Hindi News »Madhya Pradesh »Bhopal »News» Pensioners Will Now Be Able To Withdraw 4 Times In A Month

​पेंशनर्स अब एक माह में 4 बार निकाल सकेंगे पैसा, न्यूनतम बैलेंस न रखने पर लगेगी पेनाल्टी

पेंशन अकाउंट में न्यूनतम मासिक बैलेंस न रखने पर भी उनके खाते से पेनाल्टी नहीं कटेगी।

Bhaskar News | Last Modified - Dec 30, 2017, 05:51 AM IST

  • ​पेंशनर्स अब एक माह में 4 बार निकाल सकेंगे पैसा, न्यूनतम बैलेंस न रखने पर लगेगी पेनाल्टी

    भोपाल.सामाजिक सुरक्षा पेंशन पा रहे लोगों को बैंकों ने राहत दी है। अब उन्हें अपने पेंशन अकाउंट में न्यूनतम मासिक बैलेंस न रखने पर भी उनके खाते से पेनाल्टी नहीं कटेगी। हालांकि इसके एवज में उन्हें मिलने वाली बैंकिंग सेवाओं का दायरा सीमित कर दिया गया है। अब वे एटीएम और ब्रांच को मिलाकर एक माह में कुल चार बार ही पैसा निकाल सकेंगे। इसके बाद राज्य स्तरीय बैंकर्स समिति (एसएलबीसी) ने इसको लेकर नियम कानून बना लिए हैं। यह एसएलबीसी की अगली बैठक में रखे जाएंगे। उल्लेखनीय है कि कुछ माह पहले मप्र सरकार ने पेंशनर के खाते में न्यूनतम बैलेंस न होने पर लग रही पेनाल्टी पर खासी चिंता जताई थी।

    - बैंकों का कहना था कि न्यूनतम बैलेंस न रखने पर पेनाल्टी लगाने का अधिकार हर बैंक के बोर्ड का है। इसमें राज्य में काम कर रही बैंक कुछ नहीं कर सकती। इस पर राज्य सरकार का सुझाव था कि आम ग्राहक की तुलना में पेंशनर की बैंकिंग सेवाओं की जरूरत काफी कम होती है। बैंक चाहें तो इसमें कुछ कमी कर लें, लेकिन उनके खातों पैसा काफी कम होता है। जो उनकी इलाज और दूसरी अहम जरूरतों के लिए होता है। इसलिए बैंक उन पर आर्थिक पेनाल्टी न लगाएं।

    पेंशनर्स के खातों की यह होंगी विशेषताएं

    - पेंशनर अपने खातों में जितना चाहें पैसा जमा करा सकते हैं। इसके लिए कोई सीमा नहीं होगी। लेकिन वे एक माह में चार बार ही पैसा निकाल सकते हैं। चाहे वह एटीएम से जाकर निकालें या फिर ब्रांच में जाकर।
    - इन्हें एटीएम या एटीएम कम डेबिट कार्ड की सुविधा मिलेगी।
    - उन्हें किसी भी बैंक में दूसरा बचत खाता खोलने की अनुमति नहीं होगी। अगर पहले से ही किसी का दूसरी बैंक में खाता होगा तो उसे वह 30 दिन के भीतर बंद करना होगा।
    - अगर ये बैंक खाते आसान केवाईसी प्रक्रिया के जरिए खोले गए हैं तो ये छोटे खाते कहलाएंगे।

    बेसिक सेविंग डिपाॅजिट अकाउंट कहलाएंगे खाते

    - एसएलबीसी के अनुसार पेंशनर के बैंक खाते बेसिक सेविंग डिपाजिट एकाउंट कहलाएंगे। इसमें एक राशि का निर्धारण किया जा रहा है। इससे कम जमा वाले पेंशनर के खाते इसके दायरे में आएंगे। साथ ही बचत का स्तर इससे ज्यादा होने पर ये इन खातों में बैंकिंग सर्विस का दायरा बढ़ जाएगा। इसके साथ दूसरी पेनॉल्टी भी लगने लगेंगी।

    राज्य सरकार के साथ बैठक के बाद अंतिम निर्णय

    - यह बदलाव सामाजिक सुरक्षा पेंशन पाने वालों के हित को ध्यान में रखकर किए गए हैं। राज्य में काम कर रहे सभी बैंक इसके लिए एकमत हैं। इस बारे में अंतिम निर्णय राज्य सरकार के साथ होने वाली बैठक के बाद लिया जाएगा।
    अजय व्यास, फील्ड महाप्रबंधक, एसएलबीसी

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×