--Advertisement--

बॉटनी के लेसंस 42 साल बाद भी हैं याद

Âडॉ. तेनगुरिया, डॉ. मिसेस बिसेन, डॉ. अमरजीत बजाज, डॉ. एमसी वर्मा, डॉ. नीरज अग्निहोत्री, डॉ. रघुवंशी, अरुण श्रीवास्तव,...

Dainik Bhaskar

Feb 01, 2018, 02:05 AM IST
Âडॉ. तेनगुरिया, डॉ. मिसेस बिसेन, डॉ. अमरजीत बजाज, डॉ. एमसी वर्मा, डॉ. नीरज अग्निहोत्री, डॉ. रघुवंशी, अरुण श्रीवास्तव, बीके चंसौरिया, नीलिमा आप्टे, रंजना अरोरा, अशोक जाधवानी, रवि कौल,

कपूर सिंह, अनिल खरे, हेमचंद, विनोद शर्मा, चंद्रशेखर दुबे, विजय चौबे, मिलन भोरकर, हरीश चौरसिया, राजेश खरे और अनिल पगारे।

एमवीएम कॉलेज भोपाल एमएससी बॉटनी के 1974-76 के बैचमैट्स ने 42 साल बाद किया री-यूनियन। इसमें शामिल हुए अलग-अलग फील्ड में आला पदों पर रहे जजेस, बैंक प्रोफेशनल्स, प्रोफेसर, बिजनेस पर्सन और एग्रीकल्चरिस्ट।

इ स री-यूनियन में जहां एक तरफ इतने सालों बाद मिलने के बावजूद भी पुराने दोस्तों की दोस्ती में कोई कमी नहीं देखने को मिली, ठीक वैसे ही बॉटनी के लेसंस भी कोई नहीं भूला। यही कारण था कि खाने के मीनू में हर डिश का साइंटिफिक नेम यूज़ किया गया। री-यूनियन के को-ऑर्डिनेटर अनिल खरे ने बताया, इस इवेंट के लिए जापान, अमेरिका, मुंबई, नागपुर से एल्म्नाय आए।

Âरेखा गुप्ता, रीतम किशोर, राधा गुप्ता, इंदिरा डबराल।

X
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..