भोपाल

--Advertisement--

आरएसएस प्रचारक इंद्रेश कुमार बोले- अंग्रेजों ने हमें जातियों में बांटा

कांग्रेस ने देश आजाद नहीं बल्कि विभाजित कराया: इंद्रेश कुमार

Dainik Bhaskar

Mar 31, 2018, 11:56 PM IST
संघ प्रचारक इंद्रेश कुमार राजधानी में आयोजित मीडिया महोत्सव-2018 में  मुख्य वक्ता के तौर पर शामिल हुए। संघ प्रचारक इंद्रेश कुमार राजधानी में आयोजित मीडिया महोत्सव-2018 में मुख्य वक्ता के तौर पर शामिल हुए।

भोपाल. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की केंद्रीय कार्यकारिणी के सदस्य मुस्लिम राष्ट्रीय मंच के संयोजक इंद्रेश कुमार ने कहा कि जाति व्यवस्था कभी भारत में रही ही नहीं। अंग्रेजों ने कूटनीतिक षड्यंत्र करके हमें जातियों के आधार पर बांटा। दुनिया में हमें जाति, धर्म, पंथ, कार्य के आधार पर नहीं बल्कि हमारी राष्ट्रीयता के आधार पर पहचाना जाता है। भाषा परंपरा के आधार पर हम सब की एक ही मां भारत माता है। वे संस्था समर्थ स्वराज और कलाम हाउस द्वारा सांस्कृतिक राष्ट्रवाद विषय पर आयोजित व्याख्यान को संबोधित कर रहे थे। पत्रकारों से चर्चा में उन्होंने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर अब दुआ के सहारे बनेगा।

- इसके बाद संघ प्रचारक इंद्रेश कुमार राजधानी में आयोजित मीडिया महोत्सव-2018 में भी मुख्य वक्ता के तौर पर शामिल हुए। जहां उन्होंने कहा कि हजारों साल पहले विश्व में एक आंदोलन चला था, जब दुनिया के हर देश के लोग दूसरे देशों के प्रवास पर थे। दुनियाभर के लोग भारत के प्रवास पर भी आए और भारत के लोग भी अन्य देशों में गए। दुनियाभर के लोगों ने भारत के बारे में लिखा कि अजीब देश है, अजीब गांव है, अजीब घर है, लोग घरों में ताला ही नहीं लगाते। लोगों ने दूसरे देशों के बारे में नहीं लिखा, सिर्फ भारत के बारे में लिखा। कभी ऐसा हुआ करता था हमारा हिन्दुस्तान, लेकिन आज घर में ताला लगाते हैं, हर कमरे में ताला लगाते हैं, हर अलमारी में ताला लगाते हैं और हर अलमारी के लॉकर में ताला लगाते हैं।

- इंद्रेश ने कहा कि भारत वह देश था, जहां भिखारी नहीं हुआ करते थे, लोग भूखमरी से नहीं मरते थे। उन्होंने कहा कि ये लिखा गया था कि विकास बिना जीवन मूल्यों के नहीं होता है, लेकिन हमने जीवन मूल्यों को खोते-खोते विकास को करप्शन और क्राइम के रूप में तो नहीं स्वीकार कर लिया।

- उन्होंने कहा कि हमारे देश में जन्म लेने वाले हर व्यक्ति के पास मां उपलब्ध है। किसी की जीवित है तो किसी की जीवित नहीं है, लेकिन हमारी सबकी भी एक मां है और वह है भारत माता। इसी तरह पूरी दुनिया की भी एक मां है और वह है धरती माता, इसलिए कहते हैं जो इसे भूमि मानता है वह सगा नहीं जो मातभूमि मानता है वह सच्चा भारतीय है और इंसान है।

कांग्रेस ने आजाद नहीं बल्कि देश का विभाजन कराया
- पंडित नेहरू ने मातृभूमि को सिर्फ भूमि मात्र माना, इसलिए 1947 में इसका विभाजन करवा दिया। सुभाष चंद्र बोस, भगत सिंह आजाद, सुखदेव सिंह ने इसे भूमि नहीं माना। उन्होंने मातृभूमि माना। भूमि का सौदा हो सकता है, लेकिन मातृभूमि के लिए संकल्प और बलिदान देना पड़ता है। इसलिए इस सत्य को समझना होगा कि मां संस्कृति है, मातृभूमि जीवन मूल्य है।

- इससे पहले राजधानी के विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद परिसर में आयोजित दो दिवसीय मीडिया महोत्सव-2018 भारत की सुरक्षा: मीडिया, विज्ञान एवं तकनीकी की भूमिका का शुभारंभ हुआ। मीडिया महोत्सव का उद्घाटन सत्र सुबह 11 बजे शुरू हुआ।

- कार्यक्रम की शुरूआत में मुख्य अतिथि संघ के वरिष्ठ प्रचारक इंद्रेश कुमार, विशिष्ट अतिथि भाजपा प्रवक्ता प्रेम शुक्ला, आयोजन समिति के अध्यक्ष एवं पूर्व डीजीपी एसके राउत सहित अन्य अतिथियों ने दीप प्रज्ज्वलन किया। इसके बाद मीडिया महोत्सव में समन्वय का काम देख रहे अनिल सौमित्र ने मीडिया महोत्सव के बारे में बताया। मंच संचालन का जिम्मा वरिष्ठ पत्रकार प्रकाश हिन्दुस्तानी ने संभाला।

पत्रकारों से चर्चा में इंद्रेश कुमार ने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर अब दुआ के सहारे बनेगा। पत्रकारों से चर्चा में इंद्रेश कुमार ने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर अब दुआ के सहारे बनेगा।
X
संघ प्रचारक इंद्रेश कुमार राजधानी में आयोजित मीडिया महोत्सव-2018 में  मुख्य वक्ता के तौर पर शामिल हुए।संघ प्रचारक इंद्रेश कुमार राजधानी में आयोजित मीडिया महोत्सव-2018 में मुख्य वक्ता के तौर पर शामिल हुए।
पत्रकारों से चर्चा में इंद्रेश कुमार ने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर अब दुआ के सहारे बनेगा।पत्रकारों से चर्चा में इंद्रेश कुमार ने कहा कि अयोध्या में राम मंदिर अब दुआ के सहारे बनेगा।
Click to listen..