Hindi News »Madhya Pradesh »Bhopal »News» Tigers In Panna Tiger Reserve, Found Dead In Wires

पन्ना टाइगर रिजर्व में बाघिन का शिकार, तारों में फंसा मिला शव

कोर एरिया के बीचों बीच शिकार होने से टाइगर रिजर्व की सुरक्षा पर सवाल उठे हैं।

Bhaskar News | Last Modified - Dec 21, 2017, 06:35 AM IST

  • पन्ना टाइगर रिजर्व में बाघिन का शिकार, तारों में फंसा मिला शव
    फाइल फोटो।

    पन्ना (भोपाल).पन्ना टाइगर रिजर्व के कोर एरिया में एक युवा बाघिन का शिकार हुआ है। कोर एरिया के बीचों- बीच गहरीघाट रेंज की बीट कोनी में बाघिन पी-521 का शव तारों में फंसा मिला है। इससे प्रथम दृष्टया लगता है कि किसी ने उसका शिकार किया है। बाघिन का शिकार होने की खबर आते ही टाइगर रिजर्व क्षेत्र में अफरा तफरी मच गई। कोर एरिया के बीचों बीच शिकार होने से टाइगर रिजर्व की सुरक्षा पर सवाल उठे हैं।

    - बुधवार को परिक्षेत्र अधिकारी हिनौता को बाघिन का शिकार होने की जानकारी मिली। इसके बाद टाइगर रिजर्व की टीम ने हाथियों से बीट कोनी में सर्च कराई । बाघिन का शव लोहे की तार में फंसा हुआ पाया गया।

    - अधिकारियों ने मौके पर पहुंच कर पंचनामा सहित अन्य कागजी खानापूर्ति की और डाग स्कॉवाड को बुलाया। सर्चिंग के बावजूद शिकारियों की कोई जानकारी नहीं लगी है। बाघिन के शव का पीएम कराया गया।

    - राष्ट्रीय बाघ संरक्षण प्राधिकरण के नामांकित प्रतिनिधि राजेश दीक्षित और क्षेत्र संचालक पन्ना टाइगर रिजर्व की मौजूदगी में बाघिन के शव का पोस्ट मार्टम डा. संजीव कुमार गुप्ता, वन्यप्राणी चिकित्सक पन्ना टाइगर रिजर्व ने किया।

    प्रदेश में दिसंबर में शिकार का चौथा मामला
    - इससे पहले 10-11 दिसंबर को शहडोल और उमरिया जिले की सीमा से लगे मालाचुआ के जंगल में एक बाघिन और शावक का करंट लगाकर शिकार किया गया था।

    - 3 दिसंबर को घुनघुटी परिक्षेत्र के अर्जुनी बीट में 5 शिकारियों ने करंट लगाकर एक बाघ मारा गया था। मप्र में फिलहाल बाघों की संख्या 308 है।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Bhopal News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: Tigers In Panna Tiger Reserve, Found Dead In Wires
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×