Hindi News »Madhya Pradesh »Bhopal »News» केन्द्र की मंजूरी में अटकी चयनित उम्मीदवारों की नियुक्ति

केन्द्र की मंजूरी में अटकी चयनित उम्मीदवारों की नियुक्ति

डीबी स्टार

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 01, 2018, 04:20 AM IST

केन्द्र की मंजूरी में अटकी चयनित उम्मीदवारों की नियुक्ति
डीबी स्टार भोपाल/ ग्वालियर

प्रोफेशनल एक्जामिनेशन बोर्ड ने पिछले साल 25 से 31 मार्च के बीच महिला बाल विकास विभाग में सुपरवाइजर्स के 741 पदों के लिए परीक्षा ली थी। 23 सितंबर 2017 को इसका परिणाम जारी किया गया। नियमों के मुताबिक 90 दिनों के भीतर चयनित उम्मीदवारों की नियुक्ति होना थी जो अब तक नहीं हो पाई है। डीबी स्टार ने पड़ताल की तो पता चला कि विभाग ने परीक्षा करवाने से पहले केन्द्र की अनुमति नहीं ली है। इसी के चलते वित्त विभाग ने दो दिन पहले ही मंजूरी की फाइल महिला एवं बाल विकास विभाग को लौटा दी है।

पांच महीने से इंतजार, 90 दिन में होना थी नियुक्ति

सामान्य प्रशासन विभाग का नियम है कि किसी भी विभाग की भर्ती में उम्मीदवारों की चयन सूची जारी होने के 90 दिन के भीतर उन्हें नियुक्ति देना अनिवार्य है। इसके बावजूद महिला एवं बाल विकास विभाग में सुपरवाइजर्स के पदों पर चयनित उम्मीदवार पिछले पांच महीने से नियुक्ति के लिए विभाग के चक्कर काट रहे हैं। उन्हें हर बार वित्तीय स्वीकृत नहीं मिलने का कहकर लौटा दिया जाता है।

महिला एवं बाल विकास विभाग में सुपरवाइजरों की भर्ती का मामला

सालभर से ज्वाइनिंग के लिए दफ्तरों के चक्कर काट रहे हैं अभ्यर्थी

योजनाओं की निगरानी करने होना है भर्ती

अनुमति नहीं ली, फाइल लौटाई

 महिला एवं बाल विकास विभाग में सुपरवाइजर्स की नियुक्ति के लिए वित्तीय स्वीकृति की फाइल हमारे पास आई है। इन पदों पर परीक्षा से पहले केन्द्र की अनुमति ली जानी थी, जो नहीं ली गई है। हमने अनुमति की फाइल विभाग को लौटा दी है। जब तक केन्द्र की मंजूरी नहीं मिलेगी तब तक इन पदों के लिए वित्तीय अनुमति नहीं दी जा सकती है। अक्षय उपाध्याय, लेखापाल वित्त विभाग

चयनित उम्मीदवारों को नियुक्ति के बाद महिला एवं बाल विकास योजनाओं की मॉनीटरिंग करना है। इन योजनाओं के बारे में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षण देने का काम भी इन्हीं से लिया जाना है। इसके अलावा आंगनबाड़ी समय पर खुलवाने का काम भी इन्हीं के हवाले होगा। कुपोषित बच्चों की जानकारी एकत्रित करने के साथ ही बच्चों को पोषण आहार बांटने का काम भी सुपरवाइजरों की देखरेख में होना है। कुल मिलाकर यह सुपरवाइजर अधिकारियों और आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के बीच सेतु की तरह काम करेंगी।

नियुक्ति कब देंगे पता नहीं

 महिला एवं बाल विकास विभाग ने बगैर आवश्यक अनुमतियों के हमारी परीक्षा ले ली। हमारा चयन होने के बाद जब नियुक्ति में देरी हुई तो हमने विभाग में संपर्क किया। लंबे समय तक हमसे कहा गया कि वित्त विभाग की अनुमति नहीं मिलने से देरी हो रही है। पिछले पांच महीने से हमें नियुक्ति के लिए परेशान किया जा रहा है। स्नेहा आठिया, सीमा रायकवार, ज्योति कौशिक प्रीति सोनी, सभी चयनित उम्मीदवार

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Bhopal News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: केन्द्र की मंजूरी में अटकी चयनित उम्मीदवारों की नियुक्ति
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×