--Advertisement--

क्लास में पहुंचते ही फिर बोली बच्ची- टीचर करती थी गंदा काम

साढ़े चार साल की मासूम बच्ची के साथ यूरो किड्स स्कूल में हुई कथित अश्लील हरकत के मामला।

Danik Bhaskar | Dec 10, 2017, 07:11 AM IST

इंदौर। साढ़े चार साल की मासूम बच्ची के साथ यूरो किड्स स्कूल में हुई कथित अश्लील हरकत के मामले में पुलिस किसी ठोस नतीजे पर नहीं पहुंच सकी है। शनिवार रात को सादी वर्दी में एडिशनल एसपी धनंजय शाह ने बच्ची के घर जाकर दोबारा बयान लिए और उसे स्कूल भी ले गए।

अपने बयान पर अड़ी रही बच्ची

- बच्ची ने अपने पूर्व में दिए गए बयान ही दोहराए। उसने कहा कि मेरे साथ स्कूल में ही शिक्षिकाओं ने गलत हरकत की है। इसके बाद पुलिस की परेशानी और बढ़ गई है। पुलिस को गुत्थी का सिरा पकड़ नहीं आ रहा है जिससे वह मामले को सुलझा सके। वहीं पुलिस ने स्कूल के सीसीटीवी फुटेज देखे।
- बच्ची दिसंबर में केवल दो दिन स्कूल गई, दोनों ही दिन किसी तरह की संदिग्ध परिस्थिति नजर नहीं आई। अब नवंबर के फुटेज देखे जाएंगे। पुलिस इस लाइन पर भी काम कर रही है कि कहीं बच्ची के साथ स्कूल के बाहर किसी नजदीकी व्यक्ति ने तो हरकत नहीं की है।

- मामले की जांच के लिए डीआईजी ने एएसपी धनंजय शाह सहित दो सीएसपी की टीम गठित की है। इधर एक महिला पुलिसकर्मी भी सिविल ड्रेस में बच्ची के साथ घुल-मिलकर पूछताछ कर रही है पर उसे भी सफलता नहीं मिल सकी है।

मेडिकल रिपोर्ट पर एक्सपर्ट ओपिनियन लेगी पुलिस
इधर बच्ची की मेडिकल रिपोर्ट मल्हारगंज पुलिस को मिली है उसे भी पुलिस अधिकारी एक्सपर्ट कमेंट के लिए मेडिकल बोर्ड को भेज रहे हैं, ताकि मामले की और गंभीरता से जांच हो सके और किसी के साथ कोई गलत न हो।

50 अभिभावक बोले- स्कूल में कुछ गड़बड़ नहीं, हमने अपने बच्चों से पूछ लिया

- भास्कर ने स्कूल की गतिविधियां जानने के लिए शनिवार को स्कूल के पचास अभिभावकों से चर्चा की। ये वो अभिभावक थे जो घटना की जानकारी लगने के बाद स्कूल पहुंचे थे। इन्होंने कहा- हमें कल शाम तक जानकारी मिल गई थी।

- बच्चियों की मां ने देर रात तक कई बार अलग-अलग तरह से बच्चियों से पूछा कि उनके साथ स्कूल में कुछ गलत हरकत तो नहीं हो रही है, लेकिन बच्चियों ने इससे इनकार किया है। व्यापारी चिराग जैन कहा कि उनकी बेटी तीन साल से स्कूल में है लेकिन कभी उसने ऐसी शिकायत नहीं की न कोई ऐसी घटना देखना बताया।

- व्यापारी अमित ने कहा कि उनकी भतीजी स्कूल में पीड़ित बच्ची की क्लास में ही है लेकिन उसने भी कुछ गलत होना नहीं बताया। कुछ परिजन ने तो सीसीटीवी फुटेज चेक कर स्कूल की गतिविधियां चेक की आैर कुछ संदिग्ध नहीं मिलने पर संतोष जताया।

टीचर्स के मोबाइल का डाटा रिकवर करवा रही पुलिस, अभी किसी को क्लीनचिट नहीं
- एएसपी धनंजय शाह ने कहा कि हमारी ओर से किसी को भी अभी क्लीन चिट नहीं दी गई है। हमें स्कूल से 22 नवंबर 2017 तक के सीसीटीवी फुटेज मिले हैं। इनके आधार पर जब-जब बच्ची स्कूल गई है उन सभी दिनों के फुटेज एक टीम चेक कर रही है।

- दिसंबर में 1 व 5 तारीख को ही बच्ची स्कूल गई थी। इन दो दिन में उसके साथ कोई हरकत होना नहीं पाया गया है। लेकिन उसने ये गंभीर आरोप कैसे लगाए इस पर जांच की जा रही है। जिन शिक्षिकाओं पर बच्ची ने अंगुली उठाई थी उनके मोबाइल की सायबर एक्सपर्ट से जांच करवा रहे हैं यदि कोई डाटा डिलीट किया है तो उसे भी रिकवर करवाया जाएगा।

अब 22 से 30 नवंबर तक के फुटेज देखने के बाद स्थिति होगी साफ
- पुलिस की जांच अब 22 नवंबर से 1 दिसंबर तक के सीसीटीवी फुटेज और तीन शिक्षिकाओं के मोबाइल डाटा पर टिकी है। हालांकि कल एक सायबर एक्सपर्ट ने हिरासत में ली गईं तीनों शिक्षिकाओं के मोबाइल चेक किए थे।

- उसमें किसी भी तरह की कोई आपत्तिजनक सामग्री नहीं मिली लेकिन फिर भी उनके मोबाइल को सायबर लैब इसलिए भेजा है कि कहीं कोई डेटा डिलीट तो नहीं किया ये चेक करवाया जा रहा है। ये दोनों जानकारी के बाद काफी हद तक स्कूल में हुई घटना को लेकर स्थिति स्पष्ट होगी।