• Home
  • Madhya Pradesh News
  • Bhopal News
  • News
  • उपचुनाव में प्रत्याशी चयन में ध्यान देना था, हार पार्टी के लिए चिंतन का विषय
--Advertisement--

उपचुनाव में प्रत्याशी चयन में ध्यान देना था, हार पार्टी के लिए चिंतन का विषय

कोलारस और मुंगावली विधानसभा उपचुनाव में भाजपा की हार के बाद पार्टी के वरिष्ठ नेता व पूर्व सांसद पार्टी नेता...

Danik Bhaskar | Mar 04, 2018, 07:20 AM IST
कोलारस और मुंगावली विधानसभा उपचुनाव में भाजपा की हार के बाद पार्टी के वरिष्ठ नेता व पूर्व सांसद पार्टी नेता रघुनंदन शर्मा ने कहा कि उप चुनाव में प्रत्याशी चयन पर ध्यान देना चाहिए था। पराक्रमी व समर्पित कार्यकर्ताओं की फौज के बावजूद एेसी हार निश्चित तौर पर संगठन और सरकार के लिए चिंतन का विषय है। शर्मा ने मीडिया से चर्चा में कहा कि मप्र में भाजपा की जड़ें गहरी हैं। पराक्रमी कार्यकर्ताओं के कारण पार्टी आज इस मुकाम तक पहुंची है। ऐसे कार्यकर्ता आज भी मौजूद हैं। इसके बावजूद पार्टी की इस तरह पराजय चिंतन का विषय है।

पूर्व सांसद ने कहा कि मैं मानता हूं कि यह पार्टी की नहीं, कहीं न कहीं व्यक्ति की हार है। जब इस संबंध में और स्पष्ट किए जाने के अनुरोध किया तो उन्होंने कहा कि कोई भी व्यक्ति इसका मतलब निकालने के लिए स्वतंत्र है, लेकिन इतना तय है कि प्रत्याशी चयन में और अधिक ध्यान दिया जाना चाहिए। स्थानीय कार्यकर्ताओं की भावनाओं को भी ध्यान में रखना चाहिए। उपचुनावों के संबंध में उन्होंने दोहराया कि कहीं न कहीं तो त्रुटि हुई है, इसलिए इसका चिंतन संगठन और सरकार दोनों को ही करना चाहिए। मौजूदा दौर में भाजपा पूर्वोत्तर के राज्यों में भी शानदार प्रदर्शन कर रही है। इन स्थितियों में मप्र जैसे भाजपा के गढ़ में छोटे-छोटे चुनावों में पार्टी की हार को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है। शर्मा से पहले पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल गौर ने उप चुनाव में हुई हार पर सवाल खड़े किए थे।