--Advertisement--

60 टुकड़ो में रेलवे ट्रेक पर मिला इस अफसर का शव, भाई से कही थी ये बात

हादसा या हत्या, यह अभी तय नही

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 03:50 AM IST
प्रदीप रायसेन में विकास अधिकारी था। प्रदीप रायसेन में विकास अधिकारी था।

होशंगाबाद. पवारखेड़ा रेलवे अप ट्रैक पर शुक्रवार सुबह शुक्रवार सुबह 6.30 बजे गैरतगंज (रायसेन) के एलआईसी के विकास अधिकारी प्रदीप राय (35) का शव 60 से भी ज्यादा टुकड़ों में कटा मिला। ट्रैक के पास पर्स और पर्स में रखे एटीएम,लाइसेंस,आधार कार्ड बिखरे पड़े मिले हैं। इनकी मदद से पुलिस प्रदीप राय के परिजन तक पहुंच सकी। ये था मामला...

- पुलिस के अनुसार प्रदीप रायसेन में विकास अधिकारी था।

- वह भोपाल में भी ओल्ड अशोका गार्डन में सब्जी मंडी के पास रहता था।

- बड़ा सवाल यह है कि प्रदीप यहां कैसे पहुंचा। यह सवाल पुलिस और प्रदीप के परिवार के लिए अनसुलझी गुत्थी बन गया है।

- प्रदीप के बड़े भाई संदीप राय ने बताया कि 1 मार्च को सुबह 10.37 बजे प्रदीप ने फोन पर कहा था कि वह होली पर घर गैरतगंज आ रहा है। इसके बाद प्रदीप का फोन स्विच ऑफ हो गया।


प्रदीप की मौत पर उठ रहे सवाल

- खास बात तो यह कि प्रदीप पवारखेड़ा कैसे और क्यों पहुंचा। उसका पर्स ट्रैक के बाहर बिखरा मिला।

- पर्स में रखे कागज एटीएम,आधार,लाइसेंस बाहर पड़े थे, अगर यह ट्रेन एक्सीडेंट है तो फिर उसका पर्स ट्रैक के बाहर कैसे पहुंचा।

- पुलिस को मौके की जांच में उसके मोबाइल नहींं मिले हैं, जबकि परिजनों के मुताबिक वह दो मोबाइल रखता था। मौके पर ट्रेन की टिकट भी नहीं मिला है।

प्रदीप को कई पुरस्कार भी मिल चुके हैं। प्रदीप को कई पुरस्कार भी मिल चुके हैं।
ट्रेक के पास मिला पर्स। ट्रेक के पास मिला पर्स।
प्रदीप राय प्रदीप राय