Hindi News »Madhya Pradesh »Indore »News» World Famous Bhagoria Festival In Madhya Pradesh

यहां होली पर पान खिलाकर करते हैं प्यार का इजहार, महिलाएं पीती हैं शराब

दोनों एक दूसरे को चुनने के बाद घर से भाग जाते हैं और तब तक नहीं आते जब तक फैमिली शादी के लिए नहीं मान जाती।

DainikBhaskar.Com | Last Modified - Mar 02, 2018, 08:12 AM IST

  • यहां होली पर पान खिलाकर करते हैं प्यार का इजहार, महिलाएं पीती हैं शराब
    +5और स्लाइड देखें
    पान खिलाने की कोशिश करता हुआ एक व्यक्ति।

    झाबुआ(इंदौर).होली के मौके पर मध्यप्रदेश के निमाड़ में फेमस भगोरिया मेला वर्ल्ड फेमस है। यह भील और भिलाला आदिवासियों की प्रेम और शादी से जुड़ा पारंपरिक मेला है। भगोरिया मेले में टूरिस्टों की भरमार रहती है। ये मेला इस बात के लिए भी फेमस है कि इस मेले में लड़के लड़कियों को पान खिलाकर अपने प्यार का इजहार करते हैं और शादी के लिए अपनी बात रखते हैं। साथ ही साथ में विदेशियों के आने के कारण यहां पर विदेशी शराब भी काफी मात्रा में मिलती है जिस कारण यहां के युवा-युवती भी अंग्रेजी शराब पीते हुए नजर आते हैं। ऐसे करते हैं प्यार का इजहार...

    - ढोल-मांदल की थाप पर सज-धजकर युवा मेले में आते हैं। आदिवासी युवतियां भी रंग-बिरंगे कपड़ों में सजकर पहुंचती हैं।
    - लड़के मनपसंद हमसफर तलाशते हैं। तलाश पूरी होने पर वे लड़की को पान खिलाते हैं।
    - फेस्टिवल के दौरान लड़के जिस लड़की को चाहते हैं उसके फेस पर रेड पाउडर लगाते हैं और अगर लड़की को यह रिश्ता मंजूर है तो वह लड़के को भी वही पाउडर लगाती है। इसके बाद वे दोनों भाग जाते हैं।
    - लेकिन अगर पहले चांस में अगर लड़की राजी न हुई तो लड़के को उसे मनाने के लिए और कोशिश करनी होती है।
    - भागने की वजह से ही इसे 'भगोरिया पर्व' कहा जाता है।
    - इसके कुछ दिनों बाद आदिवासी समाज उन्हें पति-पत्नी का दर्जा दे देता है।

    ऐसे शुरू हुआ भगोरिया मेला

    - ऐसी मान्यता है कि भगोरिया की शुरुआत राजा भोज के समय से हुई थी। उस समय दो भील राजाओं कासूमार औऱ बालून ने अपनी राजधानी भगोर में मेले का आयोजन करना शुरू किया।
    - धीरे-धीरे आस-पास के भील राजाओं ने भी इन्हीं का अनुसरण करना शुरू किया, जिससे हाट और मेलों को भगोरिया कहने का चलन बन गया। हालांकि, इस बारे में लोग एकमत नहीं हैं।
    - उधर, भील जनजाति में दहेज का रिवाज़ उल्टा है। यहां लड़की की जगह लड़का दहेज देता है। इस दहेज से बचने के लिए ही भगोरिया परंपरा का जन्म हुआ था।

  • यहां होली पर पान खिलाकर करते हैं प्यार का इजहार, महिलाएं पीती हैं शराब
    +5और स्लाइड देखें
    लेडी को पान देता युवक।
  • यहां होली पर पान खिलाकर करते हैं प्यार का इजहार, महिलाएं पीती हैं शराब
    +5और स्लाइड देखें
    लड़की को
  • यहां होली पर पान खिलाकर करते हैं प्यार का इजहार, महिलाएं पीती हैं शराब
    +5और स्लाइड देखें
    महिला अंग्रेजी शराब पीते हुए।
  • यहां होली पर पान खिलाकर करते हैं प्यार का इजहार, महिलाएं पीती हैं शराब
    +5और स्लाइड देखें
    बहुत मात्रा में शराब मिलती है।
  • यहां होली पर पान खिलाकर करते हैं प्यार का इजहार, महिलाएं पीती हैं शराब
    +5और स्लाइड देखें
Topics:
आगे की स्लाइड्स देखने के लिए क्लिक करें
दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Indore News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: World Famous Bhagoria Festival In Madhya Pradesh
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×