--Advertisement--

सड़क पर कार खड़ी करने पर रोका, कॉलेज डायरेक्टर ने कॉन्स्टेबल को मारा चांटा

पुलिस ने कॉन्स्टेबल की शिकायत पर शासकीय कार्य में बाधा समेत अन्य धाराओं में प्रकरण दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया।

Dainik Bhaskar

Dec 18, 2017, 06:09 AM IST
Stopped at the car on the road, college director killed the constable

भोपाल. हमीदिया रोड पर बीच सड़क पर कार खड़ी करने से रोकना कॉलेज डायरेक्टर आमिर हसन को इतना नागवार गुजरा की उसने कॉन्स्टेबल को सरेराह जोरदार चांटा रसीद दिया। इससे कॉन्स्टेबल की कैप तक जमीन पर गिर गई। अन्य पुलिसकर्मी आरोपी और दोस्त को थाने पकड़कर ले गए। लोगों के सामने रौब दिखाने वाले डायरेक्टर मामला दर्ज होने की बात सुनते ही माफी मांगने लगे, लेकिन पुलिस ने कॉन्स्टेबल की शिकायत पर शासकीय कार्य में बाधा समेत अन्य धाराओं में प्रकरण दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया। क्या है मामला...


- हमीदिया रोड पर शनिवार शाम ट्रैफिक पुलिस रोड पर खड़े वाहन चालकों को हटाकर ट्रैफिक क्लियर कर रहे थे। टीआई हनुमानगंज सुदेश तिवारी के अनुसार इसी दौरान एक फॉर्च्यूनर कार से बस स्टैंड चौराहा से अल्पना टॉकीज की तरफ निकली। कार चालक ने शराब दुकान से पहले कार बीच सड़क पर खड़ी कर दी।

- यह देख ट्रैफिक पुलिस के कॉन्स्टेबल 28 वर्षीय हितेश राठौर ने कार आगे बढ़ाने को कहा। कार एयरपोर्ट रोड निवासी 27 वर्षीय आमिर हसन पिता खालिद हसन चला रहा था। उसके साथ दोस्त यूसुफ था। हितेश सिपाही से बात कर ही रहा था कि आमिर ने हितेश को चांटा मार दिया। यह देख अन्य पुलिसकर्मी वहां पहुंच गए।

- पुलिस ने आमिर और यूसुफ को पकड़ लिया। रौब दिखाते हुए आमिर बोला कार तो यहीं खड़ी करूंगा। तू मेरा बिगाड़ क्या लेगा। यह सुनते ही पुलिसकर्मी उसें हनुमानगंज पुलिस थाने ले अाए। सूचना मिलते ही डीएसपी ट्रैफिक अजय बायपेयी भी पहुंच गए। आमिर ने पुलिस थाने पहुंचते ही पिता को भी बुला लिया।

- उन्होंने पुलिस पर धौंस जमाते हुए प्रकरण दर्ज न होने देने का प्रयास किया, लेकिन पुलिस नहीं मानी। पुलिस ने आमिर और उसके दोस्त यूसुफ के खिलाफ शासकीय कार्य में बाधा पहुंचाने समेत अन्य धाराओं में एफआईआर दर्ज कर ली। आरोपियों को पुलिस ने रविवार दोपहर न्यायालय में पेश कर दिया, जहां से उन्हें जेल भेज दिया गया है।

...और थाने में निकल गया रौब, गिड़गिड़ाने लगा
- टीआई के अनुसार आमिर हसन एयरपोर्ट रोड पंचवटी काॅलोनी में रहता है। उसका बिलकिसगंज में बीएड, डीएड काॅलेज है। पिता खालिद का रातीबड़ में अभिलाषा नाम से काॅलेज है। यूसुफ एमबीए का छात्र और उसके पिता रायसेन में एक सरकारी स्कूल में शिक्षक हैैं। पुलिस ने जब उसके खिलाफ कार्रवाई करने की बात कही तो आमिर का पूरा रौब निकल गया। वह पुलिस से माफी मांगने के लिए हाथ जोड़ने लगा।

X
Stopped at the car on the road, college director killed the constable
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..