• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Bhopal News
  • News
  • पहले अटैंड की म्यूजिक की क्लास और फिर सुनाए पुराने सदाबहार फिल्मी नगमे
--Advertisement--

पहले अटैंड की म्यूजिक की क्लास और फिर सुनाए पुराने सदाबहार फिल्मी नगमे

नवांकुर सांस्कृतिक संस्था ने अपना पहला वार्षिकोत्सव राज्य संग्रहालय में मनाया। इस मौके पर 20 साल से लेकर 50 साल के...

Danik Bhaskar | Apr 02, 2018, 02:30 AM IST
नवांकुर सांस्कृतिक संस्था ने अपना पहला वार्षिकोत्सव राज्य संग्रहालय में मनाया। इस मौके पर 20 साल से लेकर 50 साल के शौकिया गायकों ने प्रस्तुतियां दीं। यह ऐसे गायक थे, जिन्होंने अपने काम के बीच रविवार को समय निकालकर गायन का प्रशिक्षण लिया और स्टेज परफॉर्मेंस देने के अपने सपने को पूरा किया। सदाबहार नगमों पर आधारित कार्यक्रम टाइमलैस मैलोडीज में गायन में गायकों ने लता मंगेशकर, आशा भोसले, मो. रफी, हेमंत दा, मुकेश और किशोर कुमार के गीत सुनाए। कार्यक्रम की शुरुआत गीत सत्यम शिवम सुंदरम... से हुई। इस गीत को पलछिन जोशी द्वारा कोरस संयोजन के साथ प्रस्तुत किया गया। गायक प्रवीण ने राह बनी खुद मंजिल..., हवा के साथ-साथ..., गीत मनीषा और वैभव ने सुनाया। ना जा अब कहीं ना जा..., गीत की प्रस्तुति प्रभात ने दी। मैं तो तुम संग..., गीत प्रभात ने सुनाया। इस तरह गायकों ने लगभग 23 गीतों की प्रस्तुति दी, जिसमें अनिरुद्ध, जयति, सोहेल, रुखसाना, अपर्णा, वैभव, डॉ. सविता, माधवी ने गीत सुनाए। कार्यक्रम में कोरस निर्देशक का कार्य प्रवीण जावनेकर ने संभाला। संगीत संयोजन रितुल-मुकेश का रहा। वादक कलाकारों में मुकेश कटारे, रितुल हजारिका, राजकुमार, सत्यम, निखिल यादव ने संगत दी।

फिल्मी गीतों की प्रस्तुति देते युवा गायक। कार्यक्रम में इन शौकिया गायकों ने 23 गानों की प्रस्तुतियां दीं।