--Advertisement--

वर्दी पहनकर महिला को किया किडनैप, फिल्मी स्टाइल ऐसे दिया वारदात को अंजाम

पन्ना के अमानगंज में फिल्मी स्टाइल में किडनैप, घटना के 24 घंटे बाद भी बदमाश पुलिस गिरफ्त से दूर।

Danik Bhaskar | Jan 29, 2018, 05:12 AM IST

छतरपुर (भोपाल) . पन्ना जिले के अमानगंज थाना क्षेत्र में बीती रात करीब 11.30 बजे हथियार बंद 5 बदमाशों ने फिल्मी स्टाइल में न केवल डायल-100 टीम के पुलिसकर्मियों को बंधक बनाया, बल्कि उन्हीं की वर्दी पहनकर वो गांव में गए और एक युवती को किडनैप कर फरार हो गए। हालांकि अपहरण करने के बाद उन्होंने पुलिस टीम को ठीक उसी जगह छोड़ा, जहां से उन्हें बंधक बनाया था। जाते-जाते वर्दी भी फेंक गए। यहां एक-दूसरे की मदद से पुलिसकर्मियों ने रस्सी से बंधे हाथ खोले और घटना की सूचना चौकी महेबा सहित थाना अमानगंज को दी। वारदात के बाद डीआईजी कई आला अधिकारियों ने इलाके में घेराबंदी की और जांच शुरू की, पर घटना के 24 घंटे बीत जाने के बाद भी पुलिस बदमाशों तक नहीं पहुंच सकी है।

बंधक बनाकर दूसरी गाड़ी में बंद कर दिया था
- वारदात को एक जिलाबदर अपराधी देवराज सिंह ने चार अन्य साथियों के साथ अंजाम दिया। बंधक बनाए गए पुलिसकर्मियों ने बताया कि 27 जनवरी की रात करीब 11:36 बजे अमानगंज थाना की डायल 100 (एफआरबी-5) के पास फोन आया कि ग्राम टांई में एक शराबी व्यक्ति नशे में उत्पात मचा रहा है।

- इस सूचना पर डायल-100 की टीम मौका स्थल टांई पहुंची। जहां पर सड़क किनारे एक युवक पड़ा मिला। पुलिस स्टाफ ने गाड़ी से उतरकर उक्त युवक को जैसे ही उठाने का प्रयास किया। जमीन पर लेटे आरोपी ने तत्काल ही उन पुलिस कर्मियों पर कट्टा तान दिया।

- इतने में ही पास में ही खड़े अन्य चार बदमाश आ गए। इन्होंने उन पुलिस कर्मियों और पायलट को बंधक बना लिया। उनकी वर्दी उतरवाई और उन्हें पास में ही खड़ी एक अन्य जीप में अंदर बांधकर डाल दिया। इसके बाद आरोपी उसी डायल 100 वाहन से बमुरहा गांव पहुंचे।

गांव पहुंचकर आरोपी बोले: थाने चलो टीआई बुला रहे हैं
- बमुरहा गांव पहुंचते ही बदमाशों ने एक घर का दरवाजा खटखटाया तो लड़की का पिता बाहर आया। पुलिस की वर्दी में आरोपियों ने पीड़ित से कहा कि उसके घर से थाने में फोन आया है। थाने चलिए टीआई ने बुलाया है।

- पीड़ित परिवार ने आनाकानी की, लेकिन आरोपी नहीं माने और पिता, चाचा और उसकी 18 वर्षीय पुत्री को जबरन उठाकर ले आए। आरोपी कुछ ही दूर चलने के बाद टौराह मोड के पास रुक गए और उन्होंने डायल 100 रोककर लड़की के पिता और चाचा को धमकाकर गाड़ी से उतार दिया, जबकि लडकी का अपहरण कर भाग गए।

आदतन अपराधी का नाम आया सामने

- घटना की जानकारी लगते ही डीआईजी अनिल माहेश्वरी सहित बड़ी संख्या में पुलिसबल मौके पर पहुंचा व पूरे मामले को संज्ञान में लिया। घटना को अंजाम देने वाले की पहचान आदतन आरोपी देवराज सिंह के रूप में हुई। चार अन्य आरोपी भी उसके साथ थे।