--Advertisement--

गलती पर शिक्षक को दो बेंत जड़ी थीं आजाद ने

गलती पर शिक्षक को दो बेंत जड़ी थीं आजाद ने सिटी रिपोर्टर | भोपाल स्वराज संचालनालय की ओर से चंद्रशेखर आजाद के...

Danik Bhaskar | Mar 01, 2018, 02:20 AM IST
गलती पर शिक्षक को दो बेंत जड़ी थीं आजाद ने

सिटी रिपोर्टर | भोपाल

स्वराज संचालनालय की ओर से चंद्रशेखर आजाद के बलिदान दिवस के अवसर पर स्वराज वीथि में छायाचित्र प्रदर्शनी का आयोजन किया गया। प्रदर्शनी में चंद्र शेखर आजाद के बचपन से लेकर उनकी शहादत तक की यात्रा करीब 40 छायाचित्रों के माध्यम से दिखाई गई है। इनमें कुछ रोचक किस्से भी देखने को मिले, जिनमें सबसे खास था चंद्रशेखर आजाद के बचपन का किस्सा।

इन छायाचित्रों में दिखाया गया कि आजाद बचपन से ही अपराधी को दंड मिलना ही चाहिए, के सिद्धांत पर चलते थे। बचपन में शिक्षक मनोहरलाल त्रिवेदी द्वारा गलत शब्द बताने पर आजाद ने उन्हें छड़ी उठाकर दो बेंत जड़ दी थीं। इसी प्रकार भगवती चरण बेहरा से मिलकर असेम्बली बम कांड में कैद हुए भगतसिंह और बटुकेश्वर दत्त को छुड़वाने की योजना बनाना, काकोरी कांड, बिखरे हुए क्रांतिकारियों को एकजुट करना और अज्ञातवास के समय वेश बदलकर जनजागृति करने जैसे दृश्यों को यहां प्रदर्शित छाया चित्रों के माध्यम से देखा जा सकता है। यह प्रदर्शनी 1 फरवरी तक जारी रहेगी।

स्वराज वीथि में चंद्रशेखर आजाद पर केंद्रित छायाचित्र प्रदर्शनी