--Advertisement--

ओलों से सफेद हो गई सड़कें, भोपाल में यहां दिखा शिमला जैसा नजारा

राजधानी के इलाकों में ओलावृष्टी से प्रदेश के किसानों का हाल बेहाल नजर आ रहा है। मंगलवार को भी कई इलाकों में बारिश के साथ

Dainik Bhaskar

Feb 14, 2018, 01:41 AM IST
मध्यप्रदेश के बैतूल के नजदीक आठनेर रोड पर बिछी ओलों की चादर। मध्यप्रदेश के बैतूल के नजदीक आठनेर रोड पर बिछी ओलों की चादर।

भोपाल. मंगलवार को भी मौसम आफत बरपाता रहा। विदिशा, रायसेन, सिवनी, सागर और टीकमगढ़ के कई इलाकों में ओले गिरे। खंडवा, देवास समेत कुछ शहरों में बारिश हुई। होशंगाबाद संभाग के 150, बैतूल के 70 और सीहोर के 60 गांवों में ओलावृष्टि से फसलों को नुकसान पहुंचा है। बैतूल के सावाढाना में 150 कच्चे मकान क्षतिग्रस्त होने की सूचना है। वरिष्ठ मौसम वैज्ञानिक एसके नायक ने बताया कि बुधवार को भी भोपाल समेत कई जगह आंधी-बारिश का अनुमान है।

यहां बारिश और ओलों का असर

बैतूल जिले के 75 से अधिक गांवों में मंगलवार दोपहर एवं शाम को ओलावृष्टि का कहर टूट पड़ा। कहीं बेर तो कहीं आंवले तथा कहीं उससे भी बड़े ओले गिरने से गेहूं, चना, मसूर, तुअर सहित मौसमी फसलों को जमकर नुकसान हुआ। कहीं 15 मिनट तो कहीं आधा घंटा ओले बरसे। इससे खेतों में फसलें आड़ी हो गई। बैतूल ब्लाॅक में जावरा, बैतूल बाजार, जोड़क्या, लोहारिया, भरकावाड़ी, बघोली, भयावाड़ी, सेहरा, कोलगांव सहित आसपास के दो दर्जन गांवों में चने और आंवले के आकार के ओले गिरे। बैतूल-आठनेर मार्ग पर सेहरा जोड़ के पास सड़कों पर ओले की चादर बिछ गई। किसान नेता रमेश गायकवाड़ ने बताया सेहरा से बघोली तक फसलों पर ओलों की मार पड़ी है। खेत में खड़ी गेहूं की फसल आड़ी हो गई है। इसके अलावा चने की फसल को भी जबरदस्त नुकसान हुआ है। किसान शिवपालसिंह राजपूत, विश्वजीत, यशपाल सिंह, ललित, पप्पू ने बताया इन गांवों में मकानों के कवेलू टूट गए। वहीं खेत में फसल भी आड़ी हो गई।

शाहपुर में दो दर्जन गांव प्रभावित


दोपहर 4 बजे दो दर्जन गांवों में 15 से 20 मिनट तक लगातार ओले गिरे। गेहूं, चना, आम, तुअर सहित अन्य फसलों को नुकसान हुआ। सोमवार को शाहपुर, पतौवापुरा में शाम 6 बजे गरज-चमक के साथ बारिश के साथ ओले गिरे। शाहपुर के कोटमी, सोहागपुरढाना, पतौवापुरा, शाहपुर, पहावाड़ी, कोटमी, चापड़ा, जामुनढाना, पावरझंडा, घिसीबागला, कान्हेगांव, आंवरिया, तारा, सेहरा, भग्गूढाना और आसपास के गांवों में तेज बारिश के साथ बेर के आकार के ओले गिरे। घोड़ाडोंगरी ब्लॉक के झाड़कुंड भी प्रभावित हुआ। प्रभारी तहसीलदार सिद्धार्थ जैन, अतिरिक्त तहसीलदार रमेश मेहरा सहित राजस्व अमले ने खेतों में जाकर जायजा लिया। चिचोली ब्लाॅक के केसिया गांव में ओलों की बारिश से आधा दर्जन मकानों के कवेलू फूट गए।

भैंसदेही: 12 गांवों में ओलावृष्टि

12 गांवों में 10 से 15 मिनट तक ओले गिरने से किसानों के खेतों में खड़ी गेहूं और चना की फसलों को नुकसान हुआ। एसडीएम एसडीएम राकेश सिंह मरकाम ने बताया नुकसान का आंकलन कर रहे हैं। मंगलवार सुबह 9 और 10 बजे के बीच पारडी, रायता, मासोद, राक्सी, बोरगांव, आमला, मासोद, जूनावानी, बर्रासायगवान और चिचोलीढाना सहित अन्य गांवों में ओलावृष्टि हुई।

ओलों की मार से पक्षियों की भी मौत


मौड़ीढ़ाना के सूरत पवार, दिनेश पवार ने बताया आंवले के आकार से भी बड़े ओले गिरे। इससे मसूर, चना बर्बाद हो गया। गेहूं की बालियां भी झड़ गईं। कई पक्षी भी ओले की मार से मर गए।

ग्रामीणों ने मंत्री को रोका, कहा- मुआवजा दिलाएं, फिर आगे जाएं

- पिपरई में थिगली के ग्रामीणों ने चक्काजाम कर दिया। उन्होंने वहां से निकल रहे मंत्री लालसिंह आर्य को भी रोका।

- कहा- पहले मुआवजा दिलाएं, फिर जाएं। मंत्री 15 मिनट तक समझाते रहे। लेकिन ग्रामीणों ने उन्हें नहीं जाने दिया। आखिर वे लौट गए।

खेतों में करीब आधा फीट तक ओले गिरे। खेतों में करीब आधा फीट तक ओले गिरे।
खंडवा, देवास समेत कुछ शहरों में बारिश के साथ ओले गिरे। खंडवा, देवास समेत कुछ शहरों में बारिश के साथ ओले गिरे।
बैतूल में कई जगह दिखा ऐसा नजारा। बैतूल में कई जगह दिखा ऐसा नजारा।
ओलों से शिमला और श्रीनगर की तरह हो गई सड़कें। ओलों से शिमला और श्रीनगर की तरह हो गई सड़कें।
विदिशा के लटेरी में भी ओले गिरने से फसलों को नुकसान हुआ। विदिशा के लटेरी में भी ओले गिरने से फसलों को नुकसान हुआ।
पिपरई में थिगली के ग्रामीणों ने चक्काजाम कर दिया। उन्होंने वहां से निकल रहे मंत्री लालसिंह आर्य को भी रोका। पिपरई में थिगली के ग्रामीणों ने चक्काजाम कर दिया। उन्होंने वहां से निकल रहे मंत्री लालसिंह आर्य को भी रोका।
नसरुल्लागंज, रेहटी और आष्टा के कई गांवों में ओले गिरे। नसरुल्लागंज, रेहटी और आष्टा के कई गांवों में ओले गिरे।
मौसम वैज्ञानिक एसके नायक ने बताया कि बुधवार को भी भोपाल समेत कई जगह आंधी-बारिश का अनुमान है। मौसम वैज्ञानिक एसके नायक ने बताया कि बुधवार को भी भोपाल समेत कई जगह आंधी-बारिश का अनुमान है।
Shimla-like scenes showing the hail from white roads
Shimla-like scenes showing the hail from white roads
X
मध्यप्रदेश के बैतूल के नजदीक आठनेर रोड पर बिछी ओलों की चादर।मध्यप्रदेश के बैतूल के नजदीक आठनेर रोड पर बिछी ओलों की चादर।
खेतों में करीब आधा फीट तक ओले गिरे।खेतों में करीब आधा फीट तक ओले गिरे।
खंडवा, देवास समेत कुछ शहरों में बारिश के साथ ओले गिरे।खंडवा, देवास समेत कुछ शहरों में बारिश के साथ ओले गिरे।
बैतूल में कई जगह दिखा ऐसा नजारा।बैतूल में कई जगह दिखा ऐसा नजारा।
ओलों से शिमला और श्रीनगर की तरह हो गई सड़कें।ओलों से शिमला और श्रीनगर की तरह हो गई सड़कें।
विदिशा के लटेरी में भी ओले गिरने से फसलों को नुकसान हुआ।विदिशा के लटेरी में भी ओले गिरने से फसलों को नुकसान हुआ।
पिपरई में थिगली के ग्रामीणों ने चक्काजाम कर दिया। उन्होंने वहां से निकल रहे मंत्री लालसिंह आर्य को भी रोका।पिपरई में थिगली के ग्रामीणों ने चक्काजाम कर दिया। उन्होंने वहां से निकल रहे मंत्री लालसिंह आर्य को भी रोका।
नसरुल्लागंज, रेहटी और आष्टा के कई गांवों में ओले गिरे।नसरुल्लागंज, रेहटी और आष्टा के कई गांवों में ओले गिरे।
मौसम वैज्ञानिक एसके नायक ने बताया कि बुधवार को भी भोपाल समेत कई जगह आंधी-बारिश का अनुमान है।मौसम वैज्ञानिक एसके नायक ने बताया कि बुधवार को भी भोपाल समेत कई जगह आंधी-बारिश का अनुमान है।
Shimla-like scenes showing the hail from white roads
Shimla-like scenes showing the hail from white roads
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..