--Advertisement--

संघ की बैठक ; मप्र-छग के हर जिले से 400 से 500 के बीच कार्यकर्ता तैयार करें

बैठक मेें कांग्रेस और क्षेत्रीय दलों को कमजोर करने की बनी रणनीति

Dainik Bhaskar

Jan 14, 2018, 03:11 AM IST
Prepare 400 to 500 workers

विदिशा . राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ(आरएसएस) के सरसंघचालक मोहन भागवत टीलाखेड़ी सरस्वती शिशु मंदिर में तीन दिन से चल रही बैठक में शनिवार को तीन सत्रों में शामिल हुए। इस बैठक में सिर्फ मप्र-छत्तीसगढ़ के प्रचारक और अन्य पदाधिकारी शामिल हुए थे। बैठक शुक्रवार शाम से शुरू हुई थी। बैठक में कांग्रेस और अन्य दलों के शासन वाले राज्यों को फोकस करने पर सहमति बनी है।

नई रणनीति के तहत जहां भाजपा की सरकारें नहीं हैं वहां ज्यादा से ज्यादा संख्या में संघ अपने कार्यकर्ता भेजकर जमीन तैयार करेगा। इसके लिए मप्र-छत्तीसगढ़ के प्रचारकों को नए कार्यकर्ता तैयार करने के लिए लक्ष्य दिए गए।
हर जिले में तैयार होंगे कार्यकर्ता : यह बैठक मध्यक्षेत्र की थी जिसमें पूरा मप्र-छत्तीसगढ़ शामिल है। मप्र को संघ ने तीन भागों में बांटा है जिसे मध्यभारत, मालवा और महाकौशल नाम दिया है। इसके अलावा छत्तीसगढ़ प्रांत के प्रचारक शामिल हुए। इस तरह यह बैठक संघ की दृष्टि में चार प्रांतों की थी। इस बैठक में यह निर्णय लिया गया कि जहां भाजपा बहुत कमजोर है वहां कार्यकर्ता भेजे जाएंगे। संघ के कार्यकर्ता अलग-अलग राज्यों में काम करेंगे। मप्र के 51 जिले और छत्तीसगढ़ के 27 जिले मिलकर 78 जिले होते हैं। हर जिले से 400 से 500 के बीच कार्यकर्ता तैयार करने का लक्ष्य पदाधिकारियों को दिया गया।

X
Prepare 400 to 500 workers
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..