--Advertisement--

कटनी हवाला कांड: आयकर विभाग ने सरावगी बंधुओं की 28 एकड़ जमीन अटैच की

आयकर विभाग के बेनामी विंग की कार्रवाई २५ खसरों में थी जमीन मूल्य १ करोड़ से ज्यादा

Dainik Bhaskar

Mar 02, 2018, 03:11 AM IST
इससे पहले सरावगी बंधुओं की राय इससे पहले सरावगी बंधुओं की राय

भोपाल. आयकर विभाग के बेनामी विंग ने कटनी हवाला कांड के प्रमुख आरोपी मनीष सरावगी और हेमलता सरावगी की 28 एकड़ जमीन जमीन अटैच कर ली है। दोनों इस प्रापर्टी का स्रोत नहीं बता पाए। मनीष ने आयकर विभाग को पूछताछ में यह जमीन अपने भाई सतीश सरावगी की बताई थी। लेकिन यह जमीन इन दोनों के नाम थी इसलिए, विभाग ने इसे बेनामी मानते हुए अटैच कर ली।

फर्जी कंपनियों और बैंक खातों के जरिए किया हेरफेर

विभागीय सूत्रों की मानें तो यह जमीन कुल 25 खसरों में थी। यह सारे खसरे अटैचमेंट के दायरे में आ गए हैं। इनका बाजार मूल्य करीब एक करोड़ रुपए आंका गया है। विभाग सरावगी बंधुओं के दूसरे लेन-देन की भी जांच कर रहा है। मनीष सरावगी पर फर्जी कंपनियों और बैंक खातों के जरिए 2.65 करोड़ रुपए के लेनदेन का आरोप है।

कोयले के कारोबार में मंदी के चलते बन गए हवाला कारोबारी

मुख्य रूप से सरावगी बंधु कोयले के कारोबार से जुड़े थे। कारोबार में मंदी आने के बाद वे मनी लॉन्ड्रिंग की अवैध गतिविधियों में लिप्त हो गए। इस मामले में सह आरोपी एक मजदूर संतोष गर्ग को बनाया गया था। उसके नाम से करीब 1 करोड़ के लेनदेन दर्शाए गए थे। गर्ग की हरिद्वार में 22 फरवरी 2017 को इलाज के दौरान मौत हो गई थी। इस मामले में भाजपा सरकार के एक प्रभावशाली मंत्री पर भी अंगुली उठी थी।

एसपी द्वारा दस्तावेज पकड़ने से उछला था मामला
- यह पूरा मामला हवाला के जरिए 500 करोड़ के लेन-देन करने का है, जो जनवरी 2017 में उस समय चर्चा में आया, जब तत्कालीन एसपी कटनी गौरव तिवारी ने बोरियों में भरे दस्तावेज पकड़ेे।

- कटनी पुलिस ने सरावगी बंधु और मिस्त्री के खिलाफ प्रकरण भी दर्ज कर लिया, और इसके बाद ही एसपी तिवारी का तबादला कर दिया गया। उस समय आरोप लगे कि इन सभी दस्तावेजों का सरावगी बंधुओं के साथ ही राज्यमंत्री संजय पाठक से भी संबंध है और मंत्री को बचाने के लिए उनका तबादला किया गया।

- बाद में मुख्यमंत्री ने मामले की विशेष जांच कराने और ईडी को भी मामला देने की घोषणा की और फिर ईडी ने इसमें जांच शुरू की, जिसमें प्रॉपर्टी का यह पहला अटैचमेंट है।

यह संपत्तियां पहले हो चुकी हैं अटैच
- रायपुर में पांच प्लॉट:
मूल्य 2.31 करोड़ रुपए। यह प्रॉपर्टी मेसर्स निरनिधि मार्केटिंग प्रालि के नाम पर है जिसमें डायरेक्टर सतीश सरावगी और सुनील अग्रवाल है।
- कटनी में स्थित 17 प्लॉट: मूल्य 28.69 लाख रुपए। यह मनीष सरावगी और उनके परिवार के सदस्यों के नाम पर है।
- एक अन्य जमीन 4.93 लाख रु. की है, जो मानवेंद्र मिस्त्री की पत्नी के नाम पर है।

X
इससे पहले सरावगी बंधुओं की रायइससे पहले सरावगी बंधुओं की राय
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..