--Advertisement--

तीन सगे भाइयों ने की थी चोरी, लाखों के सामान सहित ऐसे पकड़ाए

मालिक के साथ इंदौर गए पुराने नौकर ने कराई थी बीएस जैन के बंगले में चोरी

Danik Bhaskar | Jan 01, 2018, 07:07 AM IST
सागर. गिरफ्तार आरोपी एवं जब्त जेवर और नकदी। सागर. गिरफ्तार आरोपी एवं जब्त जेवर और नकदी।

सागर. जिस नौकर पर पूरा जैन परिवार भरोसा करता था। उसी ने अपने कुछ साथियों के साथ मिलकर बंगले से लाखों रुपए जेवर और नकदी चोरी करा दिए। यह खुलासा पिछले दिनों पूर्व महापौर नवीन जैन के बंगले पर हुई चोरी के संबंध में हुआ है। रविवार को एसपी सत्येंद्र कुमार शुक्ल और उनकी टीम ने इस बारे में रविवार को पत्रकारों को जानकारी दी। उन्होंने बताया कि इस चोरी में नवीन जैन, नेवी जैन के 10 साल पुराने घरेलू नौकर मनोहर सेन (30) निवासी मछरयाई क्षेत्र थाना मोतीनगर की मुख्य भूमिका रही। मनोहर स्वयं नवीन जैन के साथ इंदौर में एक वैवाहिक समारोह में रहा लेकिन फोन पर उसने धन्नू उर्फ धनप्रसाद(30), पप्पू उर्फ गोविंद (26), लीलाधर कुशवाहा (28) तीनों निवासी गांव बेरखेड़ी पठा थाना सुल्तानगंज जिला रायसेन यह चोरी करवाई। इन चारों से 11 लाख रुपए के सोने-चांदी के जेवर, घड़ी, आर्टिफिशियल ज्वेलरी और 1.94 लाख रुपए बरामद हो गए हैं। एसपी शुक्ल ने कहा कि घरेलू नौकर पर जरूरत से ज्यादा भरोसा करना, इस चोरी का कारण बना। इस अवसर पर एडिशनल एसपी पंकज पांडे अन्य पुलिस अधिकारी-कर्मचारी मौजूद थे।


फिंगरप्रिंट्स लेते समय ही निगाह में गया था मनोहर : मामलेकी जांच करने वाले मोतीनगर थाना प्रभारी अनिल सिंह मौर्य और एसआई रामशरण शर्मा ने बताया कि, मनोहर हम लोगों की निगाह में पहले दिन से ही था। दरअसल जैसे ही हम लोगों ने उसके फिंगर प्रिंट्स लिए तो उसके हाथ कंपकंपाने लगे। अनुभवी नजरें भांप गई इसके बाद उसकी सारी कुंडली निकाली तो इस चोरी के सारे तार पकड़ में गए। इस केस की विशेषता ये रही कि पुलिस ने चोरी गया सारा माल बरामद कर लिया।


बंगले में पहले काम कर चुके सगे भाइयों को चोरी में शामिल किया
एसआई शर्मा के अनुसार आरोपियों में से पप्पू उर्फ गोविंद का एक सगा भाई इसी बंगले में पहले से कार्यरत है। इसके अलाव पप्पू स्वयं भी इस बंगले में काम कर चुका था। इसी दौरान उसकी मुलाकात मनोहर सेन से हुई। पप्पू ने इस वारदात में अपने दो अन्य सगे भाइयों को भी शामिल कर लिया। इसके बाद जैसे ही जैन परिवार के मुख्य सदस्य नवीन जैन उनके बेटे नेवी जैन क्रमश: इंदौर और नरसिंहपुर के लिए निकले तो इसने इन तीनों सगे भाइयों को वारदात करने बुला लिया। इस मामले में एसपी शुक्ल ने टीआई मौर्य, एसआई शर्मा और सिपाही रविंद्र पवार, विष्णु, रणवीर, मुकेश, तंजीम और होमगार्ड राजेंद्र को पुरस्कृत कराने की घोषणा की है। पुलिस ने आराेपियों को कोर्ट में पेश कर एक दिन के रिमांड पर लिया है।



थाने के सामने ही दिखा दी करामात : जिसस्थान पर चोरी हुई है वह पदमाकर नगर के नए थाना भवन के करीब-करीब सामने स्थित है। एक तरह से चाेरों ने पुलिस की भी कोई परवाह नहीं की और यह वारदात कर डाली। इधर पुलिस सूत्रों का कहना है कि इस चोरी में पीड़ित परिवार के करीबी या आसपास के व्यक्ति का हाथ हो सकता है, क्योंकि इतने कम समय मेें केवल जेवरात पर हाथ साफ करना किसी अनजान व्यक्ति का काम नहीं हो सकता है। इस बारे में सीएसपी रवि चौहान का कहना है कि अज्ञात आरोपियों के खिलाफ एफआईआर कर मामला जांच में लिया गया है। जल्द ही आरोपी गिरफ्तार किए जाएंगे।


लाइनमैन बामने का कहना है कि मेरा बेटा बिजली कंपनी में एई है। उसकी शादी के लिए तैयारियों के चलते ये जेवर लिए थे। बामने ने दावा किया है कि चोरी गए जेवर की कीमत करीब 30 लाख रुपए है, जिसकी उन्होंने एक लिस्ट भी पुलिस को सौंपी है। इधर पुलिस के अफसर चोरी गए माल की कीमत इतनी नहीं मान रहे हैं। उनका कहना है कि चोरी हुई है और हम माल बरामद कर लेंगे।
बेटे की शादी के चढ़ाव के लिए थे जेवरात