनाने के बाद जैसे ही दोषियों को कोर्ट रूम से बाहर लाया गया उनके परिजनों ने हंगामा शुरू कर दिया। दो अपने परिजनों से गले लगकर फूट-फूटकर रोने लगे। वहीं दो पुलिस के साथ गाली-गलौज करते हुए बाेले कि उन्हें झूठा फंसाया गया है। आरोपियों आैर उनके परिजनों ने कोर्ट में कुछ देर हंगामा भी किया।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Bhopal News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: 12 saal ki bachchi se rep, ek aaaropi ka DNA bachchi ke bhrun se maich baaki ko pahchanaa
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×