Hindi News »Madhya Pradesh »Bhopal »News» These Were The Steps Taken By The Friends On Interest

ब्याज पर दोस्तों से लिए थे रुपए, 4 गुना चुकाने के बाद भी नहीं हुआ खत्म तो उठाया ये कदम

सुसाइड नोट और जज के सामने दिए बयान में साथ में काम करने वाले चार दोस्तों पर यह आरोप लगाए हैं।

Bhaskar News | Last Modified - Jan 17, 2018, 04:00 AM IST

ब्याज पर दोस्तों से लिए थे रुपए, 4 गुना चुकाने के बाद भी नहीं हुआ खत्म तो उठाया ये कदम

भोपाल.शहर के छोला मंदिर इलाके में बेस्ट प्राइस के सुपरवाइजर ने मरने के पहले सुसाइड नोट और जज के सामने दिए बयान में साथ में काम करने वाले चार दोस्तों पर यह आरोप लगाए हैं। इलाज के दौरान सोमवार रात उसकी मौत हाे गई। मैंने अपने दोस्तों से 80 हजार रुपए उधार लिए थे। असल से चार गुना रुपए दे चुका था, लेकिन उनका ब्याज ही खत्म नहीं हो रहा था। वह वेतन तक घर नहीं ले जाने देते थे। मैं अपने घर के लिए कुछ नहीं पा रहा हूं। इसलिए मैं आत्महत्या करने जा रहा हूं।

- पुलिस के मुताबिक मकान नंबर-45 गीता नगर, छोला मंदिर निवासी 25 वर्षीय रोहित विश्वकर्मा पिता हरिसेवक विश्वकर्मा बेस्ट प्राइज में सुपर वाइजर था। एएसआई रामराज सिंह के अनुसार दो दिन पहले रोहित ने जहर खा लिया था।

- परिजनों ने उसे निजी अस्पताल में भर्ती कराया था। रविवार रात पुलिस को अस्पताल से रोहित के जहर खाने की सूचना मिली। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर रोहित के जज के सामने बयान कराए। इसमें उसने आरोप लगाए कि उसने साथ में काम करने अपने दोस्तों पंकज, अंशुल, रघुवीर और हरीश से 80 हजार रुपए उधार लिए थे।

- वह रुपए चुका था, लेकिन उनका ब्याज खत्म ही नहीं हाे रहा था। उनके कारण वह घर के लिए कुछ नहीं पा रहा था। इलाज के दौरान सोमवार शाम रोहित की मौत हो गई। इसके बाद रोहित के पिता ने पुलिस को रोहित का लिखा एक सुसाइड नोट दिया है। इसमें भी उसने जज के सामने दिए बयान की ही बातें लिखी हैं। छोला मंदिर पुलिस ने मामला जांच में ले लिया है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Bhopal News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: byaaj par doston se liye the rupaye, 4 gaunaa chukane ke baad bhi nahi hua khatm to uthaayaa ye kdm
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×