Home | Madhya Pradesh | Bhopal | News | one km and a half km on the railway track, Delhi team

ओडीएफ सर्टिफिकेट: गंदगी तलाशने रेलवे ट्रैक पर डेढ़ किमी तक घूमी दिल्ली की टीम

क्वालिटी काउंसिल ऑफ इंडिया (क्यूसीआई) की टीम ने शनिवार को दोपहर तीन बजे तक अपना सर्वे का काम पूरा कर लिया।

Bhaskar News| Last Modified - Dec 31, 2017, 04:59 AM IST

one km and a half km on the railway track, Delhi team
ओडीएफ सर्टिफिकेट: गंदगी तलाशने रेलवे ट्रैक पर डेढ़ किमी तक घूमी दिल्ली की टीम

भोपाल.   राजधानी का ओडीएफ का तमगा बरकरार रहेगा या नहीं, यह तय करने के लिए आई क्वालिटी काउंसिल ऑफ इंडिया (क्यूसीआई) की टीम ने शनिवार को दोपहर तीन बजे तक अपना सर्वे का काम पूरा कर लिया। सर्वे का रिजल्ट सोमवार को आने की संभावना है। टीम ने रेलवे स्टेशन और दस नंबर के साथ कुछ बस्तियों में भी दौरा किया।  रेलवे ट्रैक पर करीब डेढ़ किमी तक पैदल जाकर देखा कि कहीं लोग रेलवे ट्रैक का इस्तेमाल शौच के लिए तो नहीं कर रहे हैं? लेकिन नगर निगम के अफसरों ने राहत की सांस ली, क्योंकि टीम को ट्रैक के किनारे कहीं गंदगी नहीं मिली। इससे पहले टीम करीब दो बजे पूरी टीम रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर छह पर पहुंची। यहां बने पब्लिक टॉयलेट का निरीक्षण किया। इसके बाद वे प्लेटफार्म नंबर एक पर पहुंच गए।

 
बस्तियों में था अमला
- ओडीएफ की इस परीक्षा में पास होने के लिए नगर निगम के सभी वरिष्ठ अधिकारियों और इंजीनियरों के साथ पूरा अमला सुबह छह बजे से ही मैदान में उतरा था। हर उस जगह पर जहां टीम के आने की संभावना थी, सफाई का काम चल रहा था। हर बस्ती में नगर निगम के सफाई कामगार और अतिक्रमण दस्ते के लोग तैनात थे।

 

निगम अमले को देखकर रास्ता बदला 
- क्यूसीआई की टीम ने कालीघाट से हाथीखाना तक पैदल घूम कर पूरी बस्ती में महिलाओं और बच्चों से बातचीत की। उन्होंने पूछा -  घर में टॉयलेट है या नहीं?  यहां एक किमी के रास्ते में कई जगह यह स्थिति बनी कि निगम अमला जिस गली में खड़ा था, टीम के सदस्य रास्ता बदल कर दूसरी गली में पहुंच गए।

 

सुबह 9:30 बजे

 मीनाल रेसीडेंसी से दौरा शुरू: क्यूसीआई टीम के दोनों सदस्य कपिल तिवारी और संकेत ने नगर निगम उपायुक्त राहुल सिंह राजपूत और कंसल्टिंग एजेंसी केपीएमजी के शैंकी जैन के साथ  मीनाल रेसीडेंसी से अपने दौरे की शुरुआत की। दौरा शुरू होते ही नगर निगम के वायरलेस सेट पर मैसेज चल पड़ा कि टीम रवाना हो गई है। मीनाल में पब्लिक टॉयलेट का निरीक्षण करने के बाद दिल्ली से अगली

 

लोकेशन मिली - भोईपुरा। यहां तैनात अफसरों को वायरलेस पर सतर्क कर दिया गया।
बदला रास्ता : भोईपुरा जाते समय संकेत ने रास्ता बदला और वह न्यू मार्केट गए। यहां टीम ने शुक्रवार को निरीक्षण किया था, लेकिन कुछ फोटो खिंचना बाकी रह गए थे।
चौक में लिए फोटो : तिवारी ने चौक क्षेत्र में टॉयलेट के फोटो लिए। यहां शुक्रवार को निरीक्षण हो गया था, लेकिन कुछ फोटो दोबारा मांगे गए थे।
कमिश्नर से मुलाकात : टीम दस नंबर मार्केट से माता मंदिर स्थित नगर निगम मुख्यालय पहुंची और निगमायुक्त प्रियंका दास से मुलाकात की। इस दौरान परिसर में बने टायलेट में धुलाई चल रही थी। 
ली टॉयलेट की जानकारी: टीम डेढ़ बजे कोटरा की बस्तियों संजय नगर और बीजासेन नगर पहुंची। यहां लोगों से पूछा कि घर में टॉयलेट है या नहीं? लेकिन किसी ने भी बाहर जाने की बात स्वीकार नहीं की।
छोटे तालाब के किनारे चला सफाई अभियान : छोटे तालाब के किनारे जोनल अधिकारी अनिल कुमार शर्मा टीम के साथ जगह- जगह सफाई करा रहे थे। यह स्पॉट नगर निगम के ओडी प्वाइंट में शामिल है, लेकिन पिछले चार दिन से नगर निगम की सख्ती के कारण शनिवार को स्थिति नियंत्रण में थी।

 

बच्चों ने कराया दुर्गा नगर बस्ती का निरीक्षण, दिखाए टॉयलेट 
- अरेरा हिल्स क्षेत्र में दुर्गा नगर में निरीक्षण करने पहुंची टीम का सामना 10-12 साल के बच्चों से हुआ। बच्चों का यह दल लोगों को सफाई और ओडीएफ के लिए जागरूक करता है। बच्चों ने उन्हें बस्ती का भ्रमण कराया और घरों में बने टॉयलेट दिखाए। पिछले साल केंद्र सरकार के सचिव डीएस मिश्रा ने भी इस बस्ती का भ्रमण किया था।

 

महिलाएं बोलीं- अन्य बाजारों में भी बनाए जाएं शी लाउंज 
- करीब 12:15 बजे पूरी टीम दस नंबर पहुंची।  यहां उन्होंने बाजार में बने शौचालयों के साथ शी लाउंज का भी मुआयना किया। यहां उन्होंने महिलाओं से सुविधा के बारे में पूछा। कुछ महिलाओं ने कहा कि ऐसे शी लाउंज शहर के अन्य बाजारों में भी बनाए जाना चाहिए।

prev
next
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

Trending Now