--Advertisement--

विदेश जाने की चाह बढ़ी, इस बार बने 24% ज्यादा पासपोर्ट, ऐसे हुआ खुलासा

लोगों में विदेश जाने की चाह बढ़ी है। इसका खुलासा पासपोर्ट कार्यालय द्वारा जारी किए आंकड़ों से हुआ है।

Dainik Bhaskar

Dec 28, 2017, 06:09 AM IST
The desire to go abroad increased
भोपाल. लोगों में विदेश जाने की चाह बढ़ी है। इसका खुलासा पासपोर्ट कार्यालय द्वारा जारी किए आंकड़ों से हुआ है। पिछले साल की तुलना में इस वर्ष 24 प्रतिशत पासपोर्ट ज्यादा बने हैं। विदेश मंत्रालय ने वर्ष 2018 में सबसे ज्यादा स्टूडेंट के पासपोर्ट बनाने का लक्ष्य निर्धारित किया है। इसके लिए स्टूडेंट कनेक्टिविटी प्रोग्राम चलाया जा रहा है। इसके तहत टीसीएस के कर्मचारी जाकर स्टूडेंट को न केवल दस्तावेजों की जानकारी देंगे, बल्कि दस्तावेजों का वेरिफिकेशन भी करेंगे। जिससे उन्हें किसी तरह की परेशानी का सामना न करना पड़े।

- इसके लिए पासपोर्ट मेला लगाया जा रहा है, जिसकी शुरूआत 18 जनवरी से हो रही है। इस बार एक लाख 78 हजार 780 पासपोर्ट बने हैं। जबकि पिछले साल एक लाख 44 हजार 749 पासपोर्ट बने थे। मई 2012 से ऑनलाइन व्यवस्था लागू होने के बाद पासपोर्ट बनवाने के लिए लोग आगे आ रहे हैं। तब से लेकर 26 दिसंबर 2017 तक प्रदेश में 7 लाख 75 हजार 601 आवेदन पहुंचे जिसमें 7 लाख 27 हजार 103 पासपोर्ट इश्यू किए गए।
कॉलेजों में जाएंगे टीसीएस के कर्मचारी
- क्षेत्रीय पासपोर्ट अधिकारी नीलेश श्रीवास्तव के अनुसार विदेश मंत्रालय ने इस बार स्टूडेंट के ज्यादा पासपोर्ट बनाने लक्ष्य निर्धारित किया है। स्टूडेंट की परेशानियों को दूर करने के लिए अधिकारी और टीसीएस के कर्मचारी कॉलेज में जाकर पासपोर्ट बनवाने की जानकारी देंगे। उनके लिए पासपोर्ट मेले का भी आयोजन करेंगे। इसकी शुरूआत 18 जनवरी से विदिशा से हो रही है। पहला कैंप एसएटीआई आयोजित किया जा रहा है।
X
The desire to go abroad increased
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..