--Advertisement--

डीबी स्टार

News - डीबी स्टार

Dainik Bhaskar

Mar 01, 2018, 04:20 AM IST
डीबी स्टार
डीबी स्टार
देश और प्रदेश के अपराधियों के फिंगर प्रिंट व फोटोग्राफ का डाटा कलेक्ट और शेयर करने के लिए पुलिस मुख्यालय ने ऑनलाइन फिंगर प्रिंट स्कैनिंग की व्यवस्था की थी। इसके पीछे उद्देश्य था कि किसी भी अपराधी को पकड़ने के बाद उसके फिंगर प्रिंट व फोटोग्राफ ऑनलाइन अपलोड कर दिया जाए। ऐसे में भविष्य वह अपराधी किसी भी क्राइम में शामिल हुआ, तो फिंगर प्रिंट के आधार पर उसे पकड़ा जा सके। इसके लिए ग्वालियर जिले में छह वर्ष पहले 25 लाइव फिंगर प्रिंट स्कैनर भेजे गए थे, लेकिन थानों में लगे पुराने कंप्यूटर्स से कनेक्ट न होने और सॉफ्टवेयर सपोर्ट न मिलने के कारण इनका उपयोग नहीं हो पाया।

इसके बाद पुलिस मुख्यालय ने ऐसे सभी स्कैनर वापस मंगा लिए। वर्ष 2015 में क्राइम एंड क्रिमिनल ट्रैकिंग नेटवर्क एंड सिस्टम्स लागू करने के लिए नए कंप्यूटर्स भेजे गए थे, साथ ही 12 थानों में नए स्कैनर भी भेजे गए। इन स्कैनर से सालभर काम चला और एक हजार अपराधियों का डाटाबेस भी तैयार हुआ, लेकिन एक साल बाद सॉफ्टवेयर का लाइसेंस एक्सपायर होने के कारण ये स्कैनर बेकार हो गए और उनमें कैद अपराधियों का डाटा ऑनलाइन अपलोड ही नहीं हो पाया। अब ये स्कैनर थानों में इसी तरह से बेकार पड़े हुए हैं और इनका उपयोग भी नहीं हो पा रहा है।

X
डीबी स्टार
Bhaskar Whatsapp

Recommended

Click to listen..