• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Bhopal News
  • News
  • चार साल में 5.6% बढ़ी देश की कामकाजी आबादी, शहर के 25% युवाओं की पहली पसंद आंत्रप्रेन्योरशिप
--Advertisement--

चार साल में 5.6% बढ़ी देश की कामकाजी आबादी, शहर के 25% युवाओं की पहली पसंद आंत्रप्रेन्योरशिप

सीआईआई, वीबॉक्स और पीपुलस्ट्रॉन्ग ने जारी किया इंडिया हायरिंग इंटेंट सर्वे, शहर के एजुकेशनल इंस्टीट्यूट के...

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 02:15 AM IST
सीआईआई, वीबॉक्स और पीपुलस्ट्रॉन्ग ने जारी किया इंडिया हायरिंग इंटेंट सर्वे, शहर के एजुकेशनल इंस्टीट्यूट के मुताबिक कई युवा रिजेक्ट कर देते हैं जॉब ऑफर्स

सिटी रिपोर्टर | भोपाल

एम्प्लॉयबिलिटी पर हाल ही में सीआईआई, वीबॉक्स और पीपुलस्ट्रॉन्ग ने इंडिया हायरिंग इंटेंट सर्वे जारी किया है। इस सर्वे के मुताबिक, देश में फ्रेश टैलेंट पिछले पांच सालों में बहुत तेजी से बढ़ा है। एम्प्लॉयएबल पॉपुलेशन में भी पिछले चार साल में 5.6 प्रतिशत का इजाफा हुआ है, जो बताता है कि देश में अपने पैरों पर सफलता पूर्वक खड़े युवाओं की संख्या तेजी से बढ़ रही है। 2014 में ऐसे लोगों की संख्या जहां करीब 33 प्रतिशत थी, वहीं इस साल के ताजा सर्वे में देश की एम्प्लॉयएबल पॉपुलेशन करीब 45.60 प्रतिशत आई है। देश में इतनी तेजी से बढ़ रही एम्प्लॉयएबल पॉपुलेशन के बीच सिटी भास्कर ने जब शहर के युवाओं का जॉब्स को लेकर रुझान जानने की कोशिश की, तो सामने आया कि शहर के करीब 25 प्रतिशत युवा जॉब ऑफर्स रिजेक्ट कर आंत्रप्रेन्योरशिप को अपना रहे हैं।

\"होली के रंग आपके संग\' कार्यक्रम आज

सिटी रिपोर्टर | मधुबन का 48वां फागोत्सव होली के रंग आपके संग रविवार 4 मार्च को मानस उद्यान लालघाटी में शाम 6 बजे किया जाएगा। संस्था के निदेशक पं. सुरेश तांतेड़ ने बताया कि कार्यक्रम में वरिष्ठ पत्रकार महेश श्रीवास्तव के जीवन के 75 वर्ष होने के उपलक्ष्य में उनका अमृत अभिषेक होगा। साथ ही पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर को बिजूका सम्मान से सम्मानित किया जाएगा। इस मौके पर मालवी लोकनृत्य, होली गीत और मप्र गान की प्रस्तुति बच्चों द्वारा दी जाएगी।

प्रो. दसनवी पर केंद्रित राष्ट्रीय सेमिनार आज

सिटी रिपोर्टर | मध्यप्रदेश उर्दू अकादमी 4 मार्च को राष्ट्रीय सेमिनार आयोजित कर रही है। राज्य संग्रहालय में आयोजित होने वाला यह सेमिनार प्रख्यात साहित्यकार, प्रो. अब्दुल कवि दसनवी की साहित्यिक सेवा पर आधारित होगा। सेमिनार में देश के प्रख्यात साहित्यकार एवं लेखक शामिल होंगे। मध्यप्रदेश उर्दू अकादमी की सचिव डॉ. नुसरत मेहंदी ने बताया कि सेमिनार के मुख्य अतिथि पूर्व सांसद कैलाश नारायण सारंग और नज्मुनिसा दसनवी होंगे। इसके साथ ही अली मुत्तकी दसनवी का व्याख्यान होगा। सेमिनार सुबह 10 बजे शुरू होगा।

इग्नू : एमफिल-Phd एंट्रेस एग्जाम आज

सिटी रिपोर्टर | इन्दिरा गांधी राष्ट्रीय मुक्त विश्वविद्यालय वर्ष 2018 के लिए एमफिल और पीएचडी का एंट्रेंस एग्जाम 4 मार्च को आयोजित करेगा। इसमें पूरे देश से 4000 से ज्यादा कैंडिडेट 16 परीक्षा केंद्रों में शामिल होंगे। इसके लिए भोपाल में एमवीएम कॉलेज में परीक्षा केंद्र बनाया गया है। परीक्षा केंद्र पर 45 मिनट पूर्व पहुंचना अनिवार्य है। इग्नू के क्षेत्रीय निदेशक अमित कुमार चतुर्वेदी ने बताया कि हॉल टिकट डाउनलोेड न हों तो आवेदन पत्र एवं प्रमाण पत्रों व एक पासपोर्ट साइज फोटो के साथ क्षेत्रीय केन्द्र अथवा परीक्षा केन्द्र पर सम्पर्क कर सकता है।

बच्चों की फिल्मों के लिए सरकार का कोई विजन नहीं

अभिनेता मुकेश खन्ना ने ‘चिल्ड्रन फिल्म सोसायटी’ से इस्तीफे के बाद सरकार और बोर्ड की मंशा पर उठाए सवाल, कहा-

80 प्रतिशत स्टूडेंट्स को मिलती है मनपसंद जॉब

राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के ट्रेनिंग एंड प्लेसमेंट ऑफिसर डॉ. अनिल कोठारी ने बताया, स्टार्टअप और आंत्रप्रेन्योरशिप अब यंगस्टर्स की च्वॉइस हैं, जिसमें गवर्नमेंट और अदर एजेंसीज से मिलने वाली फंडिंग उनकी मदद करती है। अभी भी कैंपस में करीब 50% यंगस्टर्स जॉब्स में जाना चाहते हैं। इनमें 80 प्रतिशत को बेहतर प्लेसमेंट में सफलता भी मिलती है।

राजेश गाबा | भोपाल

चर्चित टीवी सीरियल महाभारत में भीष्म पितामह और बच्चों के बीच शक्तिमान के रूप में प्रसिद्ध अभिनेता मुकेश खन्ना ने पिछले दिनों ‘चिल्ड्रन फिल्म सोसायटी’ के चीफ पद से इस्तीफा दे दिया। एक फिल्म की शूटिंग के सिलसिले में भोपाल पहुंचे मुकेश खन्ना न कहा कि ‘मैंने चिल्ड्रंस फिल्म सोसायटी से इस्तीफा इसलिए दिया क्योंकि वहां मेरी बात नहीं सुनी जा रही थी। बच्चों की फिल्मों के लिए केंद्र सरकार के पास बजट नहीं है। तीन साल के कार्यकाल में 8 फिल्में बनाईं। मकसद था इन फिल्मों को थियेटर में लगाना। काफी प्रयासों के बाद भी सफल नहीं हुआ तो इस्तीफा देना जरूरी समझा।

मेरी नहीं बच्चों की शिकायत थी कि उनके लिए फिल्में नहीं बनतीं- मुकेश खन्ना ने बताया कि ‘चिल्ड्रंस फिल्म सोसायटी’ में चेयरमैन के रूप में मेरा कार्यकाल तीन महीने बाद खत्म होने वाला था। मैंने सोचा कि तीन महीने के बाद मैं चुपचाप निकल जाऊं, इससे बेहतर मैं अपनी बात कहकर निकलूं। मेरी नहीं, बच्चों की शिकायत थी कि बच्चों के लिए फिल्में नहीं बनती। बच्चे घिसे-पिटे डायलॉग इतना छेद करूंगा...जैसे संवाद और सास बहू जैसे शो देखते हैं, जिससे उनको कुछ नहीं मिलेगा।

तीन साल के कार्यकाल में बच्चों के लिए 8 फिल्में बनाईं- बच्चों के लिए फिल्में बनाने के लिए मैंने कोशिश की थी। तीन साल के कार्यकाल में 8 फिल्में बनाई। मेरा मकसद था कि ये फिल्में थियेटर में लगें। मुझसे पहले 25 चेयरमैन आए। किसी ने नहीं सोचा था कि इसे थियेटर में भी रिलीज होना चाहिए। फिल्म फेस्टिवल में जाए, स्कूल में दिखाएं। लेकिन ऐसे में 100 प्रतिशत बच्चों तक नहीं पहुंचेगी बात। लेकिन तीन साल के आते-आते समझ में आया कि ये लोग सीरियस नहीं है। इस्तीफा देने का यह भी मुख्य कारण था।

चेयरमैन होकर भी कोई मिलने को तैयार नहीं था- मेरी एग्जीक्यूटिव काउंसिल एक साल से खत्म हो गई थी। मैं 25 स्क्रिप्ट फाइनल करके बैठा था उसे भी पास नहीं कर सकता। 4 फिल्मों को रिलीज करना चाहता हूं। एग्जीक्यूटिव बॉडी के बगैर मैं कुछ नहीं कर सकता। मुझे लगा, ये लोग नहीं चाहते बच्चों को लेकर कोई काम हो। तब मुझे लगा कि मैं बाहर रहकर ज्यादा बेहतर कर सकता हूं। चैयरमैन होकर भी कोई मिलने को तैयार नहीं। वहां न सेकेट्री सीरियस है न मिनिस्टर।

दो साल से उठाता रहा था अपनी मांग- मुकेश ने कहा, वह सोसायटी में इस मकसद से शामिल हुए थे कि बच्चों के लिए गुणवत्तापूर्ण फिल्मों का निर्माण किया जाएगा। जिन्हें सिनेमाघरों में दिखाया जा सकेगा। लेकिन ऐसी फिल्में बनाने के लिए कोष की कमी है। मैं ज्यादा आवंटन के लिए पिछले दो साल से जोर लगा रहा था, लेकिन सफलता नहीं मिली।

मोदी से मिलने की कोशिश भी नाकाम रही- इस्तीफा देने के 17 दिन बाद मुझे पता चला कि मेरा इस्तीफा स्वीकार कर लिया है। न मुझसे कारण पूछा, न कुछ कहा। स्मृति ईरानी से मिलने के लिए मैंने पत्र लिखे। चार महीने तक उनका कोई रिस्पॉन्स नहीं मिला। तब मैंने मोदी जी को पत्र लिखा। आश्चर्य की बात रही कि 4 महीने हो गए मोदी जी ने भी कोई रिस्पॉन्स नहीं दिया।

बच्चों की फिल्मों का वजूद खत्म करने पर तुली सरकार- मिनिस्ट्री में बड़ी गड़बड़ चल रही है। वे सीएफएसआई को फिल्म डिवीजन के साथ मर्ज करने वाले हैं। बच्चों के लिए प्रेरक फिल्में बनाने वाले इस चिल्ड्रन डिवीजन पर वह सीरियस नहीं है। सीएफएसआई बच्चों पर फिल्म बनाता है जबकि फिल्म डिविजन सरकारी कार्यक्रमों पर प्रोजेक्ट तैयार करता है। इसके मर्ज होने से बच्चों की फिल्मों का सरकार की ओर से वजूद खत्म हो जाएगा।

BHOPAL Sunday, 04/03/2018

25%

युवा स्टार्टअप इनीशिएटिव लेना चाहते हैं।

5 दिवसीय रंग त्रिवेणी नाट्य समारोह 7 से

सिटी रिपोर्टर | शहीद भवन में 7 मार्च से रंग त्रिवेणी नाट्य उत्सव-4 का आयोजन होगा। सघन सोसायटी एवं कल्चरल समूह के इस पांच दिवसीय नाट्य फेस्टिवल के पहले दिन नाटक तीसरा मंतर का मंचन होगा। इस नाटक का निर्देशन संजय उपाध्याय ने किया है। 8 मार्च को भीष्म साहनी की रचना पर आधारित और मनोज मिश्रा निर्देशित नाटक हानुश का मंचन होगा। 9 मार्च को नाटक डायन की प्रस्तुति होगी। 10 मार्च को नाटक बुद्धिमति की भैंस का मंचन होगा। वहीं समारोह के अंतिम दिन 11 मार्च को नाटक स्वप्नलोक का मंचन होगा। सभी प्रस्तुतियां शाम 7 बजे शुरू होंगी। इससे पहले पूर्वरंग में प्रतिदिन कहानियों का मंचन होगा।

कुछ ऐसी है स्टूडेंट्स च्वाॅइस

15 से 20%

युवा हायर एजुकेशन के लिए जाते हैं।

10 से 15%

युवा कॉम्पिटीटिव एग्जाम के लिए आगे बढ़ते हैं।

40 से 50%

स्टूडेंट्स जॉब प्लेसमेंट्स में बैठते हैं।

डिमॉन्स्ट्रेशन स्कूल में फूलों की होली आज

सिटी रिपोर्टर | डिमॉन्स्ट्रेशन मल्टीपरपज़ स्कूल के एक्स स्टूडेंट्स के ग्रुप डेमोलाइट द्वारा रविवार को होली सेलिब्रेशन का आयोजन स्कूल कैंपस में किया जाएगा। पूर्व एडीजी और डेमाेलाइट के अध्यक्ष अखिलेश कुमार सिंह और संस्थापक अध्यक्ष सतीश रायजादा ने बताया कि एक्स स्टूडेंट्स फूलों की होली खेलेंगे। इस मौके पर देशभर से होली पर आए एक्स स्टूडेंट्स इस मिलन समारोह में शामिल होंगे।

फगुआ गायन, कथक की प्रस्तुति आज

सिटी रिपोर्टर | मप्र जनजातीय संग्रहालय की उत्तराधिकार शृंखला में रविवार को फगुआ गायन और कथक नृत्य की समूह प्रस्तुति होगी। मप्र आदिवासी बोली विकास एवं अकादमी की ओर से आयोजित इस कार्यक्रम की शुरुआत बिहार के अखिलेश सिंह व्यास एवं उनके साथियों के फगुआ गीतों के गायन से होगी। कार्यक्रम की दूसरी प्रस्तुति कथक समूह नृत्य की होगी। जिसमें गुरु-शिष्य परंपरा के अंतर्गत अल्पना वाजपेयी के निर्देशन में उनके शिष्य कथक समूह नृत्य प्रस्तुत करेंगे। संग्रहालय में कार्यक्रम शाम 6.30 बजे शुरू होगा।

ज्यादातर युवा हायर एजुकेशन में जाते हैं

मौलाना आजाद नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (मैनिट) की प्लेसमेंट ऑफिसर डॉ. अरुणा सक्सेना ने बताया, करीब 75 प्रतिशत स्टूडेंट्स प्लेसमेंट ड्राइव में अपीयर होते हैं। 20 से 25 प्रतिशत स्टूडेंट्स हायर एजुकेशन और रिसर्च में जाने के लिए आगे बढ़ते हैं। पिछले साल करीब 60 से अधिक कंपनीज ने कैंपस विजिट किया था, इस साल यह आंकड़ा और बढ़ने की उम्मीद है।



तमन्ना भाटिया मुंबई एयरपोर्ट पर दिखाई दीं। उन्होंने पिंक फ्रॉक पर ...

26