भोपाल

--Advertisement--

मां की अंतिम इच्छा पूरी करने बेटी ने दिया कंधा और दी मुखाग्नि, ऐसे निकाली शवयात्रा

बेटी ने दी माँ को नम आँखों से मुखाग्नि

Danik Bhaskar

Mar 14, 2018, 03:23 AM IST

सागर (मध्यप्रदेश). शहर के मुक्तिधाम में एक बेटी ने बेटे का फर्ज निभाया। मां की मौत के बाद पति के साथ रह रही बेटी ने ही मां का अंतिम संस्कार किया। मां की मौत की जानकारी लगते ही फैमिली में मातम छा गया और सभी लोगों ने आना शुरू कर दिया था। लेकिन उनकी फैमिली में कोई बेटा न होने के कारण बेटी ने ही मां को मुखाग्नि दी और ढ़ोल-बाजे के साथ उनकी अंतिम यात्रा निकाली। ये थी मां की अंतिम इच्छा...

- सागर के गांधी चौक वार्ड में रहने वाली प्रेमलता पटेरिया का निधन सोमवार को दोपहर चार बजे के बीच हो गया था ।
- करीब तीन चार बजे के बीच खाना खा कर बैठी तो अचानक तबीयत खराब हो गई मोके पर पहुचे डाक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।
- बता दें कि स्वर्गीय प्रेमलता जी के यहाँ सिर्फ एक ही संतान भानू पटेरिया थी और मां की अंतिम इच्छा थी की उनकी चिता को उनकी ही बेटी ही आग देने की रस्म करे।
- अपनी माँ की अंतिम इच्छा भानू पटेरिया ने पूरी हिंदू रीति रिवाज के साथ पूरी की जो की आज के समाज में एक मिसाल है।
- सागर जिले में जिसने भी ये नजारा देखा उनकी आँखे नंम हो गईं और इस बेटी के प्रति श्राद्धा से सिर झुकाया।

मां की अतिम क्रिया करती हुई बेटी। मां की अतिम क्रिया करती हुई बेटी।
चिता को मुखाग्नि देती हुई बेटी। चिता को मुखाग्नि देती हुई बेटी।
मां की इकलौती संतान थी बेटी। मां की इकलौती संतान थी बेटी।
मटका पकड़कर आगे चलती हुई बेटी। मटका पकड़कर आगे चलती हुई बेटी।
बेटी अपने बेटे और पति के साथ। बेटी अपने बेटे और पति के साथ।
Click to listen..