--Advertisement--

जूते की लेस से गला घोंट मासूम की हत्या, टीचर ने 2 दिन पहले दी थी धमकी

दूसरी क्लास के स्टूडेंट की हत्या का मामला सामने आया है। सोमवार को उसकी डेडबॉडी स्कूल से 11 Km दूर बोरे में मिली।

Dainik Bhaskar

Jan 09, 2018, 02:16 AM IST
मृतक भरत उर्फ कार्तिक। मृतक भरत उर्फ कार्तिक।

भोपाल. शहर में दूसरी क्लास के स्टूडेंट की हत्या का मामला सामने आया है। सोमवार को उसकी डेडबॉडी स्कूल से 11 Km दूर बोरे में मिली है। शुरूआती जांच में पता चला है कि उसकी हत्या, जूते के लेस से गला घोटकर की है। वहीं इस मामले में ट्यूशन टीचर को अरेस्ट किया गया है। क्या है मामला...

- दरअसल, बैरागढ़ के क्राइस्ट मेमोरियल स्कूल में सेकेंड क्लास के आठ साल के भरत उर्फ कार्तिक की स्कूल से अगवा कर हत्या कर दी गई। बोरे में बंद उसकी डेडबॉडी सोमवार शाम स्कूल से 13 किमी दूर मुबारकपुर जोड़ के पास मिला। बच्चा दोपहर ढाई बजे से लापता था।

- छुट्टी के बाद भी घर नहीं पहुंचने पर पिता परसराम ने तलाश शुरू की। थाने में भी सूचना दी। कुछ देर बाद शाम को परवलिया थाना इलाके में बोरे में डेडबॉडी मिलने की सूचना मिली। पुलिस ने खोलकर देखा तो भरत की ही डेडबॉडी थी।

- उसी के जूते की लेस से गला घोंटा गया था। स्कूल बैग और जूते बोरे में ही ठूंसकर भरे थे। भरत की मां सविता ने ट्यूशन टीचर बिट्टू पर बेटे की हत्या का आरोप लगाया है। बताया कि बिट्टू की हरकतें ठीक नहीं होने के चलते पति ने बच्चों की ट्यूशन छुड़वा दी थी।

- दो दिन पहले बिट्टू ने धमकी भी दी थी कि पति को छोड़कर उसके साथ चली आऊं वर्ना सबकुछ बर्बाद कर देगा। पुलिस ने बिट्टू को हिरासत में लिया है।


मौत से पहले मासूम ने किया संघर्ष
- भरत ने मौत से पहले जमकर संघर्ष किया। एसएफएल के डॉ. अतुल गौर के अनुसार बच्चे के घुटने पर घसीटे जाने के जख्म मिले हैं।

- यह निशान आरोपी के गला दबाने के दौरान भरत के संघर्ष करने के दौरान आए होंगे, लेकिन उम्र कम होने के कारण वह ज्यादा देर तक संघर्ष नहीं कर पाया।


गला ऐसे कसा कि गांठ भी नहीं खोल पाई पुलिस
- पुलिस ने डेडबॉडी मिलने के बाद बाहर निकाला तो गले में इतनी कसकर गांठें लगी थीं कि इन्हें पुलिस भी नहीं खोल पाई।

- हत्या के बाद आरोपी ने बोरी में बच्चे का शव ठूंसकर उसमें बैग और जूते भरकर उसे अच्छी तरह कई जगह से सिल दिया था, जिससे कोई कुछ समझ न पाए।

- परिजनों के संदेह के आधार पर कुछ लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रहे हैं। कुछ अहम सुराग मिले हैं। जल्द ही आरोपी को पकड़ लेंगे।

मासूम को अगवा करने से लेकर शव फेंकने तक के दो चश्मदीद

- भरत की छोटी बहन कनक के मुताबिक, छुट्टी होने पर मैं स्कूल के बाहर आ गई। भाई झूला झूलते दिखा था। उसके बाद वह गायब हो गया। ऑटाे में जाते वक्त वह बिट्टू अंकल के साथ दिखा। वह गली में छिप रहा था। तभी नकाब पहनकर बिट्टू अंकल ने भरत को बोरे में भर लिया।

- जनपद सदस्य भैरोसिंह कुशवाहा के मुताबिक दोपहर 3 बजे मैंने बाइक सवार को बोरी फेंकते देखा था। मुझे लगा किसी ने कचरा फेंका होगा। मैं घर चला गया। शाम 6:30 बजे दो लड़कों ने बोरी खोली तो वे चीखने लगे। मैं पहुंचा तो देखा कि स्कूल ड्रेस में एक बच्चे का शव बोरी में था।

ऑटो वाला बोला- जल्दबाजी में लाना भूल गया

- भरत सोमवार को छोटी बहन के साथ स्कूल गया था। परमानंद (ऑटो चालक) तीन बजे कनक को लेकर पहुंचा। भरत नहीं था। पूछने पर उसने कहा कि जल्दबाजी में भूल गया। मैं तत्काल स्कूल गया, लेकिन स्कूल वालों ने यह कहते हुए पल्ला झाड़ लिया कि बच्चा समय पर स्कूल से निकल गया था।

- शाम करीब 4 बजे मैं बैरागढ़ थाने पहुंचा और गुमशुदगी दर्ज कराई। पहले ही बिट्टू पर शक जताया लेकिन पुलिस ने ध्यान नहीं दिया। करीब 2 घंटे बाद उसका डेडबॉडी मिलने की खबर आई।

लाश एक बोरे में मिली थी। लाश एक बोरे में मिली थी।
दूसरी क्लास में पढ़ता था छात्र। दूसरी क्लास में पढ़ता था छात्र।
भरत के परिजन। भरत के परिजन।
X
मृतक भरत उर्फ कार्तिक।मृतक भरत उर्फ कार्तिक।
लाश एक बोरे में मिली थी।लाश एक बोरे में मिली थी।
दूसरी क्लास में पढ़ता था छात्र।दूसरी क्लास में पढ़ता था छात्र।
भरत के परिजन।भरत के परिजन।
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..