Hindi News »Madhya Pradesh »Bhopal »News» फुटपाथ पर दुकानें, रोड पर पार्किंग

फुटपाथ पर दुकानें, रोड पर पार्किंग

हमीदिया रोड | सिटी प्लस रिपोर्टर पुराने शहर के सबसे अधिक ट्रैफिक के दबाव वाली सड़कों पर हालात सुधर ही नहीं रहे...

Bhaskar News Network | Last Modified - Feb 03, 2018, 02:00 AM IST

हमीदिया रोड | सिटी प्लस रिपोर्टर

पुराने शहर के सबसे अधिक ट्रैफिक के दबाव वाली सड़कों पर हालात सुधर ही नहीं रहे हैं। हमीदिया रोड और राॅयल मार्केट रोड पर राहगीरों के चलने के लिए बने फुटपाथ पर दुकानें लग रही हैं, जबकि रोड पर पार्किंग हो रही है। राहगीर अपनी जान जोखिम में डालकर राेड पर चलने को मजबूर हैं। ये सब कुछ उन सड़कों पर हो रहा है जहां से निगम का अतिक्रमण विरोधी अमला रोजाना गुजरता है और यहीं खुद निगम के जोन और वार्ड कार्यालय भी हैं।

अल्पना तिराहे से भोपाल टॉकीज चौराहे तक रोड किनारे करीब डेढ़ किमी लंबे फुटपाथ पर फुटकर दुकानदारों का कब्जा ऐसा होता है कि लोगों को पैदल चलने तक की जगह नहीं मिलती।

यहां खरीददारी करने आने वाले लोग अपने वाहनों को रोड पर ही खड़े करते हैं जो ट्रैफिक में बाधक बनते हैं। ऐसी स्थिति में पैदल चलने वाले लोग रोड पर ही चलने को मजबूर हैं।

प्रशासन की अनदेखी

वार्ड-18

ये हैं फुटपाथ के हालात: रोड पर ही बना लिया अघोषित मार्केट, लोग सड़क पर चलने को मजबूर

हमीदिया रोड के फुटपाथ पर ऐसे लगती हैं अस्थाई दुकानें

हमीदिया रोड के फुटपाथ पर दुकानें लगने के कारण रोड तक वाहनों का जमावड़ा रहता है। पांच फीट आगे तक रोड पर दुकानें लग जाती हैं। ऐसे में दुर्घटना की आशंका बनी रहती है।

जोखिम में रहती है जानघोड़ा नक्कास निवासी हाजी मो. सगीर का कहना है कि रॉयल मार्केट पर फुटपाथ पर दुकानें लगने के कारण राहगीरों की जान खतरे में ही रहती है। अधिकांश लोग ऐसे होते हैं जो अस्पताल आवाजाही करते हैं। हेवी ट्रैफिक के बीच से उन्हें रोड पार करना पड़ती है। लिहाजा फुटपाथ पर दुकानें लगाने पर नगर निगम को प्रतिबंध लगाना चाहिए। इसके कारण जाम की समस्या तो इस रोड पर दिनभर ही बनी रहती है।

फुटपाथ पर गड्‌ढे

सुल्तानिया जनाना अस्पताल के सामने बने फुटपाथ पर तो गहरे-गहरे गड्‌ढे हो गए हैं। इस फुटपाथ से अक्सर महिलाएं सुल्तानिया जनाना अस्पताल जाती हैं, लेकिन जगह-जगह गड्‌ढे, बीचोंबीच लगा ट्रांसफार्मर राहगीरों की जान के लिए खतरा बना हुआ है। यहां से अवरोध हटना चाहिए।

हमीदिया मेन गेट के सामने अव्यवस्था

हमीदिया अस्पताल के सामने फुटपाथ पर तो दिनभर मेले जैसा दृश्य रहता है। अव्यवस्था का आलम ये होता है कि फुटपाथ पर दुकानें, रोड पर पार्किंग, मिनी बसें, मैजिक, तीन पहिया ऑटो रहते हैं।

मॉनिटरिंग होना जरूरी

केवल रोजाना अतिक्रमण हटाने से कुछ नहीं होगा। निगम को चाहिए कि वह जिन स्थानों से अतिक्रमण हटाए वहां मॉनिटरिंग की व्यवस्था करे। ताकि दोबारा अतिक्रमण न हो। नगर निगम को व्यवस्थाएं मजबूत करना चाहिए। इसरार हुसैन, रिटायर्ड इंजीनियर, नगर निगम

छोटा तालाब : फुटपाथ पर तो कदम-कदम पर गड्ढे

छोटे तालाब किनारे बने फुटपाथ पर दोनों तरफ कदम-कदम पर गड्ढे हैं। एक फुटपाथ सुल्तानिया अस्पताल को और दूसरा काली मंदिर को जोड़ता है। यहां से बड़ी संख्या में राहगीर आवाजाही करते हैं।

फुटपाथ से दुकानंे हटेंगी

फुटपाथ आम राहगीरों के चलने के लिए हैं। अगर यहां दुकानें लग रही हैं तो उन्हें तत्काल हटाने की कार्रवाई की जाएगी। नगर निगम लगातार अतिक्रमण हटाने की कार्रवाई कर रहा है। एमपी सिंह, अपर आयुक्त, नगर निगम

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए News in Hindi, Breaking News सबसे पहले दैनिक भास्कर पर |

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×