--Advertisement--

भरभरा कर गिरा सेप्टिक टैंक का स्लैब , ऐसे बचाई 7 साल की मासूम की जान

घटना मंगलवार शाम 7 बजे की है।

Danik Bhaskar | Dec 20, 2017, 08:49 AM IST

जबलपुर. तेल मिल के पास टीआईटी कॉलोनी कुचबंधिया मोहल्ला ब्लॉक नं. 2 के पीछे एक सेप्टिक टैंक का स्लैब अचानक भरभराकर गिर गया और इसमें एक 7 साल की मासूम शाजिया लटक गई। लोगों की सतर्कता के चलते शाजिया की जान तो बच गई, लेकिन कॉलोनी के लोगों ने नगर निगम और जेडीए की कार्यप्रणाली काे जम कर कोसा। यह घटना मंगलवार शाम 7 बजे की है।

लोगाें ने बताया कि कुचबंधिया मोहल्ला में बना सेप्टिक टैंक करीब 60 साल पुराना है और यह काफी जर्जर हालत में था।

- इसके सुधार कार्य के लिए 6 माह पहले जोन अधिकारी को पत्र सौंपा गया था और जोन अधिकारी देवेन्द्र चौहान ने मौके का मुआयना करवा दिया था, लेकिन सेप्टिक टैंक का सुधार कार्य नहीं हुआ। लोगों ने बताया िक इस टैंक का सुधार कार्य प्रारंभ नहीं होने के पीछे नगर निगम और जेडीए की लचर कार्यप्रणाली है।

- नगर निगम प्रशासन से शिकायत करो तो कहा जाता है यह जेडीए के अंडर में आता है और जब जेडीए में शिकायत की गई तो कहा जाता है, हमनें यह कॉलोनी नगर निगम को हैण्डओवर कर दी है, अब जो भी कार्य होंगे वह नगर निगम द्वारा कराए जाएंगे। घटना के बाद क्षेत्र में दहशत का माहौल बना हुआ है। हालांकि घटना के बाद मौके पर घमापुर पुलिस भी पहुंच गई और क्षेत्रीय लोगों को समझाइश दी।
बाइक हुई क्षतिग्रस्त

- कुचबंधिया मोहल्ले में सेप्टिक टैंक का स्लैब गिरने से एक बाइक भी क्षतिग्रस्त हो गई। यह बाइक मोहमद ताज की है जो घटनास्थल के पास ही खड़ी थी। लोगों ने बताया कि यह टैंक करीब 10 फीट गहरा है, जो मकान से बिल्कुल सटकर बना हुआ है।

- यदि समय रहते बच्ची शाजिया को नहीं बचाया जाता, तो वह इस 10 फीट गहरे टैंक में गिर सकती थी और कोई बड़ी अनहोनी हो सकती थी। इधर सेप्टिक टैंक के स्लैब पर लोहे के दो पाइप के सहारे शेड भी तान दिया गया था। क्योंिक स्लैब जर्जर हालत में था, इसलिए शेड का वजन भी उसके भरभराकर िगरने का सहायक बन गया।