--Advertisement--

कोलार में मुख्य सड़क किनारे खुला नाला, कभी भी हो सकता है हादसा

कोलार रोड की मंदाकिनी कॉलाेनी चौराहा पर किसी भी वक्त बड़ा हादसा हो सकता है। दरअसल, यहां मुख्य सड़क किनारे नाले को...

Danik Bhaskar | Mar 02, 2018, 02:20 AM IST
कोलार रोड की मंदाकिनी कॉलाेनी चौराहा पर किसी भी वक्त बड़ा हादसा हो सकता है। दरअसल, यहां मुख्य सड़क किनारे नाले को खुला छोड़ दिया गया है। इसके ऊपर रखे गए लोहे के फ्रेम अव्यवस्थित होने से यहां हर वक्त हादसे की आशंका रहती है। आलम ऐसा है कि किसी भी दिन कोई वाहन इसमें गिर सकता है। यही नहीं, नाले के ऊपर पुलिया नहीं होने के कारण यहां सड़क भी सकरी हो गई है। ऐसे में यहां दिनभर ट्रैफिक जाम के हालात बनते हैं। लापरवाही का आलम यह है कि सीएम हेल्पलाइन पर शिकायत करने के बाद भी जिम्मेदारों ने कोई कार्रवाई नहीं की।

दरअसल, अर्निंग पॉइंट शॉपिंग कॉम्प्लेक्स के सामने सड़क के नीचे से नाला गुजरता है। इसी नाके को कवर करने के लिए करीब 10 साल पहले तत्कालीन कोलार नगर पालिका ने यहां लोहे का फ्रेम लगवाया था। लेकिन, वाहनों के वजन के कारण यह फ्रेम अब क्षतिग्रस्त हो चुका है। पिछले दिनों यहां नाली निर्माण के लिए की गई खुदाई के चलते इस फ्रेम को उठाकर रखवा दिया गया था। तब कई बार दुपहिया वाहन इसमें गिरते-गिरते बचे। चार पहिया वाहन भी इसमें झूल चुके हैं।

शिकायत की तो नाले पर रख दी टूटी फ्रेम

शिकायत भी बेअसर : करीब 15 दिन पहले यहां के दुकानदारों ने सीएम हेल्प लाइन में इसकी शिकायत की थी। इस पर नगर पालिका की टीम ने इन टूटे हुए फ्रेम को वापस नाले पर रख दिया है। लेकिन, इससे समस्या हल नहीं हुई है। हादसे का खतरा बरकरार है। फोटो | भास्कर

दिनभर में गुजरते हैं 20 हजार से ज्यादा वाहन

यातायात पुलिस के मुताबिक कोलार रोड पर पीक अवर्स में करीब तीन हजार वाहन हर घंटे में गुजरते हैं। शाम के वक्त यह संख्या बढ़कर चार हजार तक पहुंच जाती है। जबकि, दिन में वाहनों की संख्या एक हजार प्रति घंटे के आस-पास रहती है। यहां दिनभर में 20 हजार से अधिक वाहन गुजरते हैं। इन वाहनों में डेढ़ लाख से अधिक आबादी सफर करती है। अगर कोई वाहन इस गड्ढे में गिरा तो लोगों को जान तक गंवानी पड़ सकती है।