--Advertisement--

पीएचडी स्कॉलर बना आतंकी, AMU ने निकाला, 2 साल पहले आया था भोपाल

अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) में पीएचडी कर रहा स्कॉलर मनान बशीर वानी कथित तौर पर आतंकी बन गया है।

Dainik Bhaskar

Jan 09, 2018, 06:11 AM IST
PhD Scholar created terror, AMU extracted, Bhopal came 2 years ago

भोपाल. अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी (एएमयू) में पीएचडी कर रहा स्कॉलर मनान बशीर वानी कथित तौर पर आतंकी बन गया है। हिजबुल मुजाहिदीन में शामिल होने और एके-47 असॉल्ट राइफल के साथ तस्वीर सामने आने के बाद एएमयू ने उसे निकाल दिया। रिसर्च स्कॉलर मनान 2016 में भोपाल भी आया था। वह बाढ़ से जनहानि कम करने के लिए तकनीक के विकास पर शोध कर रहा था। 15 से 18 मार्च 2016 तक आइसेक्ट यूनिवर्सिटी द्वारा भोपाल में कॉन्फ्रेंस में हिस्सा लिया था। वानी को बेस्ट पेपर प्रेजेंटेशन का अवाॅर्ड भी मिला था। इस कॉन्फ्रेंस में लगभग 400 से ज्यादा रिसर्च स्कॉलर्स ने 334 रिसर्च पेपर पढ़े थे। कुपवाड़ा का है मनाना, पिता लेक्चरर....


- मनाना जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा का रहने वाला है। उसके पिता बशीर अहमद वानी लेक्चरर हैं, जबकि भाई जूनियर इंजीनियर है। वह अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी में पांच साल से पढ़ाई कर रहा है।

- 26 साल के वानी की तलाश में पुलिस ने यूनिवर्सिटी में छापेमारी की। हॉस्टल के उसके कमरे से कपड़े और कुछ कागजात जब्त किए गए हैं। वानी को 4 दिन पहले घर लौटना था, लेकिन उसकी जगह आतंकी बनने की खबर घर पहुंची।

- तस्वीर में दी गई जानकारी के अनुसार उसने 5 जनवरी को हिजबुल ज्वाइन किया। परिवार वालों ने रविवार को उसकी गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। उसे आखिरी बार दिल्ली में देखा गया।


भोपाल शताब्दी से पकड़े गए बिलाल का आतंकी कनेक्शन नहीं मिला:
- भोपाल शताब्दी से मथुरा में बिना टिकट पकड़े गए जम्मू कश्मीर के अनंतनाग निवासी बिलाल अहमद वानी से यूपी एटीएस ने कड़ी पूछताछ की है। मप्र के आईजी कानून व्यवस्था मकरंद देउस्कर का कहना है कि यूपी एटीएस ने उससे पूछताछ की है।

- फिलहाल किसी आतंकी संगठन से उसके संबंध होने की बात सामने नहीं आई है। उसके पिता अनंतनाग में मेडिकल स्टोर चलाते हैं। बिलाल दिल्ली में रहकर पढ़ाई कर रहा है।

मां की अपील- गलती हुई तो माफ कर दो, लौट आओ

- मनान के आतंकी बनने की खबर पर मां ने कहा- ‘मैंने अपने खून का कतरा-कतरा उसे दिया। पढ़ाया-लिखाया, बड़ा आदमी बनाया। मुझे क्या पता था कि वह धोखा देगा। एक बार आप आओ। अगर कोई गलती हुई है तो मैं माफी मांगती हूं।’

- पिता बशीर ने कहा- ‘खबर सुनकर अफसोस हुआ है। उसने मुझे, बहन और मां को बहुत दुख दिया है। 3 जनवरी को अंतिम बार उसने बहन से बात की थी।’

कश्मीरी छात्रों से नहीं मिला मनान
- मनान के आतंकी संगठन में शामिल होने की खबर के बाद मध्यप्रदेश पुलिस भी सक्रिय हो गई।

- मनान के बरकतउल्ला यूनिवर्सिटी के कुछ छात्रों से मिलने की चर्चा सामने आई।

- हालांकि आईजी कानून एवं व्यवस्था मकरंद देउस्कर ने कहा कि अभी ऐसी कोई जानकारी सामने नहीं आई है।

X
PhD Scholar created terror, AMU extracted, Bhopal came 2 years ago
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..