--Advertisement--

बंद की आड़ में कुछ लोग शहर जलाते रहे तो कुछ बचाते रहे, Photos में देखें हिंसक प्रदर्शन

12 राज्यों में दलित संगठनों की हिंसा, 14 की मौत; मप्र में सबसे ज्यादा 7

Dainik Bhaskar

Apr 03, 2018, 12:59 AM IST
sc st act petition bharat bandh violence

नई दिल्ली/भोपाल/ग्वालियर. एससी-एसटी एक्ट के तहत तत्काल गिरफ्तारी पर सुप्रीम कोर्ट की रोक के विरोध में सोमवार को दलित संगठनों ने 12 राज्यों में जमकर हिंसा, तोड़फोड़ और आगजनी की। इस दौरान 14 लोग मारे गए। पुलिसकर्मियों सहित 150 से ज्यादा लोग घायल हैं। 12 राज्यों में से मध्यप्रदेश, राजस्थान और यूपी में हालात बेहद खराब रहे। मध्यप्रदेश में सात लोगों की गोली लगने से मौत हुई है। इनमें ग्वालियर में तीन, भिंड में तीन और मुरैना का एक शख्स शामिल है। यूपी, बिहार में तीन-तीन और राजस्थान में भी एक की मौत हुई। इनमें एंबुलेंस का रास्ता रोकने के चलते यूपी में एक बुजुर्ग और बिहार में एक नवजात और किसान की जान चली गई। जगह-जगह ट्रैक जाम करने के चलते देशभर में 100 से ज्यादा ट्रेनें प्रभावित हुईं।

- ग्वालियर और भिंड में 3-3, मुरैना में एक की मौत, तीनों जगह कर्फ्यू

- जगह-जगह पटरियां उखाड़ीं, राजधानी समेत करीब 100 ट्रेनें प्रभावित

- हिंसाग्रस्त जिलों में रैपिड एक्शन फोर्स लगी, धारा 144 लागू, मोबाइल-इंटरनेट बंद

देशभर में दहशत...

गुजरात : करीब पांच जिलों में वाहनों और दुकानों में तोड़फोड़ की गई। कई जगह ट्रेनें रोकीं। अहमदाबाद में एक युवक ने हाथ की नस काटकर आंबेडकर की प्रतिमा पर नारे लिखने की कोशिश की। 20 से अधिक सरकारी बसों और गाड़ियों में तोड़फोड़ की गई।

उत्तरप्रदेश : मेरठ, आगरा, गाजियाबाद, हापुड़, मुजफ्फरनगर, सहारनपुर सहित पश्चिमी उत्तरप्रदेश के ज्यादातर इलाकों में तोड़फोड़ और आगजनी हुई। बसपा के पूर्व विधायक सहित 448 लोग हिरासत में लिए गए हैं।

राजस्थान : अलवर में पुलिस गाड़ियां फूंक रहे उपद्रवियों पर पुलिस फायरिंग में पवन नाम के एक युवक की मौत हो गई। एक मकान भी फूंकने की कोशिश हुई। जोधपुर में उपद्रवियों के पथराव के दौरान ड्यूटी पर एक सब इंस्पेक्टर को दिल का दौरा पड़ने के बाद अस्पताल में भर्ती करवाना पड़ा।

मप्र प्रदेश में सबसे ज्यादा हिंसा व उपद्रव ग्वालियर, भिंड, मुरैना, दतिया, सागर, अशोकनगर, गुना में हुआ। जबकि इंदौर, उज्जैन, होशंगाबाद, खंडवा, रतलाम, नीमच, मंदसौर में प्रदर्शनकारियों ने दुकानें बंद कराईं, नारेबाजी की। इन जगहों पर प्रदर्शनकारियों के उग्र होने के पहले ही पुलिस ने सख्ती दिखाई और उपद्रव होने से रोका। वहीं मुरैना, भिंड, ग्वालियर में हालात बेकाबू दिखे। ग्वालियर और मुरैना में उग्र भीड़ ने पुलिस को भी नहीं बख्शा। करीब दो दर्जन पुलिसकर्मी घायल हो गए, जबकि कई जान बचाकर भागते दिखे। फिलहाल हिंसाग्रस्त क्षेत्रों में रैपिड एक्शन फोर्स की 100-100 जवानों की कंपनियां तैनात कर दी गई हैं। देररात तक सभी जगह हालात काबू में रहे।

मुरैना. पुलिस-राहगीरों को पीटा, पांच घंटे तक रेल यात्रियों को बंधक बनाए रखा

यहां लाठी, डंडे और सरिया लेकर बाजार बंद कराने आए दलित समाज के प्रदर्शनकारियों ने आम लोगों को पीटा। बैरियर चौराहे पर काफी देर उपद्रव चला। फिर उन्होंने हाईवे से गुजरने वाले वाहनों, बस में तोड़फोड़ की गई। यह उपद्रव करीब दो घंटे चलता रहा और पुलिस पूरे समय मूक दर्शक बनी रही। जब उपद्रवी ज्यादा हावी हो गए तो पुलिस ने उन्हें खदेड़ा। उपद्रवी बस स्टैंड में घुस गए। यहां पर उपद्रवियों ने तीन बाइक जला दीं। पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़कर बाजार की तरफ खदेड़ दिया। इसके बाद उपद्रवी रेलवे स्टेशन की ओर पहुंच गए। सुबह करीब पौने दस बजे आगरा की ओर से आ रही छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस को उपद्रवियों ने मुरैना स्टेशन पर रोक लिया और ट्रेन पर पथराव कर दिया। कई जगह पटरी उखाड़ दीं। करीब पांच घंटे तक ट्रेन में यात्रियों को बंधक बना लिया। दोपहर तीन बजे ट्रेन को ग्वालियर के लिए रवाना किया गया। जौरा एसडीओपी आरकेएस राठौर, एएसआई आरपी खरे समेत 14 पुलिसकर्मी घायल हो गए। अंचल के सभी थानों में धारा 144 लगा दी गई।

ग्वालियर. चार थाना क्षेत्रों में हिंसा आैर उपद्रवियों का सैलाब

ग्वालियर के चार थाना क्षेत्रों महाराजपुरा, गोला का मंदिर, थाटीपुर आैर मुरार में प्रशासन को कर्फ्यू लगाना पड़ा। हिंसा के दौरान ग्वालियर में दीपक (22) आैर राकेश (40) की मौत हो गई। वहीं डबरा में सुबह सात बजे सबसे पहले बुजुर्ग रोड पर उपद्रवियों ने दुकानों में तोड़फोड़ की। यहां उपद्रवियों पर स्थानीय लोगों ने हमला कर दिया। इसके कुछ देर बाद बड़ी संख्या में उपद्रवी आए और सिटी थाने में पथराव करने लगे। उन्होंने हाईवे से गुजरने वाले लोगों से मारपीट और लूटपाट की। तीन कार और दो ट्रक और 25 से अधिक बाइक जला दीं। बाद में थाना स्टाफ पर भी हमला कर दिया। टीआई अमर सिंह सिकरवार घायल हो गए। इसके बाद हिंदू संगठन और शहर के लोगों ने उपद्रवियों को खदेड़ा।

भोपाल संभाग. अशोक नगर, गुना में हिंसा, बाकी जगह शांति

भोपाल संभाग के अशोकनगर में हिंसा हुई। दलित संगठनों के कार्यकर्ता आपस में ही भिड़ गए। आपस में पत्थरबाजी और मारपीट में तीन कार्यकर्ता एसडीओपी और एसआई घायल हो गए। वहीं गुना में जमकर हंगामा हुआ। 6 दुकानों में तोड़फोड़ की गई, जिसमें दुकानदारों को चाेट भी आई। हंगामे के दौरान पुलिस असहाय सी नजर आई। वहीं रायसेन, राजगढ़ में जबरन दुकाने बंद कराई गईं। जबकि सीहोर में 13 दुकानों में तोड़फोड़ के बाद 423 प्रदर्शनकारियों पर एफआईआर दर्ज की गई। इनमें दो जिला पंचायत सचिव, कांग्रेस नेता गोपाल इंजीनियर समेत 23 के खिलाफ नामजद रिपोर्ट हुई। विदिशा में रैली निकालकर दुकानें बंद कराई गईं।

जबलपुर. कई जगह पथराव, तोड़फोड़, लूट और हंगामा

बालाघाट, मंडला, अनूपपुर, सिवनी और डिण्डौरी में बंद के दौरान पथराव, तोडफ़ोड़ और हंगामे के हालात रहे। प्रशासन ने बालाघाट में धारा 144 लागू कर दी है। शहडोल, उमरिया, नरसिंहपुर, कटनी, दमोह में प्रदर्शनकारियों ने रैलियां निकालकर ज्ञापन दिए। अनूपपुर के पुष्पराजगढ़ में व्यापारी से मारपीट कर गल्ले में रखे 15 हजार रुपए लूट लिए गए।

सागर. पथराव के बाद लाठी चार्ज और आंसू गैस के 50 गोले छोड़े, 5 हिरासत में

यहां हिंसात्मक प्रदर्शन हुआ। कटरा बाजार, भीतर बाजार, नया बाजार, मकरोनिया क्षेत्र में उत्पाती युवक वाहनों में तोड़फोड़ करते रहे। भगवानगंज में शराब दुकान को भी जलाने की कोशिश हुई। हालात बेकाबू देख कलेक्टर आलोक कुमार सिंह ने दोपहर में धारा 144 लगा दी। इसके बावजूद प्रदर्शन जारी रहे। पुलिस ने आंसू गैस के 50 गोले छोड़े। दोपहर करीब 2.30 बजे कलेक्टर ने शहर की इंटरनेट सेवाएं बंद करा दीं। सदर क्षेत्र से 5 लोगों को एहतियातन हिरासत में लिया गया है।

इंदौर. ट्रेन रोकने स्टेशन पहुंचे तो पुलिस ने गेट पर ही रोका
राजबाड़ा, एमपीजी रोड और रीगल पर हंगामा। प्रदर्शनकारियों ने मॉल्स पहुंचकर दुकानें बंद कराईं। फिर 100 से ज्यादा प्रदर्शनकारी रेलवे स्टेशन पहुंचे। यहां पुलिस ने गेट पर ही रोका तो हंगामे की स्थिति बनी। इस बीच चार-पांच लोग ट्रेन के इंजन तक भी पहुंच गए। एक पटरी पर भी कूदा। हालांकि पुलिस ने सभी को खदेड़ा। बंद के कारण उज्जैन, धार-झाबुआ रूट की 25 से ज्यादा बसें नहीं चली।

होशंगाबाद. 8 घंटे सड़क पर तालियां बजाकर दुकानें बंद कराई
शहर में कई जगह प्रदर्शन हुए, पर कहीं हिंसा नहीं हुई। तपती धूप में 8 घंटे तक प्रदर्शनकारी तालियां बजाकर दुकानें बंद कराते रहे। हालांकि उनके जाते ही दुकानदारों ने फिर दुकानें खोल लीं।

खंडवा. रैली निकाली, तीन स्थानों पर बनी विवाद की स्थिति
भीम समुदाय द्वारा भारत बंद के आह्वान के तहत सोमवार सुबह 10 बजे से युवाओं की टोली अलग-अलग क्षेत्रों में दुकानें बंद कराने निकली। इसमें कुछ युवक हाथों में लाठी लेकर निकले। इस कारण पड़ावा, जलेबी चौक, घंटाघर, बांबे बाजार और खारा कुआं गली में विवाद की स्थिति बनी।

रतलाम. पत्थर फेंके, नहीं माने तो एक दुकान में कर दी तोड़फोड़
रतलाम, मंदसौर, नीमच में दलित संगठनों ने सुबह 4:30 बजे से ही रेलवे स्टेशन की दुकानें बंद करा दीं। रतलाम में एक दुकान में तोड़फोड़ कर दी। मंदसौर के पिपलियामंडी, नारायणगढ़, मल्हारगढ़, गरोठ, सीतामऊ, सुवासरा में प्रदर्शन शांतिपूर्ण रहा। नीमच में बंद का ज्यादा असर नहीं दिखा।

उज्जैन . डंडे दिखाकर बंद कराई दुकानें
पांच घंटे तक उपद्रवी हाथ में डंडे लेकर दुकानें बंद कराते रहे। गोपाल मंदिर, देवास, फ्रीगंज में व्यापारियों की प्रदर्शनकारियों से बहस भी हुई। पुलिस बल इनके साथ था, पर वह भी मूकदर्शक बना रहा।

तस्वीर ग्वालियर की है। प्रदर्शन के दौरान गोली लगने से युवक की मौत हो गई। तस्वीर ग्वालियर की है। प्रदर्शन के दौरान गोली लगने से युवक की मौत हो गई।
ग्वालियर में सड़क पर रिवॉल्वर से फायर करता युवक। ग्वालियर में सड़क पर रिवॉल्वर से फायर करता युवक।
ग्वावियर बंदूक में गोली डालता हुआ युवक। ग्वावियर बंदूक में गोली डालता हुआ युवक।
दतिया| लाठीचार्ज में फंसी स्कूल से लौट रही 10 साल  की बच्ची को सब-इंस्पेक्टर ने गोद में लेकर बचाया दतिया| लाठीचार्ज में फंसी स्कूल से लौट रही 10 साल की बच्ची को सब-इंस्पेक्टर ने गोद में लेकर बचाया
ग्वालियर में जली हुई गाड़ियां। ग्वालियर में जली हुई गाड़ियां।
ग्वालियर. जख्मी युवक को ले जाती पुलिस। ग्वालियर. जख्मी युवक को ले जाती पुलिस।
खून से लथपथ पुलिस वाला। खून से लथपथ पुलिस वाला।
तस्वीर उत्तर प्रदेश के मेरठ की है। यहां आंदोलन कर रहे दलित गुट की छात्रों से झड़प हो गई। प्रदर्शनकारियों के बीच फंसे छात्र को लाठी-बेल्ट और ईंटो से पीटा गया। तस्वीर उत्तर प्रदेश के मेरठ की है। यहां आंदोलन कर रहे दलित गुट की छात्रों से झड़प हो गई। प्रदर्शनकारियों के बीच फंसे छात्र को लाठी-बेल्ट और ईंटो से पीटा गया।
अशोकनगर में घायल एक प्रदर्शनकारी। अशोकनगर में घायल एक प्रदर्शनकारी।
ग्वालियर के मुरार में एक युवक को लाठियों से पीटती भीड़। इसका वीडियो जमकर वायरल हुआ। इसके बाद वहां इंटरनेट बंद कर दिया गया। ग्वालियर के मुरार में एक युवक को लाठियों से पीटती भीड़। इसका वीडियो जमकर वायरल हुआ। इसके बाद वहां इंटरनेट बंद कर दिया गया।
मुरैना. महिलाओं को भी तंग करते नजर आए लोग। मुरैना. महिलाओं को भी तंग करते नजर आए लोग।
मुरैना समर्थक लोग ऊपर से पत्थर फेंकते रहे। मुरैना समर्थक लोग ऊपर से पत्थर फेंकते रहे।
भोपाल में कुछ ऐसा था माहौल। भोपाल में कुछ ऐसा था माहौल।
मुरैना | पुलिस-राहगीरों को पीटा, पांच घंटे तक रेल यात्रियों को बंधक बनाए रखा मुरैना | पुलिस-राहगीरों को पीटा, पांच घंटे तक रेल यात्रियों को बंधक बनाए रखा
सागर |  पथराव के बाद लाठी चार्ज और आंसू गैस के 50 गोले छोड़े, 5 हिरासत में सागर | पथराव के बाद लाठी चार्ज और आंसू गैस के 50 गोले छोड़े, 5 हिरासत में
अलवर. जली हुई गाड़ियां और इनसेट में पुलिस वाला बच्ची को गोद में लिए हुए।(दतिया) अलवर. जली हुई गाड़ियां और इनसेट में पुलिस वाला बच्ची को गोद में लिए हुए।(दतिया)
उज्जैन. जबरदस्ती दुकानें बंद कराते हुए। उज्जैन. जबरदस्ती दुकानें बंद कराते हुए।
ग्वालियर | चार थाना क्षेत्रों में हिंसा आैर उपद्रवियों का सैलाब ग्वालियर | चार थाना क्षेत्रों में हिंसा आैर उपद्रवियों का सैलाब
X
sc st act petition bharat bandh violence
तस्वीर ग्वालियर की है। प्रदर्शन के दौरान गोली लगने से युवक की मौत हो गई।तस्वीर ग्वालियर की है। प्रदर्शन के दौरान गोली लगने से युवक की मौत हो गई।
ग्वालियर में सड़क पर रिवॉल्वर से फायर करता युवक।ग्वालियर में सड़क पर रिवॉल्वर से फायर करता युवक।
ग्वावियर बंदूक में गोली डालता हुआ युवक।ग्वावियर बंदूक में गोली डालता हुआ युवक।
दतिया| लाठीचार्ज में फंसी स्कूल से लौट रही 10 साल  की बच्ची को सब-इंस्पेक्टर ने गोद में लेकर बचायादतिया| लाठीचार्ज में फंसी स्कूल से लौट रही 10 साल की बच्ची को सब-इंस्पेक्टर ने गोद में लेकर बचाया
ग्वालियर में जली हुई गाड़ियां।ग्वालियर में जली हुई गाड़ियां।
ग्वालियर. जख्मी युवक को ले जाती पुलिस।ग्वालियर. जख्मी युवक को ले जाती पुलिस।
खून से लथपथ पुलिस वाला।खून से लथपथ पुलिस वाला।
तस्वीर उत्तर प्रदेश के मेरठ की है। यहां आंदोलन कर रहे दलित गुट की छात्रों से झड़प हो गई। प्रदर्शनकारियों के बीच फंसे छात्र को लाठी-बेल्ट और ईंटो से पीटा गया।तस्वीर उत्तर प्रदेश के मेरठ की है। यहां आंदोलन कर रहे दलित गुट की छात्रों से झड़प हो गई। प्रदर्शनकारियों के बीच फंसे छात्र को लाठी-बेल्ट और ईंटो से पीटा गया।
अशोकनगर में घायल एक प्रदर्शनकारी।अशोकनगर में घायल एक प्रदर्शनकारी।
ग्वालियर के मुरार में एक युवक को लाठियों से पीटती भीड़। इसका वीडियो जमकर वायरल हुआ। इसके बाद वहां इंटरनेट बंद कर दिया गया।ग्वालियर के मुरार में एक युवक को लाठियों से पीटती भीड़। इसका वीडियो जमकर वायरल हुआ। इसके बाद वहां इंटरनेट बंद कर दिया गया।
मुरैना. महिलाओं को भी तंग करते नजर आए लोग।मुरैना. महिलाओं को भी तंग करते नजर आए लोग।
मुरैना समर्थक लोग ऊपर से पत्थर फेंकते रहे।मुरैना समर्थक लोग ऊपर से पत्थर फेंकते रहे।
भोपाल में कुछ ऐसा था माहौल।भोपाल में कुछ ऐसा था माहौल।
मुरैना | पुलिस-राहगीरों को पीटा, पांच घंटे तक रेल यात्रियों को बंधक बनाए रखामुरैना | पुलिस-राहगीरों को पीटा, पांच घंटे तक रेल यात्रियों को बंधक बनाए रखा
सागर |  पथराव के बाद लाठी चार्ज और आंसू गैस के 50 गोले छोड़े, 5 हिरासत मेंसागर | पथराव के बाद लाठी चार्ज और आंसू गैस के 50 गोले छोड़े, 5 हिरासत में
अलवर. जली हुई गाड़ियां और इनसेट में पुलिस वाला बच्ची को गोद में लिए हुए।(दतिया)अलवर. जली हुई गाड़ियां और इनसेट में पुलिस वाला बच्ची को गोद में लिए हुए।(दतिया)
उज्जैन. जबरदस्ती दुकानें बंद कराते हुए।उज्जैन. जबरदस्ती दुकानें बंद कराते हुए।
ग्वालियर | चार थाना क्षेत्रों में हिंसा आैर उपद्रवियों का सैलाबग्वालियर | चार थाना क्षेत्रों में हिंसा आैर उपद्रवियों का सैलाब
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..