Hindi News »Madhya Pradesh »Bhopal »News» अब आंसरशीट पर टिक लगाने के साथ ही लिखना होंगे 20% प्रश्नों के उत्तर भी

अब आंसरशीट पर टिक लगाने के साथ ही लिखना होंगे 20% प्रश्नों के उत्तर भी

राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय (आरजीपीवी) द्वारा इंजीनियरिंग छात्रों के लिए आयोजित की जाने वाले ऑनलाइन...

Bhaskar News Network | Last Modified - Mar 04, 2018, 07:20 AM IST

अब आंसरशीट पर टिक लगाने के साथ ही लिखना होंगे 20% प्रश्नों के उत्तर भी
राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय (आरजीपीवी) द्वारा इंजीनियरिंग छात्रों के लिए आयोजित की जाने वाले ऑनलाइन थ्योरी पेपर में इस बार बहु वैकल्पिक प्रश्नाें के साथ सब्जेक्टिव प्रश्न भी आएंगे। छात्रों को 150, 250 और 500 शब्दों के आंसर स्क्रीन पर ही लिखने होंगे। इससे ज्यादा एक भी शब्द अतिरिक्त लिखने की सुविधा नहीं होगी। छात्रों को पूछे गए सवाल का उत्तर उतने ही शब्दों में लिखना होगा जितने की सुविधा स्क्रीन पर रहेगी। इस नई व्यवस्था से छात्र सवालों के उत्तर में गैर जरूरी बातें नहीं लिख पाएंगे।

विश्वविद्यालय ऑनलाइन थ्योरी पेपर में यह व्यवस्था अप्रैल-मई मे होने वाली सेमेस्टर परीक्षा से ही लागू करने जा रहा है। पिछले साल दिसंबर में आयोजित अॉनलाइन परीक्षा में विवि ने केवल ऑब्जेक्टिव प्रश्न ही पूछे थे। आरजीपीवी थ्योरी पेपर की परीक्षा ऑनलाइन माध्यम से कराने की तैयारी कर रहा है। पायलट प्रोजेक्ट के रूप में यूआईटी में चल रहे कंप्यूटर साइंस, पेट्रोकेमिकल और मैकेनिकल इंजीनियरिंग ब्रांच को लिया गया था। पहली बार हुई ऑनलाइन थ्योरी परीक्षा को लेकर छात्रों का रुझान काफी अच्छा रहा है। छात्रों को पेपर खत्म होते ही तत्काल उनका रिजल्ट पता चल गया था।







इसके अगले चरण में विवि इलेक्ट्रिकल, इलेक्ट्रानिक्स, सिविल ब्रांच को भी जोड़ने जा रहा है।

80% सवाल वैकल्पिक, 20% रहेंगे सब्जेक्टिव

विवि के ऑटोमेशन कोआर्डिनेटर डॉ. मोहन सेन के अनुसार थ्योरी पेपर को दो हिस्सों में बांटा जाएगा। बहु वैकल्पिक प्रश्न 80 फीसदी और सब्जेक्टिव प्रश्न 20 फीसदी पूछे जाएंगे। पेपर के 80 फीसदी हिस्से में रीजनिंग और न्यूमेरिकल के भी सवाल होंगे। सब्जेक्टिव वाले हिस्से में छात्रों को प्रश्नों के जवाब लिखकर देंगे होंगे। इसके लिए शब्द सीमा तय रहेगी। न्यूमेरिक प्रश्न हल करने के लिए छात्रों को अलग से की-पैड की व्यवस्था कराई जाएगी।

सब्जेक्टिव प्रश्नों का होगा डिजिटल वैल्यूएशन

विवि प्रबंधन के मुताबिक ऑनलाइन पेपर के तहत छात्रों के पेपर सबमिट करते ही पूर्व की तरह वैकल्पिक प्रश्नों का रिजल्ट तुरंत ही मिल जाएगा। लेकिन सब्जेक्टिव प्रश्नों का रिजल्ट देर शाम छात्रों को मिल सकेगा। विवि सब्जेक्टिव प्रश्नों के उत्तरों का वैल्यूएशन कराने के लिए इन्हें वैल्यूअर के लाॅग इन आईडी पर भेजेगा। वैल्यूअर इसे ऑनलाइन ही चैक कर वापस विवि को भेज देगा। इस पायलट प्रोजेक्ट की सफलता के बाद विवि इस ऑनलाइन परीक्षा सिस्टम को सभी संबद्ध कॉलेजों में लागू करेगा।

सीसीटीवी कैमरों की निगरानी में होंगी विवि की परीक्षाएं

भोपाल | बरकतउल्ला सहित प्रदेश के अन्य सभी विश्वविद्यालयों की परीक्षाएं अब सीसीटीवी कैमरों की निगरानी में होंगी। पीएचडी की मौखिक परीक्षा की भी ऑडियो और वीडियो रिकाॅर्डिंग होंगी। उच्च शिक्षा विभाग ने सभी विश्वविद्यालयों को इस साल होने वाली परीक्षाओं के केंद्रों पर सीसीटीवी कैमरे लगाने के निर्देश दिए हैं। पिछले महीने राज्यपाल की अध्यक्षता में हुई बैठक में इस पर सहमति बनी है।

आरजीपीवी की परीक्षाएं एक साल से सीसीटीवी कैमरों की निगरानी में हो रही हैं। लेकिन बीयू सहित अन्य पारंपरिक विश्वविद्यालयों से संबद्ध कॉलेजों में बने परीक्षा केंद्रों में से ज्यादातर में यह सुविधा नहीं है। सरकारी कॉलेजों में कैमरे तक नहीं लगे हैं। परीक्षा केंद्रों पर कैमरों को अनिवार्य करने के निर्णय के पीछे मुख्य कारण नकल प्रकरणाें पर रोक लगाना बताया जा रहा है। वहीं पीएचडी के वायवा की भी ऑडियो-वीडियो रिकाॅर्डिंग कराने का निर्णय लिया गया है। अधिकारियों के अनुसार पीएचडी वायवा के दौरान कमेटी ने क्या सवाल किए और स्कॉलर ने उनके क्या जवाब दिए, इसका रिकाॅर्ड रखना अनिवार्य किया जा रहा है ताकि पूरी प्रक्रिया में पारदर्शिता बनी रहे।

दैनिक भास्कर पर Hindi News पढ़िए और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट | अब पाइए Bhopal News in Hindi सबसे पहले दैनिक भास्कर पर | Hindi Samachar अपने मोबाइल पर पढ़ने के लिए डाउनलोड करें Hindi News App, या फिर 2G नेटवर्क के लिए हमारा Dainik Bhaskar Lite App.
Web Title: अब आंसरशीट पर टिक लगाने के साथ ही लिखना होंगे 20% प्रश्नों के उत्तर भी
(News in Hindi from Dainik Bhaskar)

More From News

    Trending

    Live Hindi News

    0

    कुछ ख़बरें रच देती हैं इतिहास। ऐसी खबरों को सबसे पहले जानने के लिए
    Allow पर क्लिक करें।

    ×