Hindi News »Madhya Pradesh »Bhopal »News» सड़क के बीचोंबीच चबूतरे पर स्थापित है 20 फीट ऊंचा अशोक स्तंभ

सड़क के बीचोंबीच चबूतरे पर स्थापित है 20 फीट ऊंचा अशोक स्तंभ

पुराने शहर के बाग उमराव दूल्हा में गुप्तकालीन पाषाण(पत्थर) स्तम्भ अशोक स्तम्भ सड़क के बीचोंबीच चबूतरे पर...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 03, 2018, 02:00 AM IST

पुराने शहर के बाग उमराव दूल्हा में गुप्तकालीन पाषाण(पत्थर) स्तम्भ अशोक स्तम्भ सड़क के बीचोंबीच चबूतरे पर विद्यमान है। यह स्तम्भ सन् 1880 में भोपाल की शाहजहां बेगम ने भोपाल या उसके आसपास स्थित किसी विष्णु मंदिर से यहां लाकर स्थापित किया था। स्तम्भ 20 फुट ऊंचा है, जिसके शीर्ष पर उल्टे कमल पुष्प का अंकन है। शीर्ष के चारों ओर लोहे के हुक लगे हैं जो कि परिवर्तीकाल में इस स्तम्भ को लेम्प पोस्ट के रूप में उपयोग में लाए जाने को इंगित करते है। स्तम्भ का ढाई फुट अधोभाग खुरदुरा है इसके ऊपर के भाग में ओपदार चमकदार पालिश है, जिसके मध्य भाग में शंखलिपि का लेख है। स्तम्भ का निर्माण एक ही पत्थर से किया गया है और पाषाण पर जो लेप किया गया है वह इस प्रकार से किया गया है कि स्तम्भ धातु निर्मित सा आज भी लगता है। वर्तमान में स्तम्भ सड़क के बीचोंबीच चैराहे पर स्थित होने के कारण स्तम्भ जिस चबूतरे पर बना है उस पर आम लोग बैठने के लिए उपयोग करते हैं। बाग उमराव दूल्हा क्षेत्र भोपाल नवाबी दौर में दस-बारह एकड़ में फैला हुआ था।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×