--Advertisement--

राज्यसभा के लिए भाजपा पहली सूची, MP से धर्मेंद्र प्रधान और गेहलोत होंगे कैंडीडेट

मध्य प्रदेश से केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान और थावरचंद गहलोत के नाम तय, प्रदेश की पांच सीटों पर 23 मार्च को चुनाव।

Dainik Bhaskar

Mar 07, 2018, 07:56 PM IST
केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान। केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान।

भोपाल. भारतीय जनता पार्टी ने राज्यसभा चुनाव के लिए उम्मीदवारों की पहली सूची जारी कर दी है। इसमें मध्य प्रदेश से केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान और थावरचंद गेहलोत के नाम तय किए गए हैं। प्रदेश की पांच सीटों पर 23 मार्च को चुनाव होना है, जिनमें चार पर सत्तारूढ़ दल बीजेपी की जीत तय मानी जा रही है। वहीं, एक अन्य सीट कांग्रेस के खाते में जाने की संभावना है।

-भोपाल में एक दिन पूर्व प्रदेश के कोटे से राज्यसभा की पांच सीटों के लिए बीजेपी ने 17 नामों का पैनल तैयार किया था। बीजेपी ने पार्टी हाईकमान को भेजी नामों की सूची में सभी सीटों पर प्रदेश के नेताओं को तरजीह दिए जाने की मांग की थी। नामांकन दाखिल करने की अंतिम तिथि 12 मार्च है और 15 मार्च तक नाम वापस लिए जा सकेंगे।

-मंगलवार को बीजेपी मुख्यालय में हुई भाजपा चुनाव समिति की बैठक में नामों को लेकर चर्चा हुई थी। प्रदेश अध्यक्ष नंदकुमार सिंह चौहान की अध्यक्षता में हुई बैठक में प्रभात झा, कैलाश जोशी, भूपेंद्र सिंह, राजेंद्र शुक्ला, रामकृष्ण कुसुमरिया और संगठन मंत्री सुहास भगत मौजूद रहे थे।

इन नामों का पैनल भेजा...

-जिन नामों का बीजेपी ने पैनल तैयार किया है, उसमें माखन सिंह, विक्रम वर्मा, राकेश चौधरी, विनोद गोटिया, अजय प्रताप सिंह, अरविंद कोटेकर, कैलाश सोनी, ढाल सिंह बिसेन, कविता पाटीदार, धीरज पटेरिया, रघुनंदन शर्मा, मेघराज जैन, रामकृष्ण कुसमारिया, दीपक विजयवर्गीय, लता एलकर, जीतेंद्र जामदार और वेदप्रकाश शर्मा के नाम शामिल हैं। हालांकि, पहली सूची में इनमें से एक भी उम्मीदवार को पार्टी ने उम्मीदवार नहीं बनाया है।

यह रहेगा फार्मूला...
-मौजूदा स्थिति में राज्यसभा की एक सीट के लिए 39 विधायकों के वोटों की आवश्यकता होगी। इस हिसाब से बीजेपी की चार रिक्त हो रही सीटों पर विधानसभा में उसके विधायकों की संख्या के हिसाब से प्रत्याशियों के चयन में कोई दिक्कत नहीं आएगी। इसी तरह कांग्रेस के पास भी पर्याप्त विधायक हैं।

-उल्लेखनीय है कि राज्यसभा चुनाव के लिए सीटें रिक्त होने के ऊपर कितने विधायकों पर एक सीट भरी जाएगी, यह तय होता है। बीते साल प्रदेश से राज्यसभा की चार सीटें रिक्त हुई थी। इस हिसाब से एक सीट के लिए 58 विधायकों की जरूरत थी।

अभी विधानसभा में दलों की स्थिति
बीजेपी -166
कांग्रेस - 57
बसपा - 4
अन्य -3

केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री थावरचंद गेहलोत। केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री थावरचंद गेहलोत।
X
केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान।केंद्रीय पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान।
केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री थावरचंद गेहलोत।केंद्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री थावरचंद गेहलोत।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..