--Advertisement--

ब्याज पर दोस्तों से लिए थे रुपए, 4 गुना चुकाने के बाद भी नहीं हुआ खत्म तो उठाया ये कदम

सुसाइड नोट और जज के सामने दिए बयान में साथ में काम करने वाले चार दोस्तों पर यह आरोप लगाए हैं।

Danik Bhaskar | Jan 17, 2018, 04:00 AM IST

भोपाल. शहर के छोला मंदिर इलाके में बेस्ट प्राइस के सुपरवाइजर ने मरने के पहले सुसाइड नोट और जज के सामने दिए बयान में साथ में काम करने वाले चार दोस्तों पर यह आरोप लगाए हैं। इलाज के दौरान सोमवार रात उसकी मौत हाे गई। मैंने अपने दोस्तों से 80 हजार रुपए उधार लिए थे। असल से चार गुना रुपए दे चुका था, लेकिन उनका ब्याज ही खत्म नहीं हो रहा था। वह वेतन तक घर नहीं ले जाने देते थे। मैं अपने घर के लिए कुछ नहीं पा रहा हूं। इसलिए मैं आत्महत्या करने जा रहा हूं।

- पुलिस के मुताबिक मकान नंबर-45 गीता नगर, छोला मंदिर निवासी 25 वर्षीय रोहित विश्वकर्मा पिता हरिसेवक विश्वकर्मा बेस्ट प्राइज में सुपर वाइजर था। एएसआई रामराज सिंह के अनुसार दो दिन पहले रोहित ने जहर खा लिया था।

- परिजनों ने उसे निजी अस्पताल में भर्ती कराया था। रविवार रात पुलिस को अस्पताल से रोहित के जहर खाने की सूचना मिली। पुलिस ने मौके पर पहुंचकर रोहित के जज के सामने बयान कराए। इसमें उसने आरोप लगाए कि उसने साथ में काम करने अपने दोस्तों पंकज, अंशुल, रघुवीर और हरीश से 80 हजार रुपए उधार लिए थे।

- वह रुपए चुका था, लेकिन उनका ब्याज खत्म ही नहीं हाे रहा था। उनके कारण वह घर के लिए कुछ नहीं पा रहा था। इलाज के दौरान सोमवार शाम रोहित की मौत हो गई। इसके बाद रोहित के पिता ने पुलिस को रोहित का लिखा एक सुसाइड नोट दिया है। इसमें भी उसने जज के सामने दिए बयान की ही बातें लिखी हैं। छोला मंदिर पुलिस ने मामला जांच में ले लिया है।